Top
राष्ट्रीय

तेजी से उड़ीसा और पश्चिम बंगाल को चपेट में ले रहा है यास तूफान, तेज हवा और भारी बारिश के कारण हुआ नुकसान

Janjwar Desk
26 May 2021 9:20 AM GMT
तेजी से उड़ीसा और पश्चिम बंगाल को चपेट में ले रहा है यास तूफान, तेज हवा और भारी बारिश के कारण हुआ नुकसान
x

उड़ीसा के पारादीप में राहत व बचाव कार्य करता हुआ एक दल 

अभी तूफान उड़ीसा के तटीय जिलों से गुजरा है। पारादीप में बड़ी संख्या में पेड़ टूटे है। इसके अलावा मछली पकड़ने वाली नावों को नुकसान हुआ है। उड़ीसा के तटवर्ती जिलों में भारी तबाही हुई है। भद्रक,जगतसिंघपुर जिलों में भारी बारिश हुई है।

जनज्वार ब्यूरो, दिल्ली। आज सुबह 9:00 बजे चक्रवाती तूफान यास उड़ीसा के तट से टकराया था। मौसम विभाग के मुताबिक चक्रवात उड़ीसा के धामरा बंदरगाह के उत्तर और बालासोर जिले के पश्चिमी तट से टकराया। उड़ीसा के तटीय इलाकों में 150 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं। चक्रवात के प्रभाव से निपटने के लिए उड़ीसा के 9 जिलों को हाई अलर्ट पर रखा गया है। यह सभी जिले कोविड-19 रेड जोन में हैं। उड़ीसा में सबसे अधिक 52 और पश्चिम बंगाल में 45 टीमों को तैनात किया गया है। यह तूफान तेजी से ओडिशा के दक्षिण में बालासोर तक पहुँच चुका है।

आईएमडी के महानिदेशक ने बताया है कि हवा की तेज़ गति आज रात तक रहेगी उसके बाद काफी हद तक कम हो जाएगी। आज भी उत्तर उड़ीसा और तटीय उड़ीसा में भारी बारिश हुई है। पश्चिम बंगाल में भी भारी बारिश हो रही है।

उड़ीसा में बड़े स्तर पर हुई है तबाही

तूफान के कारण उड़ीसा के भद्रक, बालासोर व जगतसिंघपुर जिले सबसे ज्यादा प्रभावित हुये हैं। अभी तूफान उड़ीसा के तटीय जिलों से गुजरा है। पारादीप में बड़ी संख्या में पेड़ टूटे है। इसके अलावा मछली पकड़ने वाली नावों को नुकसान हुआ है।


पश्चिम बंगाल के पूर्व मेदिनीपुर के दीघा में तेज हवाओं के साथ बारिश हुई है बारिश की वजह से दीघा में बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं।


उड़ीसा और पश्चिम बंगाल के अलावा तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, सिक्किम, असम, मेघालय, झारखंड, बिहार, उत्तर प्रदेश में तूफान का असर दिखाई देगा।

मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार कल सुबह तक तूफान झारखंड में दस्तक देगा-

तूफान के चलते झारखंड में आज और कल भारी बारिश हो सकती है। बिहार, सब हिमालयन पश्चिम बंगाल और सिक्किम में भी आज और कल भारी बारिश हो सकती है। असम, मेघालय में भी आज भारी बारिश होने की उम्मीद है।

तूफान बालेश्वर के दक्षिण में उड़ीसा तट को पार कर चुका है। अभी इसकी हवा की गति 130 से 140 किलोमीटर प्रति घंटे है। लैंडफॉल प्रक्रिया अभी चल रही है जो 3 घंटे में पूरी होगी। इसके बाद यह कमजोर होकर उत्तर पश्चिम दिशा की ओर बढ़ेगा।

कल सुबह तक तूफान झारखंड पहुंचेगा। उस समय हवा की गति 60-70 किलोमीटर प्रति घण्टा होगी। इसकी सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाने वाली हवा बालेश्वर, भद्रक और पश्चिम बंगाल के मिदिनीपुर में चल रही है। ओडिशा के अंदर के ज़िलों में भी हवा की गति 60-70 किलोमीटर प्रति घंटे रहेगी।

झारखंड में तूफान को देखते हुए अलर्ट जारी कर तैयारियां की जा रही है। तूफान के चलते झारखंड के पूर्वी सिंहभूम, पश्चिमी सिंहभूम, सरायकेला, सिमडेगा के प्रभावित होने की आशंका है। राज्य में 70 किलोमीटर प्रति घंटा से अधिक रफ्तार से हवा चलने और कुछ इलाकों में भारी बारिश होने की आशंका है।

Next Story

विविध

Share it