Top
उत्तर प्रदेश

विकास दुबे की तरह गैंगस्टर को लाते वक्त फिर पलटी UP पुलिस की गाड़ी, कुख्यात की मौके पर मौत, पुलिसवाले सलामत

Janjwar Desk
28 Sep 2020 3:57 AM GMT
विकास दुबे की तरह गैंगस्टर को लाते वक्त फिर पलटी UP पुलिस की गाड़ी, कुख्यात की मौके पर मौत, पुलिसवाले सलामत
x

गैंगस्टर को लाते हुए इनोवा गाड़ी का हाल एक्सीडेंट के बाद, अपराधी की मौत

कार में सवार बाकी पुलिस वाले आंशिक रूप से घायल हैं सिर्फ एक का हाथ टूटा है, मगर गैंगस्टर की हो गयी मौत और कार के उड़े परखच्चे....

जनज्वार, लखनऊ। उत्तर प्रदेश में एक बार फिर यूपी पुलिस की गाड़ी पलट गई, जिसमें सवार एक कुख्यात गैंगस्टर की मौत हो गयी है। यूपी पुलिस उसे मुंबई से गिरफ्तार कर सड़क मार्ग से ला रही थी। कार में सवार बाकी पुलिस वाले आंशिक रूप से घायल हैं। हादसे में खास बात ये है कि पुलिस इस कुख्यात को मुंबई से एमपी के रास्ते होते हुए युपी ला रही थी।

कुख्यात गैंगस्टर फिरोज अली की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई। हादसा कल 27 सितंबर को मध्य प्रदेश के बैतूल जिले में उस समय हुआ, जब लखनऊ पुलिस उसे अपने साथ इनोवा कार से ला रही थी। पुलिस का कहना है कि बैतूल में सड़क से गुजर रही यूपी पुलिस की गाड़ी अचानक एक नीलगाय से टकरा गई, जिसकी वजह से यह हादसा हुआ। जैसा पुलिस बता रही। दुर्घटना में पुलिस की गाड़ी के परखच्चे उड़ गए। हादसे में गैंगस्टर फिरोज की मौके पर ही मौत हो गई, वहीं यूपी पुलिस के एक सिपाही का सिर्फ एक हाथ टूटा।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि फिरोज को मुंबई से लाया जा रहा था। उसके खिलाफ कोर्ट ने गिरफ्तारी वारंट जारी किया थाए जिसके आधार पर पुलिस उसे इनोवा कार से लखनऊ लेकर आ रही थी। ग्वालियर गुना हाईवे पर बैतूल में अचानक एक नीलगाय सड़क से गुजरी, जिससे लखनऊ पुलिस की कार के ड्राइवर का संतुलन बिगड़ गया। सड़क दुर्घटना में गैंगस्टर फिरोज की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि लखनऊ के सबइंस्पेक्टर जगदीश प्रसाद और सिपाही संजीव जख्मी हो गए।

गैंगस्टर फिरोज पर लूट, चोरी के छह मुकदमे थे। कोर्ट ने फिरोज के लिए गिरफ्तारी वारंट जारी किया था, जिसके बाद पुलिस ने उसे मुंबई से गिरफ्तार किया और आज लखनऊ ला रही थी।

गौरतलब है कि कुछ महीने पहले यूपी के गैंगस्टर विकास दुबे को भी एमपी से लाते वक्त यूपी पुलिस की गाड़ी के साथ दुर्घटना हो गई थी। इस घटना के बाद अपराधियों में पुलिस की गाड़ी को लेकर भय व्याप्त हो गया था। इसी भय के चलते कईयों ने कोर्ट में सरेण्डर किया तो कुछ गिरफ्तारी के बाद पुलिस की गाड़ी में बैठना नहीं चाहते। यहां तक कि एक बाहुबली विधायक विजय मिश्रा ने तक गिरफ्तारी से पहले कहा था कि यूपी पुलिस के साथ वह गाड़ी में नहीं जाना चाहते, योगी आदित्यनाथ यूपी पुलिस ने उनका एनकाउंटर करवा देंगे।

यूपी की निषाद पार्टी के विधायक विजय मिश्रा को मध्यप्रदेश के मालवा जिले से 14 अगस्त को गिरफ्तार कर लिया गया था। एमपी की पुलिस उन्हें 15 अगस्त को यूपी के लिए लेकर रवाना हुई थी। विजय मिश्र लगातार अपनी हत्या किये जाने की बात कर रहे थे। इसी बात को लेकर उनके द्वारा सोशल मीडिया में कई वीडियो भी वायरल हुए थे।

Next Story

विविध

Share it