शिक्षा

Kalma Controversy: स्कूल में बच्चों को पढ़ाया कलमा- हिंदू नेताओं ने हंगामा कर किया धरना प्रदर्शन

Janjwar Desk
1 Aug 2022 1:22 PM GMT
Kalma Controversy: स्कूल में बच्चों को पढ़ाया कलमा- हिंदू नेताओं ने हंगामा कर किया धरना प्रदर्शन
x

Kalma Controversy: स्कूल में बच्चों को पढ़ाया कलमा- हिंदू नेताओं ने हंगामा कर किया धरना प्रदर्शन

Kanpur Kalma Vivad: कानपुर के एक प्राइवेट स्कूल में हिन्दू बच्चों को कलमा पढ़ाए जाने का मामला सामने आया है। आज सोमवार को हिन्दू संगठन के नेता स्कूल जा धमके और हंगामा करके धरने पर बैठ गये। सूचना पर एसीपी निशांत शर्मा पहुंचे और कार्यवाही का भरोसा देकर शांत कराया। जिलाधिकारी ने जांच के आदेश दिये है।

Kanpur Kalma Vivad: कानपुर के एक प्राइवेट स्कूल में हिन्दू बच्चों को कलमा पढ़ाए जाने का मामला सामने आया है। आज सोमवार को हिन्दू संगठन के नेता स्कूल जा धमके और हंगामा करके धरने पर बैठ गये। सूचना पर एसीपी निशांत शर्मा पहुंचे और कार्यवाही का भरोसा देकर शांत कराया। जिलाधिकारी ने जांच के आदेश दिये है।

स्कूल के एक पेरेंट ने अपनी बच्ची के साथ वीडियो बनाया और सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। सोमवार को विश्व हिंदू परिषद के पदाधिकारियों ने स्कूल में धरना-प्रदर्शन किया। हिंदू नेताओं के हंगामे पर स्कूल में छुट्‌टी कर दी गई। वहीं प्रदर्शनकारियों ने कहा, जब तक प्रबंधन माफी नहीं मांग लेता स्कूल नहीं चलने देंगे। सूचना पाकर एसीपी निशांक शर्मा टीम के साथ पहुंचे। उन्होंने कार्रवाई का भरोसा देकर लोगों को शांत कराया।

स्कूल प्रबंधन ने किया दावा

कहा कि हम हिंदू, मुस्लिम, सिख और ईसाई, सभी धर्म की प्रार्थना करवाते हैं। इसलिए विरोध गलत है। यह भी कहा गया कि अब स्कूल में कोई प्रार्थना नहीं की जाएगी, सिर्फ राष्ट्रगान किया जाएगा। रविवार को 59 सेकंड का एक वीडियो फेसबुक, ट्विटर और वॉट्सऐप पर शेयर किया गया। अभिषेक मिश्रा नाम से बने ट्वीटर अकाउंट से वीडियो वायरल हुआ। सीएम योगी आदित्यनाथ और यूपी पुलिस को टैग किया गया था। इसमें एक महिला और उनकी बेटी दिखाई देती है। वीडियो बनाने वाले ने दोनों के चेहरे सीन में नहीं आने दिए हैं।

महिला कह रही है. स्कूल में बच्चों को रोजाना प्रार्थना के समय कलमा पढ़ाया जाता है। महिला ने बच्ची से पूछा तो उसने जवाब दिया, ''हां..रोज पढ़ाया जाता है। बैकग्राउंड से कुछ और महिलाओं की आवाज भी सुनाई देती है, जो कि इसका विरोध कर रही है।

अब धार्मिक प्रार्थना नहीं, सिर्फ राष्ट्रगान होगा

एसीपी सीसामऊ निशांक शर्मा ने बताया,उनकी स्कूल के मैनेजर सुमित मखीजा से बात हो गई है। स्कूल मैनेजर ने उन्हें बताया है कि उनके स्कूल में हिंदू, मुस्लिम, सिख और ईसाई चारों धर्मों की प्रार्थना 12-13 सालों से की जा रही है। कभी किसी ने विरोध नहीं किया। कहाकि चार दिन पहले एक पेरेंट की ओर से इसे लेकर आपत्ति जताई गई थी। इसके बाद उन्होंने निर्देश दिया है कि अब कोई धार्मिक प्रार्थना नहीं कराई जाएगी। सिर्फ राष्ट्रगान होगा।"

डीएम ने जांच के आदेश दिए

डीएम विशाख जी. ने बताया,पुलिस की जांच रिपोर्ट मिली है। मैंने भी जांच का आदेश दिया गया है। रिपोर्ट आने के बाद जो भी फैक्ट सामने आएंगे। उसी अनुसार कार्रवाई होगी। एडीएम (सिटी) अतुल कुमार ने कहा, स्कूल में आज छुट्टी घोषित कर दी गई है। एक शिकायत मिली है। जांच की जा रही है।

Next Story

विविध