Top
राष्ट्रीय

हरियाणा : युवक ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट मे लिखा – मै सुशांत की तरह फेमस नहीं, मुझे नहीं मिलेगा न्याय

Janjwar Desk
14 Sep 2020 5:02 AM GMT
हरियाणा : युवक ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट मे लिखा – मै सुशांत की तरह फेमस नहीं, मुझे नहीं मिलेगा न्याय
x
करनाल में शनिवार को एक शख्स ने फेसबुक पर सुसाइड नोट डालकर फांसी का फंदा लगा लिया। उसने सुसाइड का जिम्मेदार करनाल के एक शोरूम मालिक को बताया। सुसाइड नोट में लिखा कि मैं सुशांत सिंह की तरह फेमस नहीं, मुझे पता है मुझे जस्टिस भी नहीं मिलेगा।

जनज्वार। करनाल में शनिवार को एक शख्स ने फेसबुक पर सुसाइड नोट डालकर फांसी का फंदा लगा लिया। उसने सुसाइड का जिम्मेदार करनाल के एक शोरूम मालिक को बताया। सुसाइड नोट में लिखा कि मैं सुशांत सिंह की तरह फेमस नहीं, मुझे पता है मुझे जस्टिस भी नहीं मिलेगा।

पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। मृतक के शव का पोस्टमॉर्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया गया है।प्राप्त जानकारी के मुताबिक शांति नगर कालोनी निवासी अमनदीप एक कार कंपनी के शोरूम में काम करता था। उसने शनिवार शाम को पहले एक पेज का सुसाइड नोट अपनी फेसबुक पर डाला। इसके बाद घर में ही फंदा लगा लिया। परिजनों ने जब तक अमनदीप को देखा, तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। पुलिस मामले में कार्रवाई कर रही है।

सुसाइड नोट मे लिखा वो पैसे वाले हैं और उनकी ही सरकार है

मैं अमनदीप अपनी लाइफ से फैड-अप हो गया हूं। थक गया हूं, बहुत कुछ सहन करते। दूसरों के ड्रीम पूरे करते हुए अपने ड्रीम ही भूल गया। याद नहीं लास्ट टाइम अपने लिए कब हैप्पी हुआ। ऑफिस की लाइफ में बहुत टाइम दिया। पता नहीं चलता कब रात के 12 ही आफिस में हो गए हों। भूल गया ता रात मेरे लिए भी मुझे भी रेस्ट करना है। अब लंबा रेस्ट चाहता हूं। शायद अपने को टाइम दिया होता तो आज अपने भी अपने होते। अपने जिनको समझा उन्होंने ही अपने मतलब के लिए साथ छोड़ दिया।

क्या गलती मेरी बेटी की, जिसकी खुशियां अधूरी रही। क्या गलती मेरे मां-बाप की, जिनको सेवा नहीं नसीब हुई। सब बोलते हैं मैं ही गलत हूं। इक बार ये बताओ मैंने अपने लिए क्या किया? सब दूसरों के लिए किया। इस सब का रिस्पांसिबल केवल शोरूम के मालिक हैं और कोई नहीं, न मेरी फैमिली, न मेरा कोई फ्रैंड। सब शोरूम के मालिक के कारण हुआ। उन्होंने मेरी लाइफ खराब की।

जानता हूं। बहुत पैसे वाले हैं और पैसों की सरकार है। अभी भी बच जाएगा वो पर जो मेरे अपने हैं जिनका मैंने दिल से बहुत किया। उनको मेरी कभी न कभी फिर से जरूरत होगी। मैं सुशांत की तरह फेमस नहीं इसलिए मुझे पता है, मुझे जस्टिस भी नहीं मिलेगा। मैं गलत हूं, सब की नजरों में।

Next Story

विविध

Share it