राष्ट्रीय

UP : अवैध संबंध के शक और संबंध बनाने से इंकार करने पर पत्नी की हत्या के बाद 3 बच्चों को जिंदा नदी में फेंका

Janjwar Desk
27 May 2021 4:08 AM GMT
UP : अवैध संबंध के शक और संबंध बनाने से इंकार करने पर पत्नी की हत्या के बाद 3 बच्चों को जिंदा नदी में फेंका
x

मुजफ्फरनगर में पत्नी के साथ-साथ 3 मासूम बच्चों का भी कर दिया शख्स ने कत्ल

पत्नी की हत्या के आरोपी पप्पू का कहना है कि डॉली की हत्या करने के बाद तीनों बच्चों को कमहेड़ा गांव के सामने आकर गंगनहर में फेंक दिया था...

जनज्वार ब्यूरो। यूपी के मुजफ्फरनगर स्थित पुरकाजी थाना क्षेत्र के बसेड़ी गांव में एक शख्स ने अवैध संबंध के शक में अपनी पत्नी की हत्या कर दी। इतना ही नहीं नृशंसता की हदों को पार करते हुए उसने अपने 3 बच्चों को जिंदा नदी में फेंक दिया। पुलिसिया जांच में सामने आया कि पुरकाजी थाना क्षेत्र के बसेड़ी गांव में मंगलवार 25 मई की सुबह पप्पू पुत्र ब्रह्म सिंह ने अपनी 35 वर्षीय पत्नी डोली की तमंचे से गोली मारकर हत्या कर दी थी।

गिरफ्तारी के बाद आरोपी पप्पू ने पूछताछ के दौरान पुलिस अधिकारियों को बताया कि पत्नी की हत्या के बाद उसने तीन मासूम बच्चों को गंगनहर में जिंदा फेंक दिया था, जिससे उनकी मौत हुयी।

अवैध संबंधों के अलावा पत्नी के हत्यारोपी पति ने पूछताछ के दौरान जो कारण बताया, वह चौंकाने वाला था। कोतवाल देशराज सिंह ने बताया कि आरोपित ने हत्या का जुर्म कबूल करते हुए बताया कि उसकी पत्‍नी ने पंद्रह दिन से उससे शारीरिक संबध नहीं बनाये थे। पप्पू ने रात में ही निर्णय लिया कि सुबह अगर वह उसकी बात नहीं मानेगी तो वह पत्पनी की हत्या कर देगा। सुबह जब उसकी पत्नी ने फिर से शारीरिक संबंध बनाने से मना किया तो उसने गोली मारकर पत्नी की हत्या कर दी।

हत्यारोपी पप्पू का कहना है कि उसने पत्नी की हत्या करने के बाद तीनों बच्चों को कमहेड़ा गांव के सामने आकर गंगनहर में फेंक दिया था। पुलिस ने हत्यारोपी पप्पू को मंगलवार 25 मई की देर रात लक्सर के पास से गिरफ्तार किया था।

थाना पुरकाजी के गांव बसेड़ी के रहने वाले पप्पू ने मंगलवार सुबह अपनी 35 वर्षीय पत्नी डोली के सिर में गोली मारकर हत्या कर दी थी। पत्नी की हत्या करने के बाद पप्पू ने अपने तीनों बच्चों को यह सोचकर नदी में फेंक दिया कि इनकी परवरिश कौन करेगा। तीन बच्चों में 5 साल की बेटी सानिया, 3 वर्षीय बेटा वंश और डेढ़ साल की बेटी हर्षिता को लेकर फरार हो गया था, बाद में इन्हें नदी में फेंक दिया।

पुलिस को ग्रामीणों ने बताया कि हत्यारोपी की हैवानियत से ग्रामीण खौफ में हैं। आरोपी पप्पू नशेड़ी किस्म का इंसान था। घटना से पहली रात में भी उसने गांव के एक युवक के साथ शराब पी थी। पुलिस हत्याभियुक्त के पकड़े जाने के बाद व असलियत सामने आने पर उसके साथ शराब पीने वाले युवक की भी सरगर्मी से तलाश में जुटी थी। उसके कई रिश्तेदारों को हिरासत में लिया गया है। पुलिस का कहना है कि हत्यारे ने अवैध संबंध के शक की बात कही है, जिसकी जांच की जा रही है।

इस मामले में मृतक महिला डोली के पिता जीवना निवासी ओमवीर ने पप्पू के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। पिता की तरफ से हत्या का कारण जमीन विवाद बताया गया है। वहीं हत्यारोपी पिता पप्पू द्वारा अपने तीनों बच्चों को गंगनहर में जिंदा फेंकने पर पुलिस अन्य बिंदुओं पर भी जांच पड़ताल और हत्यारोपी से पूछताछ कर रही है।

सीओ सदर हेमंत कुमार ने इस मामले में कहा है कि हत्यारोपी पति से पूछताछ की जा रही है। उसने अपने तीनों बच्चों को गंगनहर में फेंकने की बात कही है। बच्चों की तलाश के लिए पीएसी के गोताखोरों को बुलाया गया है। आगे की विधिक कार्रवाई जारी है।

गौरतलब है कि मंसूरपुर के गांव जीवना निवासी डोली की शादी 12 साल पहले बसेड़ी गांव निवासी ओमकुमार पुत्र ब्रह्म सिंह के साथ विवाह हुआ था। विवाह के कुछ समय बाद ही ओमकुमार ने घरेलू कलह के चलते घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी, जिसके बाद उसकी पत्नी डोली का उसके छोटे भाई पप्पू के साथ परिजनों ने विवाह कर दिया था। पहले पति ओमकुमार के हिस्से की 27 बीघा भूमि भी मृतका डोली के नाम कर दी गई थी। इसी के बाद लंबे समय से पप्पू व डोली के बीच घरेलू विवाद बना हुआ था।

Next Story

विविध

Share it