Top
राष्ट्रीय

80 हजार में बहू का सौदा करने वाले ने बेची 300 से ज्यादा महिलाएं, बाराबंकी में ह्यूमैन ट्रैफिकिंग का सनसनीखेज मामला

Janjwar Desk
7 Jun 2021 7:08 AM GMT
80 हजार में बहू का सौदा करने वाले ने बेची 300 से ज्यादा महिलाएं, बाराबंकी में ह्यूमैन ट्रैफिकिंग का सनसनीखेज मामला
x

यूपी के बाराबंकी में मानव तस्करी का सबसे सनसनीखेज मामला सामने आया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

5 जून की रात तकरीबन 12 बजे एक युवक ने पुलिस को फोन कर बताया कि उसकी पत्नी को उसके पिता ने गुजरात में रहने वाले लोगों के हाथ 80 हजार में बेच दिया है, जिसके बाद पूरा जाल बिछाकर इन सभी को दबोच लिया गया...

जनज्वार, लखनऊ। उत्तर प्रदेश के बाराबंकी से मानव तस्करी का हैरतअंगेज मामला सामने आया है। पूरा मामला तब खुला जब एक शख्स ने अपनी बहू तक का सौदा 80,000 रुपये में कर दिया। पुलिस के मुताबिक यह शख्स शादी के लिए अब तक 300 से अधिक लड़कियों की खरीद फरोख्त कर चुका है।

इस जघन्य अपराध में गुजरात से डील फाइनल करने आए 8 लोग भी गिरफ्तार किए गए हैं। यह आरोपी की बहु का सौदा कर 80 हजार रूपयों का भुगतान कर सौदा लेने आए थे। पुलिस ने इन 8 गुजरातियों के खिलाफ मानव तस्करी की धारा में मुकदमा दर्ज किया है। साथ ही युवती को उसके पति के सुपुर्द कर दिया गया है।

मामले में एएसपी नॉर्थ अवधेश सिंह का कहना है कि शनिवार 5 जून की रात तकरीबन 12 बजे एक युवक ने पुलिस को फोन कर बताया कि उसकी पत्नी को उसके पिता ने गुजरात में रहने वाले लोगों के हाथ 80 हजार रूपयों में बेच दिया है। जिसके बाद पूरा जाल बिछाकर इन सभी को दबोच लिया गया है।

पीड़िता के पति की सूचना पर पुलिस बाराबंकी रेलवे स्टेशन पर पहुंची और युवती को बरामद कर उसे खरीद कर ले जा रहे 8 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। अहमदाबाद के थाना उमेड़ा के आडेव आदिनाथ नगर के साहिल पंचा, पप्पू भाई शर्मा, अपूर्व पंचा, गीता बेन, नीता बेन, शिल्पा बेन, राकेश व अजय भाई पंचा को गिरफ्तार कर लिया।

यह पूरा मामला रामनगर थाना क्षेत्र के ग्राम मल्लापुर का है। यहां रहने वाले चन्द्रराम वर्मा का 19 वर्षीय बेटा प्रिंस वर्मा गाजियाबाद में टैक्सी चलाता है। 5 साल पहले 2016 में एक ऐप के जरिए उसकी बातचीत असम की एक लड़की से शुरू हुई थी। 3 साल बाद दोनों ने लखनऊ के एक मंदिर में जाकर शादी रचा ली। जिसके बाद वह पत्नी को लेकर गाजियाबाद चला गया।

पुलिस की पूछताछ में सामने आया है कि इसी गांव में रहने वाला रामू गौतम लॉकडाउन में गुजरात के अहमदाबाद से घर आया तो प्रिंस के पिता चन्द्र राम वर्मा से अहमदाबाद के साथी साहिल पंचा के बारे में बताया कि उसकी शादी नहीं हो रही है अगर शादी हो जाए तो मोटी रकम मिल सकती है। जिसपर चन्द्र राम वर्मा ने अपनी बहू को बेचने की बात कही। जिसके बाद ससुर ने साजिश के तहत झूठ बोलकर बहू को बाराबंकी बुला लिया।

ससुर के कहने पर बहू मल्लापुर आ गई। फिर पिता ने 60 हजार खुद रख लिया और 20 हजार रूपये बेटे के बैंक खाते में डलवा दिए। इस बीच युवती का पति 5 जून को आ गया। बेटे को झांसा देकर युवती के ससुर ने गुजरात से आए लोगों के हाथ यह कहकर भिजवा दिया कि यह तुमको गाजियाबाद के कमरे पर छोड़ देंगे।

8 गुजराती खरीददारों को अरेस्ट कर लिया है, साथ ही युवती को बेचने वाले ससुर व बिचौलिया रामू गौतम की तलाश की जा रही है। युवती के पति ने बताया कि उसके पिता हत्या के एक मामले में आरोपी हैं, मुकदमा चल रहा है। युवक का कहना है कि उसके पिता ने मां को पीटकर मार डाला था। बहन से भी बदनीयती की थी। युवक के पिता अब तक बिहार और पूर्वांचल की 300 युवतियों को खरीदकर बेच चुका है।

Next Story

विविध

Share it