Top
उत्तर प्रदेश

UP : लॉकडाउन में गुरुग्राम से वापस लौटे युवक ने की आत्महत्या, रोजगार न मिलने से था परेशान

Janjwar Desk
1 July 2020 5:14 AM GMT
UP : लॉकडाउन में गुरुग्राम से वापस लौटे युवक ने की आत्महत्या, रोजगार न मिलने से था परेशान
x
आत्महत्या के पीछे जो वजह सामने आई है वो वाकई हैरान कर देने वाली है। दरअसल, प्रवासी मजदूर चंद्रभान (25) रोजगार न मिलने के कारण मानसिक रुप से परेशान था। मंगलवार की दोपहर उसने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। जानकारी के मुताबिक, मामला महोबा जिले के श्रीनगर कोतवाली क्षेत्र के सिजरिया गांव का है...

जनज्वार। कोरोना वायरस संक्रमण और लॉकडाउन में काम-धंधे बंद हो गए थे, जिसके चलते प्रवासी मजदूर दूसरे राज्यों से अपने-अपने घर वापस लौटे आए। वापस लौटे प्रवासी मजदूरों के समक्ष अब रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया। ऐसे में मजदूर आत्महत्या जैसा कदम भी उठा रहे है। ताजा मामला उत्तर प्रदेश के महोबा जिले का है। यहां गुरुग्राम से वापस लौटे प्रवासी मजदूर ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली।



आत्महत्या के पीछे जो वजह सामने आई है वो वाकई हैरान कर देने वाली है। दरअसल, प्रवासी मजदूर चंद्रभान (25) रोजगार न मिलने के कारण मानसिक रुप से परेशान था। मंगलवार की दोपहर उसने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। जानकारी के मुताबिक, मामला महोबा जिले के श्रीनगर कोतवाली क्षेत्र के सिजरिया गांव का है। यहां चंद्रभान (25) गुरुग्राम में रहकर मजदूरी करता था। परिजनों ने बताया कि लॉकडाउन के चलते चंद्रभान भी घर वापस आया था।

महोबा आने के उसे कही कोई रोजगार नहीं मिला, जिसके कारण वह मानसिक रुप से परेशान रहने लगा था। इस दौरान वो किसी से बोलता भी नहीं थी। मंगलवार को चंद्रभान घर के अंदर अकेला था, उसने तमंचे से गोलीमार ली। गोली चलने की आवाज सुनकर परिजन दौड़कर अंदर पहुंचे और उसे आनन-फानन में इलाज के लिए जिला अस्पताल लाया, लेकिन उसने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। चंद्रभान के भाई अर्जुन ने बकाया कि बीते दो महीने से कोई काम नहीं मिलने के कारण चंद्रभान परेशान रहता था। आज उसने तमंचे से खुद को गोली मार ली, जिससे उसकी मौत हो गई।

Next Story
Share it