Top
उत्तर प्रदेश

UP : दो भाइयों के बीच आलू का विवाद सुलटाने गए दारोगा की गोली मारकर हुई हत्या, पुलिस ने नम आंखों से दी विदाई

Janjwar Desk
25 March 2021 1:35 PM GMT
UP : दो भाइयों के बीच आलू का विवाद सुलटाने गए दारोगा की गोली मारकर हुई हत्या, पुलिस ने नम आंखों से दी विदाई
x
विश्वनाथ के हाथ में तमंचा देखकर पकड़ने के लिए पीछे दौड़ लगा दी, वह भागने लगा, मगर दरोगा पीछा करते रहे, इस पर विश्वनाथ ने गोली चला दी। गले मे गोली लगने से दरोगा की मौत हो गई...

चाजनज्वार, आगरा। आगरा में खंदौली के गांव नहर्रा में बुधवार 24 मार्च शाम को दरोगा प्रशांत कुमार की गोली मारकर हत्या कर दी गई। दरोगा प्रशांत कुमार दो भाईयों के बीच खेत से आलू खुदाई को लेकर चल रहा विवाद शांत कराने गए थे। झगड़े की सूचना पर दरोगा प्रशांत यादव के साथ सिपाही चंद्रसेन भी साथ गया था। विवाद में एक भाई ने दरोगा को तमंचे से गोली मार दी और फरार हो गया।

पुलिस ने बताया कि गांव नहर्रा निवासी विजय सिंह पहलवान के 2 बेटों विश्वनाथ और शिवनाथ के बीच खेत को लेकर काफी समय से विवाद चल रहा है। विजय सिंह की पत्नी उसके साथ नहीं रहती। बड़ा बेटा शिवनाथ पिता के साथ रहता है। वहीं छोटा विश्वनाथ मां के साथ रहता है। विजय के खेत के तीन हिस्से हुए हैं। एक हिस्सा विजय के पास है। शिवनाथ ने खेत में आलू की फसल की थी।

बुधवार 24 मार्च को बड़े पुत्र विश्वनाथ ने पिता के खेत से आधा आलू मांगा। कहा कि यह मां के हिस्से का है। इसी बात को लेकर दोनों भाइयों के बीच सुबह विवाद हो गया। सूचना पर पुलिस पहुंच गई। पुलिस की मौजूदगी में आलू की खुदाई होने लगी। तब तक कोई विवाद नहीं हुआ था।

उनकी अंत्येष्टि के बाद आईजी रेंज आगरा ने ट्वीट किया है, 'जनपद आगरा के थाना खंदौली क्षेत्रांतर्गत कर्तव्य पालन करते हुए शहीद हुए उ0नि0 श्री प्रशान्त यादव को राजकीय सम्मान के साथ एडीजी,रेंज आगरा @SatishBharadwaj द्वारा उनके पार्थिक शरीर पर पुष्पचक्र आर्पित कर नम आँखों से भावभीनी श्रद्धांजलि दी। पुलिस विभाग को उनकी शहादत पर गर्व है।'

शाम के समय विश्वनाथ खेत पर पहुंचा, उसने तमंचा लेकर मजदूरों को धमकाना शुरू कर दिया। शाम तकरीबन सात बजे दरोगा प्रशांत कुमार और सिपाही चंद्रसेन बाइक से गांव पहुंचे। खेत में विश्वनाथ के हाथ में तमंचा देखकर पकड़ने के लिए पीछे दौड़ लगा दी। वह भागने लगा, मगर दरोगा पीछा करते रहे। इस पर विश्वनाथ ने गोली चला दी। गले मे गोली लगने से दरोगा की मौत हो गई।

सिपाही चंद्रसेन की सूचना पर थाना की फोर्स पहुंची। दरोगा को अस्पताल लेकर गई, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। सूचना पर एडीजी राजीव कृष्ण, आईजी रेंज ए सतीश गणेश, एसएसपी बबलू कुमार मौके पर पहुंच गए। एसएसपी ने बताया कि आरोपी की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।

एडीजी राजीव कृष्ण ने बताया कि दो भाइयों के विवाद में उपनिरीक्षक प्रशांत कुमार को गोली मार दी गई है। वह शहीद हो गए हैं। आरोपी को पकड़ने के लिए टीमें लगाई गई हैं। उसे जल्दी ही गिरफ्तार कर कड़ी कार्रवाई करेंगे।

मृतक दरोगा प्रशांत कुमार मूलरूप से बुलंदशहर के खुर्जा स्थित छतारी गांव के रहने वाले थे। वह 2015 बैच के उपनिरीक्षक थे। बेहद शांत स्वभाव के प्रशांत की उम्र 35 वर्ष की थी।

वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतक दरोगा की हत्या मामले सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि आरोपियों को किसी भी हाल में बक्शा नहीं जाएगा। मुख्यमंत्री ने परिजनों से संवेदना व्यक्त करते हुए सरकार की तरफ से दी जाने वाली सहायता मुहैया कराने के निर्देश दिये हैं। इसके लिए परिवार को 50 लाख रुपये की मदद, एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी सहित सड़क भी शहीद के नाम की जाएगी।

Next Story

विविध

Share it