Top
उत्तर प्रदेश

संजीव बालियान की मेरे सामने बोलने की हिम्मत नहीं, वह सरकार के बंधुआ मजदूर- नरेश टिकैत

Janjwar Desk
3 March 2021 9:26 AM GMT
संजीव बालियान की मेरे सामने बोलने की हिम्मत नहीं, वह सरकार के बंधुआ मजदूर- नरेश टिकैत
x
नरेश टिकैत ने कहा कि 'यहाँ जो खापें हैं, वह एक समूह है। बड़े ही खतरनाक निर्णय करे हैं खाप। किसी का भी सामाजिक बहिष्कार कर दे हैं। और ऐसा नहीं मानने भी पड़े हैं, लोगों को निर्णय। कुछ ना है बालियान।

जनज्वार ब्यूरो/मुजफ्फरनगर। दिग्गज किसान नेता रहे महेन्द्र सिंह टिकैत व किसान आंदोलन की कमान संभाले राकेश टिकैत के बड़े भाई नरेश टिकैत ने सांसद व केन्द्रिय मंत्री संजीव बालियान को चेतावनी दे दी है। नरेश टिकैत ने वरिष्ठ पत्रकार अजीत अंजुम से बात करते हुए कहा कि वह रामचंद्र के वंशज हैं। उन्होने कहा कि पिछले चुनाव में सरकार का समर्थन किया था यह भूल थी। अब 2024 में फिर चुनाव हैं।

इस सवाल पर कि क्या वह संजीव बालियान से नाराज हैं जिस पर नरेश टिकैत ने जवाब दिया कि ना ना कोई नाराजगी नहीं, काहे की नाराजगी। वे हैं क्या बालियान। हमारे सामने उनकी हैसियत ही क्या है। टिकैत ने अजीत अंजुम से कहा कि 'लो मै उसका (बालियान) का नम्बर देता हूँ, बात कर लो। कहो कि टिकैत साहब सामने बैठे हैं, मै बात करन लाग रहा हूँ..उनते। देखो बालियान क्या कहता है। उन्होने कहा है तो कुछ हमारे ही हाथ में।'

नरेश टिकैत ने कहा कि 'यहाँ जो खापें हैं, वह एक समूह है। बड़े ही खतरनाक निर्णय करे हैं खाप। किसी का भी सामाजिक बहिष्कार कर दे हैं। और ऐसा नहीं मानने भी पड़े हैं, लोगों को निर्णय। कुछ ना है बालियान। लो..लो करके क्या जरूरत है मंत्री बनने की, नेता बनने की। लात मारो ऐसी कुर्सी पर, इज्जत होगी तुम्हारी। पानी में रहकर मगरमच्छ से बैर, ऐसा नहीं होने का। हमारी 84 गाँव की खापें हैं, सभी का निर्णय मान्य होता है।'

बालियान से बात करने या मिलने के सवाल पर राकेश टिकैत कहते हैं कि 'हम क्यों बात करेंगे उनसे, वह चुनाव जीत गए उनका काम निकल गया। उनको जरूरत है तो आकर बात करें। ऐसा नहीं है कि वह मंत्री बन गए, तुनाव जीत गए लेकिन है तो सब हमारे ही हाथ में। अभी 2024 का भी तो चुनाव है। हमारी कोई नाराजगी नहीं, ये तो जनता देख लेगी। जनता क्या निर्णय करती है, मुकाबला हम कर रहे हैं और करेंगे। अब तीर कमान में ते निकल गया।'

Next Story

विविध

Share it