Top
उत्तर प्रदेश

अखिलेश यादव पर पिटाई का आरोप लगाने वाले पत्रकार का गले में भाजपा का गमछा लटकाये फोटो वायरल

Janjwar Desk
15 March 2021 7:28 AM GMT
अखिलेश यादव पर पिटाई का आरोप लगाने वाले पत्रकार का गले में भाजपा का गमछा लटकाये फोटो वायरल
x
सपा प्रवक्ता जूही सिंह कहती हैं, क्या कहें इन सफेदपोश साजिशकर्ताओं को गुनाहगार हैं ये विश्वास तोड़ने के, आये थे धर कर रूप पत्रकार का ये महाशय किसी की जी हुजूरी में, पर एक बदनुमा दाग बनकर रह गए...

जनज्वार। समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव पर प्रेस कांफ्रेंस के दौरान पिटाई और बदसलूकी का आरोप लगाने वाले पत्रकार का गले में भाजपा के सिंबल वाला गमछा लगाये एक फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसे लेकर लोगों ने सवाल उठाने शुरू कर दिये हैं।

सपा प्रवक्ता जूही सिंह ने पत्रकार का फोटो शेयर करते हुए ट्वीट किया है, 'क्या कहें इन सफेदपोश साजिशकर्ताओं को गुनहगार हैं ये विश्वास तोड़ने के, आये थे धर कर रूप पत्रकार का ये महाशय किसी की जी हुजूरी में, पर एक बदनुमा दाग बनकर रह गए।'

जूही सिंह अपने एक और अन्य ट्वीट में लिखती हैं, 'ये पत्रकार नहीं कलाकार हैं निहायत घटिया अदाकारी करते हैं, यह भी नहीं सोचा कि जो नाटक इन्होंने किया उससे सम्मानित पत्रकारों को भी ठेस पहुंची और अपनी व्यक्तिगत महत्वकांक्षा के तहत एक बेमिसाल नेतृत्व @yadavakhilesh को बदनाम करने की इनकी पूर्वयोजना कितने निम्न स्तर की थी।'

वहीं अभिषेक सिंह लिखते हैं, 'इस कथित पत्रकार के सन्दर्भ में सिवाय दोगला शब्द के अलावा और कोई संबोधन ही नहीं बचता है, इसका यह रूप और उस दिन का मंचन और कार्यप्रणाली को लेकर पूरे घटनाक्रम से एक साजिश की बू आती है जो सत्ता द्वारा रची गयी है। कितना सतही और छिछले लोग बैठे हैं सरकार में...'

SBSP4INDIA के राष्ट्रीय प्रवक्ता पीयूष मिश्रा ने कटाक्ष किया है, 'मैं माननीय @narendramodi जी से विशेष आग्रह करता हूँ कि जिस प्रकार से उत्तर प्रदेश में लोगों को नौकरी में पद मिल रहे है, ठीक उसी प्रकार से इनको अपनी पदवी देने का कष्ट करें। ताकि TIME पत्रिका में सही से TIME चलता रहे। और उत्तर प्रदेश का दिन दूनी रात चौगुनी विकास होता रहे।'

आशीष यादव ने ट्वीट किया है, 'कलम नहीं "कमल" का "सिपाही" है। सामने आया "कमलकार" का सच, मुरादाबाद में क्यों यह झूठ परोसने को तत्पर थे।'

गौरतलब है कि सपा प्रमुख और पूर्व सीएम अखिलेश यादव के खिलाफ पत्रकार ने कथित बदसलूकी और पिटाई के खिलाफ एक एफआईआर दर्ज करवाई है। मुरादाबाद के एक होटल में पत्रकारों की पिटाई के मामले में अखिलेश के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज हुआ है। अखिलेश यादव के अलावा 20 अज्ञात सपा कार्यकर्ताओ पर भी मारपीट, बलवा और अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। दूसरी ओर सपा जिला अध्यक्ष जयवीर सिंह यादव ने भी पत्रकारों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है।

पंकज चतुर्वेदी ने लिखा है, 'यह वही पत्रकार साथी हैं, जिनकी हाल ही में मुरादाबाद में पूर्व सीएम @yadavakhilesh की प्रेस कॉन्फ्रेंस में पिटाई हो गई थी।'

Next Story
Share it