राष्ट्रीय

Vaccination : 100 करोड़ वैक्सीन डोज लगने पर ट्वीटर की DP बदलने वाले PM MODI महंगाई और भुखमरी का श्रेय क्यों नहीं लेते?

Janjwar Desk
22 Oct 2021 5:06 AM GMT
pm modi
x

(मंहगाई और भुखमरी पर चुप्पी साधने वाले पीएम ने 100 करोड़ वैक्सीन पर बदली डीपी)

Vaccination : 100 करोड़ डोज पूरे होने का ऐलान करने के लिए सरकार ने एक दिन पहले ही खास तैयारियां की थीं। इसके लिए ट्रेन, प्लेन और जहाजों पर लाउडस्पीकर से घोषणा करने की योजना बनी...

Vaccination (जनज्वार) : देश में कोरोना वैक्सीन के 100 करोड़ डोज लग चुकी हैं। इस उपलक्ष्य में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने अपनी ट्वीटर प्रोफाइल की डीपी बदल दी है। पूरे देश में भाजपाइयों और अंधभक्तों ने इस कदर जश्न मनाया जैसे सभी के खाते में 15-15 लाख रूपये आ गये हों। लोग यह भी भूल गये की अभी हाल ही के दिनो में आई एक रिपोर्ट में भारत को भुखमरी के सबसे निचले पायदान पर बताया गया था।

वैक्सीन के 100 करोड़ डोज पूरे होने का ऐलान करने के लिए सरकार ने एक दिन पहले ही खास तैयारियां की थीं। इसके लिए ट्रेन, प्लेन और जहाजों पर लाउडस्पीकर से घोषणा करने की योजना बनी। साथ ही 100% वैक्सीनेशन पूरा कर चुके गांवों से कहा गया कि उन्हें पोस्टर और बैनर लगाकर हेल्थ वर्कर्स का सम्मान करना चाहिए। इस दौरान पीएम मोदी खुशी मनाने दिल्ली के राम मनोहर लोहिया (RML) अस्पताल जा पहुंचे।

मोदी सरकार लांच करेगी थीम सॉन्ग

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया आज एक थीम सॉन्ग और फिल्म लॉन्च करेंगे। ये कार्यक्रम दोपहर 12.30 बजे लाल किले पर रखा गया है। बताया जा रहा है कि इस गाने में गाना कैलाश खेर ने आवाज दी है। न्यूज एजेंसी PTI के मुताबिक लाल किले पर 1400 किलो का देश का सबसे बड़ा तिरंगा लगाने की भी उम्मीद है। इस दौरान BJP नेताओं को भी वैक्सीनेशन सेंटर्स पर जाकर हेल्थ वर्कर्स का सम्मान करने के लिए कहा गया।

मास्क फ्री देशों की तुलना में कहीं नहीं टिकता भारत

हमने भले ही 100 करोड़ डोज लगाने के करीब हैं, लेकिन यह भी जान लीजिए की देश की महज 20% आबादी ही पूरी तरह वैक्सीनेट हुई है। 29% आबादी को वैक्सीन की एक डोज दी जा चुकी है। ऐसे में मास्क फ्री होने के लिए हमें अभी इंतजार करना होगा। महामारी एक्सपर्ट डॉक्टर चंद्रकांत लहारिया कहते हैं कि जब तक 85% आबादी पूरी तरह वैक्सीनेट नहीं हो जाती तब तक ऐसा करना खतरनाक हो सकता है। जिन देशों में मास्क से छूट दी गई है वहां जनसंख्या घनत्व भारत की तुलना में काफी कम है। ऐसे में हमें अपनी जरूरतों को हिसाब से ही फैसला लेना चाहिए।

वैक्सीन मामले में सबसे फिसड्डी यूपी-बिहार

आबादी के लिहाज से सबसे कम वैक्सीनेशन उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड में हुआ है। इन तीनों राज्यों की केवल 12% आबादी पूरी तरह से वैक्सीनेट हुई है। झारखंड की 36% आबादी ऐसी है जिसे वैक्सीन की एक डोज दी जा चुकी है, तो बिहार की 37% आबादी को वैक्सीन की एक डोज दी गई है। वहीं, यूपी की 40% आबादी को वैक्सीन की एक डोज दी गई है। हालांकि, देश में सबसे ज्यादा वैक्सीन डोज भी उत्तर प्रदेश में लगाई गई हैं। फिर भी 23 करोड़ आबादी वाले राज्य के लिहाज से ये काफी कम है। आबादी के हिसाब से वैक्सीन लगाने में महाराष्ट्र को छोड़ दें, तो बड़े राज्य पिछड़ गए हैं। सबसे पीछे UP है। यहां देश की 17.4% आबादी है, जबकि यहां कुल वैक्सीन में से 11.9% लगी हैं।

भुखमरी में पाकिस्तान, नेपाल से भी पीछे नया भारत

केंद्र की मोदी सरकार (Modi Government) कई बार दावे कर चुकी है कि देश के करोड़ों लोगों के लिए खाद्यान्न सहित अन्य जीवनोपयोगी चीजें पहुंचाई जा रही हैं लेकिन तल्ख हकीकत यह है कि हंगर इंडेक्स (Hunger Index) यानी भुखमरी सूचकांक में भारत का स्थान और नीचे चला गया है। और तो और इस सूचकांक में भारत पड़ोसी देशों पाकिस्तान, बांग्लादेश और नेपाल से भी नीचे है। भारत में गरीबों के लिए सहायता योजनाओं के लाख दावे किए जाते हों लेकिन वैश्विक भुखमरी सूचकांक 2021 ने भारत को 116 देशों में से 101वां स्थान दिया गया है। जबकि साल 2020 में भारत 107 देशों में 94वें स्थान पर था। 2021 की रैंकिंग के अनुसार, पाकिस्तान, बांग्लादेश और नेपाल ने भारत से बेहतर प्रदर्शन किया है। पीएम को इसका भी श्रेय लेना चाहिए।

Next Story

विविध