Top
शिक्षा

पत्रकारिता से NET की परीक्षा में अव्वल आए अभिराज ने जनज्वार से कहा, NRC और CAA का हूं विरोधी क्योंकि धर्म के आधार पर भेदभाव गलत

Prema Negi
31 Dec 2019 3:31 PM GMT
पत्रकारिता से NET की परीक्षा में अव्वल आए अभिराज ने जनज्वार से कहा, NRC और CAA का हूं विरोधी क्योंकि धर्म के आधार पर भेदभाव गलत
x

NET अभिराज सिंह राजपूत ताल्लुक रखते हैं बहुत गरीब परिवार से, कहते हैं NRC और CAA का इसलिए विरोधी क्योंकि यह है संविधान विरोधी और धर्म के आधार पर भेदभाव नहीं है बिल्कुल वाजिब

रोहित शिवहरे

जनज्वार, भोपाल। दिसंबर 2019 में आयोजित नेट जूनियर रिसर्च फेलोशिप (जेआरएफ) परीक्षा में भोपाल के अभिराज सिंह राजपूत का परीक्षाफल शत प्रतिशत रहा है। मीडिया के क्षेत्र में इन्होंने ऑल इंडिया में प्रथम रैंक प्राप्त की है।

गौरतलब कि अभिराज सिंह राजपूत फिलहाल माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय भोपाल में पत्रकारिता विभाग के द्वितीय वर्ष के छात्र हैं। वे मूलतः नरसिंहपुर जिले के बोहानी के हैं और भोपाल में रहकर अध्ययन कर रहे हैं।

पनी इस उपलब्धि पर अभिराज सिंह राजपूत कहते हैं इस परीक्षा की तैयारी में मैंने निरंतरता रखी थी। मैं इस बात को लेकर आश्वस्त था कि मेरी तैयारी यह रैंक हासिल करने के लिये पर्याप्त है। मेरा लक्ष्य जीआरएफ निकालना था, जो मैंने पूरा कर लिया। इस सफलता के पीछे मेरे परिवार, गुरुजनों व मेरे दोस्तों का भी भरपूर सहयोग मिला, जिसके लिये मैं सभी का आभार व्यक्त करता हूँ।

वे आगे कहते हैं कि मीडिया के क्षेत्र में आने की वजह पद्मश्री से सम्मानित विजय दत्त श्रीधर सप्रे संग्रहालय है, उन्हीं की प्रेरणा और मार्गदर्शन के कारण ही मीडिया जगत में आया हूं।

के वर्तमान परिस्थितियों पर बोलते हैं कि वर्तमान मीडिया तो आईडियोलॉजिस में बंट गया है। एक पत्रकार को चाहिए कि वह हमेशा न्यूट्रल रहकर सिर्फ खबरें करता रहे और समाज को उचित जानकारी दे, मगर ऐसा हो नहीं रहा। हां, वेब मीडिया के काम को देखते हुए थोड़ा संतोष है।

वे आगे कहते हैं वर्तमान परिस्थितियों में देशभर में सिटीजनशिप अमेंडमेंट बिल और एनआरसी का जो विरोध चल रहा है, मैं भी इस विरोध का हिस्सा हूं और यह संवैधानिक बराबरी के खिलाफ है। भारत में हमेशा से सभी का स्वागत होता रहा है, यह हमारी संस्कृति है। पर विशेषकर यहां किसी एक धर्म को बाहर रखना उनकी मंशा को स्पष्ट करता है।

भिराज की इस उपलब्धि पर पत्रकारिता विभाग की विभागाध्यक्ष राखी तिवारी कहती हैं कि हमारे विभाग के छात्र ने महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल की है, इसके लिए हम उन्हें बधाई देते हैं और हम गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं।

भिराज अपनी बात रखते हुए आगे कहते हैं कि मैंने इस परीक्षा के लिए नियमित तौर से तैयारी की किसी भी कोचिंग आदि का सहारा नहीं लिया इसके पहले भी मैं नेट निकाल चुका था। यह प्रयास मेरा जूनियर रिसर्च फैलोशिप के लिए था। मीडिया क्षेत्र में आने वाले विद्यार्थियों को मैं बस यही कहना चाहता हूं कि वह निरंतर अध्ययन करते रहें, आप आसानी से नेट क्वालिफाइड कर सकते हैं।

Next Story

विविध

Share it