Top
उत्तर प्रदेश

यूपी के आगरा में हुआ भीषण सड़क हादसा, पलक झपकते ही बुझ गईं 9 जिंदगियां

Janjwar Desk
11 March 2021 12:59 PM GMT
यूपी के आगरा में हुआ भीषण सड़क हादसा, पलक झपकते ही बुझ गईं 9 जिंदगियां
x
हादसे के बाद कंटनेर में सवार चालक सहित 10-12 लोग कूदकर भाग गए, जबकि स्कॉर्पियो में सवार लोगों को संभलने तक का मौका नहीं मिला, पुलिस ने आठ मृतकों के शवों को बाहर निकालकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा....

जनज्वार, आगरा। आज गुरुवार 11 मार्च की सुबह कानपुर-दिल्ली हाईवे आगरा पर हुए सड़क हादसा देखते ही देखते 9 लोगों की जिंदगी लील गया। हादसा इतना भीषण था कि स्कोर्पियो कार में फंसे शवों को एक घंटे की मशक्कत के बाद निकाला जा सका। घटनास्थल पर खौफनाक मंजर देखकर स्थानीय लोग सहम गए। हादसे की वजह कार चालक को नींद की झपकी आना और तेज रफ्तार बताई जा रही है। हादसे में बिहार और झारखंड के रहने वाले नौ लोगों की मौत होने के अलावा तीन लोग गंभीर घायल हैं।

आगरा के थाना एत्मादपुर क्षेत्र में कानपुर-दिल्ली नेशनल हाईवे पर मंडी समिति के सामने अनियंत्रित हुई स्कॉर्पियो गाड़ी दूसरी दिशा में जाकर कंटेनर से टकरा गई। हादसे के बाद गाड़ी के परखच्चे उड़ गए। कंटेनर भी सर्विस रोड पर लटक गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने लोगों की मदद से गाड़ी में फंसे लोगों को निकलवाया। इनमें से आठ लोगों की मौत मौके पर ही हो गई। एक ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। तीन घायलों का उपचार चल रहा है। मरने वाले सात लोग बिहार के और दो लोग झारखंड के रहने वाले थे।

प्रत्यक्षदर्शियों ने पुलिस को बताया कि हादसे के बाद कंटनेर में सवार चालक सहित 10-12 लोग कूदकर भाग गए, जबकि स्कॉर्पियो में सवार लोगों को संभलने तक का मौका नहीं मिला। सूचना पर थाना एत्माद्दौला पुलिस पहुंची। बाद में एडीजी राजीव कृष्ण, एसएसपी बबलू कुमार और एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद पहुंच गए। पुलिस ने आठ मृतकों के शवों को बाहर निकालकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

घायलों को एसएन मेडिकल कॉलेज भेजा गया। इनमें एक घायल की इलाज के दौरान मौत हो गई। एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद ने बताया कि हादसा स्कार्पियो के गलत दिशा में आने पर कंटेनर की टक्कर से हुआ। इसमें नौ लोगों की मौत हो गई। मृतकों और घायलों के परिजनों को सूचना दे दी गई है। हादसा स्कार्पियो के चालक को झपकी आने की वजह से होना माना जा रहा है।

घटनास्थल पर प्रत्यक्षदर्शी रहे बिटटू और लकी ने बताया कि हादसे के बाद सबसे पहले वह मौके पर पहुंच गए थे। स्कार्पियों में सवार एक व्यक्ति ही बोल रहा था। उसने बताया कि वह गया जिले से आया है। इसके बाद वह बेहोश हो गया। उसे बाहर निकाला। इसके बाद अन्य लोगों को भी निकालने का प्रयास किया।

15 मिनट बाद पुलिस आ गई। कार चालक की सीट पर अन्य लोग फंसे हुए थे। पुलिस ने आठ शवों को बाहर निकाला। चार घायल अस्पताल भेजे। घटना के बाद जाम भी लग गया। इस कारण वाहनों को सर्विस रोड पर डायवर्ट किया गया। दो घंटे बाद कंटेनर और कार को हटाने पर ही यातायात सामान्य हो सका।

Next Story

विविध

Share it