Top
उत्तर प्रदेश

बिहार जा रही स्वतंत्रता संग्राम सेनानी ट्रेन की पैंट्री कार में मिला नोटों से भरा बैग, पंचायत चुनाव में खपाने का अंदेशा

Janjwar Desk
17 Feb 2021 8:20 AM GMT
बिहार जा रही स्वतंत्रता संग्राम सेनानी ट्रेन की पैंट्री कार में मिला नोटों से भरा बैग, पंचायत चुनाव में खपाने का अंदेशा
x
रेलवे पुलिस ने इनकम टैक्स विभाग के अधिकारियों को सूचना दे दी है। बैग अभी जीआरपी की कस्टडी में है। ट्रेन सोमवार 15 फरवरी की देर रात 2 बजकर 51 मिनट पर कानपुर सेंट्रल पहुंची थीं।

जनज्वार ब्यूरो/कानपुर। नई दिल्ली से बिहार जा रही स्वतंत्रता संग्राम सेनानी एक्सप्रेस ट्रेन नम्बर 02562 की पैंट्री कार में सोमवार 15 फरवरी की देर रात नोटों से भरा बैग मिला। इस बैग में 2 हजार और 5 सौ के नोटों की गड्डियां मिली हैं। नोटों की गिनती तो नहीं हो सकी लेकिन अनुमान है कि नोट एक करोड़ से ज्यादा की रकम के हैं।

जीआरपी पुलिस को आशंका है कि ये रुपये पंचायत चुनाव में खर्च के लिए लाए जा रहे थे। हवाला के भी रुपये होने से इनकार नहीं किया जा सकता। रेलवे पुलिस ने इनकम टैक्स विभाग के अधिकारियों को सूचना दे दी है। बैग अभी जीआरपी की कस्टडी में है। ट्रेन सोमवार 15 फरवरी की देर रात 2 बजकर 51 मिनट पर कानपुर सेंट्रल पहुंची थीं। रेलवे के अफसरों को पैंट्री कार के कर्मचारियों व स्टाफ ने सूचना दी कि काफी देर से एक बैग ट्रेन में रखा है।

सूचना पर आरपीएफ और जीआरपी ने बैग बरामद किया। ट्रेन देर रात 3:10 बजे रवाना हो गई। मंगलवार को दिन भर नोटों से भरे बैग मिलने की जानकारी जीआरपी-आरपीएफ ने छिपाए रखी। मंगलवार 16 फरवरी की रात उत्तर मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी अजीत कुमार सिंह ने इस घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि नोटों से भरा बैग मिला है। नोट गिने नहीं गए हैं लेकिन अंदाजा है कि ये एक करोड़ से अधिक हैं।

वहीं जीआरपी इंस्पेक्टर राम मोहन राय ने बताया कि गड्डी को देखते हुए 1करोड़ 40 लाख रुपये होने का अनुमान है। आयकर विभाग को सूचित किया गया है। बुधवार को बैग को आयकर विभाग के सुपुर्द किया जाएगा। सभी सीटें आरक्षित हैं, लिहाजा जनरल श्रेणी में भी चलने वाले यात्रियों को रिकॉर्ड है। किसी ने भी नोटों से भरे बैग पर दावा नहीं किया है।

हालांकि पैंट्री कार से बैग का मिलना सवाल भी खड़े करता है। पंचायत चुनाव करीब हैं और दिल्ली से यह नोटों से भरा बैग आ रहा था। इस पर भी लोग सशंकित हैं। चुनाव के पहले वाहनों में कैश बरामद होने की घटनाएं सामने आती रही हैं लेकिन ट्रेन में नोटों से भरा बैग मिलना सवाल खड़े करता है। इसमें किसी स्टाफ की भूमिका है या नहीं। इस बात की जांच भी होगी।

Next Story

विविध

Share it