दुनिया

Dead body found today: पाकिस्तान में अस्पताल की छत पर 500 शव मिले, बॉडी पार्ट्स भी गायब, जानिए मामला क्या है

Janjwar Desk
15 Oct 2022 6:09 AM GMT
Dead body found today: पाकिस्तान में अस्पताल की छत पर 500 शव मिले, बॉडी पार्ट्स भी गायब, जानिए मामला क्या है
x
Dead body found today: पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में एक सरकारी अस्पताल (Government Hospital) की छत पर कई सड़े-गले शव (Decomposed Bodies) मिलने का मामला सामने आया है, जिससे सोशल मीडिया (Social Media) पर हंगामा मच गया है। मामला पंजाब निश्तार अस्पताल का है।

Dead body found today: पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में एक सरकारी अस्पताल (Government Hospital) की छत पर कई सड़े-गले शव (Decomposed Bodies) मिलने का मामला सामने आया है, जिससे सोशल मीडिया (Social Media) पर हंगामा मच गया है। मामला पंजाब निश्तार अस्पताल का है। जिसका वीडियो जमकर वायरल (Video Viral) हो रहा है। बताया जा रहा है कि शवों के कई अंग भी गायब हैं।

ज्यादातर शवों को चीर-फाड़ किया गया है। आशंका जताई जा रही है कि शवों से हृदय और अन्य अन्य अंग निकले जा चुके है। अस्पताल की छत से बरामद की गयी शवों की संख्या 500 बताई जा रही है। हालांकि, ये शव किसके हैं और अस्पताल की छत पर कहा से आए, इसकी जानकारी अभी सामने नहीं आई है। अनुमान लगाया जा रहा है कि इन शवों से अंगों की तस्करी की जा रही थी या फिर इन शवों को मेडिकल जांच के लिए चीर-फाड़ किया गया होगा।

पंजाब के मुख्यमंत्री परवेज इलाही (Chief Minister Pervez Elahi) ने मामले को संज्ञान लेते हुए शुक्रवार को इसकी जांच के लिए एक कमेटी का गठन किया है। विशेष स्वास्थ्य सचिव मुजमिल बशीर की अध्यक्षता वाली छह सदस्यीय समिति को जांच पूरी करने और मामले में जवाबदेही तय करने के लिए तीन दिन का समय दिया गया है। इसके साथ ही उन्होंने सभी शवों का अंतिम संस्कार करने के आदेश दिए हैं।

उन्होंने इस मामले में शामिल अस्पताल स्टाफ के खिलाफ कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए हैं। निश्तार मेडिकल यूनिवर्सिटी (Nishtar Medical University) की प्रोफेसर डॉ. मरियम अशरफ (Dr. Maryam Ashraf) ने कहा कि उन्हें पुलिस विभाग (Police Department) से कुछ लावारिस और अज्ञात शव मिली थी।

ये लाशें सड़ने और गलने लगीं थी, इसलिए इन्हें विभिन्न चिकित्सा उपयोगों के लिए सुखाने के लिए अस्पताल की छत पर रखा गया था। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय के छात्रों द्वारा शरीर के अंगों का उपयोग चिकित्सा प्रयोगों के लिए किया जाता है और लावारिस शवों का उपयोग सरकार द्वारा निर्धारित नियमों के अनुसार ही किया जाता है। उन्होंने बताया कि चिकित्सा उपयोग के लिए हड्डियों और खोपड़ी को भी निकाला जाता है।

Next Story

विविध