राष्ट्रीय

रामपुर में थप्पड़बाज डॉक्टर की संदिग्ध परिस्थितियों में मिली लाश, कुछ दिन पहले बताया था जान को खतरा

Janjwar Desk
12 May 2021 12:20 PM GMT
रामपुर में थप्पड़बाज डॉक्टर की संदिग्ध परिस्थितियों में मिली लाश, कुछ दिन पहले बताया था जान को खतरा
x

photo - social media

बता दें कि कुछ दिन पहले ही डॉक्टर बीएम नागर ने अपनी जान को खतरा बताया था। दो हफ्ते पहले जिला अस्पताल में डॉक्टर बीएम नागर और एक नर्स में कहासुनी हुई थी। इस दौरान नर्स ने डॉक्टर को फिर डॉक्टर ने नर्स को थप्पड़ मारा था...

जनज्वार, रामपुर। उत्तर प्रदेश के रामपुर में डॉक्टर बीएम नागर का शव संदिग्ध हालात में मिला है। बीएम नागर वही डॉक्टर हैं, जिनका एक वीडियो वायरल हुआ था। वायरल वीडियो में एक नर्स पहले इनको थप्पड़ मारती है, बाद में वह भी नर्स को थप्पड़ मारते हैं। वीडियो के वायरल होने के बाद डीएम ने डॉक्टर सेवा समाप्त कर दी थी, लेकिन बाद में फिर उनकी तैनाती दे दी गई थी।

डॉक्टर बीएम नागर का शव उनके सरकारी आवास पर मिलने से हड़कंप मच गया। मौके पर स्वास्थ्य विभाग के आला अफसर पहुंचे जिसके बाद सीएमएस ने डॉक्टर का शव प्राइवेट एंबुलेंस से उनके पैतृक गांव भिजवाने की कोशिश की, लेकिन तभी पुलिस आ गई और शव को सरकारी आवास पर ही रखवाया गया। बाद में डॉक्टर बीएम नागर के परिजन मौके पर पहुंच गए और एसपी को लिखित में दिया कि हम शव का पोस्टमार्टम नहीं कराना चाहते हैं। इसके बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया।

वहीं बिना पोस्टमार्टम कराए ही शव को सौंपे जाने पर सवाल खड़ा हो गया है। बता दें कि कुछ दिन पहले ही डॉक्टर बीएम नागर ने अपनी जान को खतरा बताया था। दो हफ्ते पहले जिला अस्पताल में डॉक्टर बीएम नागर और एक नर्स में कहासुनी हुई थी। इस दौरान नर्स ने डॉक्टर को फिर डॉक्टर ने नर्स को थप्पड़ मारा था। इस मामले की रामपुर डीएम ने जांच कराई थी। जांच के बाद डॉक्टर की सेवा समाप्त कर दी गई थी और नर्स को सस्पेंड कर दिया गया था।

नर्स डॉक्टर थप्पड़कांड की घटना के बाद डॉक्टर बीएम नागर ने पुलिस अधीक्षक शुगन गौतम को चिट्ठी लिखकर अपनी जान को खतरा बताया था। अब उनकी संदिग्ध हालात में मौत पर बवाल शुरू हो गया है। वहीं जिला अस्पताल के सीएमएस आरके मित्तल ने कहा कि प्रथम दृष्टया ये नेचुरल मौत लग रही है, उनका बीपी-शुगर भी काफी बढ़ जाता था।

वहीं इस मामले पर एडिशनल एसपी डॉ. संसार सिंह ने कहा कि डॉक्टर के परिजनों के अनुसार उनको शुगर और हार्ट की दिक्कत थी, उनका इलाज भी चलता रहता था, उनके साथी डॉक्टरों और परिजनों ने लिखित में दिया है कि ये स्वाभाविक मौत है, किसी पुलिस कार्यवाही की ज़रूरत नहीं है।

Next Story

विविध

Share it