Top
राजनीति

सफाई कर्मचारी के 549 पदों के लिए 7 हजार इंजीनियरों-डिग्रीधारकों ने किया आवेदन

Prema Negi
29 Nov 2019 4:38 AM GMT
सफाई कर्मचारी के 549 पदों के लिए 7 हजार इंजीनियरों-डिग्रीधारकों ने किया आवेदन
x

इंजीनियर, पोस्ट ग्रेजुएट, ग्रेजुएट या अन्य डिप्लोमाधारियों को नहीं मिल पा रहा है योग्यता के अनुसार काम, 5—7 हजार रुपये में 12 घंटे नौकरी करने को विवश, इसलिए किया सफाईकर्मी के पदों के लिए आवेदन...

जनज्वार। मोदी सरकार दावे और वादे करती है कि देश में कहीं भी बेरोजगारी नहीं है, यह भ्रम विपक्षी पार्टियों द्वारा फैलाया जा रहा है, मगर मंदी, फैक्ट्रियों की बंदी, शटडाउन इसकी पोल खोल देता है। यह इसी मंदी और बेरोजगारी की हाइट है कि इंजीनियरिंग की डिग्री लेकर बैठे बेरोजगार युवाओं ने सफाई कर्मचारी के लिए आवेदन किया है।

देश में मंदी और बेरोजगारी की हाइट का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि कोयंबटूर नगर निगम में 549 सेनेटरी वर्करों के पदों के लिए कुल 7000 इंजीनियरों, स्नातकों और डिप्लोमा धारकों ने अप्लाई किया है। फिलहाल कोयंबटूर नगर निगम में 2,000 स्थायी और 500 संविदा सफाई कर्मचारी कार्यरत हैं।

कोयंबटूर नगर निगम के एक वरिष्ठ अधिकारी की तरफ से मिली जानकारी के मुताबिक निगम ने 549 ग्रेड -1 सफाई कर्मी के पदों के लिए आवेदन मांगे थे, जिसके लिए 7,000 आवेदकों ने तीन दिवसीय साक्षात्कार और प्रमाणपत्रों के सत्यापन के लिए अप्लाई किया है।

गर निगम के एक वरिष्ठ अधिकारी कहते हैं कि इन पदों पर करीब 70 फीसदी ऐसे युवाओं ने आवेदन किया है जिन्होंने इंजीनियर, स्नातकोत्तर, स्नातक और अन्य तरह के डिप्लोमा की डिग्री हासिल कर चुके हैं। इतना ही नहीं कई ऐसे युवाओं के आवेदन भी मिले जिन्होंने पूर्व में कई अच्छी कंपनी में कार्यरत होना बताया है। सफाईकर्मियों के इन पदों के लिए शुरुआती वेतन 15,700 रुपए तय किया गया है।

गर निगम के अधिकारी कहते हैं, इनमें से ज्यादातर आवेदकों जोकि इंजीनियर, पोस्ट ग्रेजुएट, ग्रेजुएट हैं, उनको उनकी योग्यता के अनुसार काम नहीं मिल पाया, इसलिए सफाईकर्मी के बतौर आवेदन किया है।

जानकारी के अनुसार जिन इंजीनियरिंग पास लोगों ने सफाईकर्मी के लिए आवेदन दिया है, वो पहले से मंदी और बेरोजगारी की मार बुरी तरह झेल रहे हैं। फैक्ट्रियों—कंपनियों में मात्र 6,000-7,000 रुपए में खट रहे हैं। इतने कम पैसे में न तो परिवार का पेट ही भर पाता है और उसके बाद 12 घंटे तक बिना नौकरी की सुरक्षा के साथ काम करना एक बड़ी चुनौती है।

गौरतलब है कि सरकारी सेनिटरी वर्कर्स की नौकरी में सुबह के तीन घंटे और शाम के तीन घंटे के काम के बदले लगभग 20,000 रुपए का वेतन मिलता है।

Next Story

विविध

Share it