Top
शिक्षा

कोरोना की भयावहता के बीच जामिया ऑनलाइन प्लेसमेंट के लिए तैयार

Nirmal kant
13 May 2020 3:30 AM GMT
कोरोना की भयावहता के बीच जामिया ऑनलाइन प्लेसमेंट के लिए तैयार

कोविड-19 महामारी के बीच एक और सबसे बड़ी चुनौती इंटर्नशिप और जॉब प्लेसमेंट की हो रही है। आम हालात में गर्मियों के ब्रेक के दौरान, छात्र इंटर्नशिप के लिए जाते हैं और नौकरियों के लिए कंपनियों के पास जाना पड़ता है, लेकिन लॉकडाउन के कारण कंपनियों के पास रोजगार भी सीमित हो गया है...

जनज्वार ब्यूरो। जामिया मिल्लिया इस्लामिया की कुलपति प्रो. नजमा अ़ख्तर ने अपने प्लेसमेंट सेल को ऑनलाइन प्लेसमेंट ड्राइव के लिए तैयार रहने का निर्देश दिया है। कोविड-19 महामारी से उत्पन्न लॉकाडाउन हालात के बीच विश्वविद्यालय ने ऑनलाइन शिक्षण के जरिए अपने छात्रों को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देने के लिए तैयार किया है। ऐसा करने में जामिया देश के अग्रणी शैक्षिक संस्थानों में शामिल हो गया है।

जामिया के जनसंपर्क अधिकारी अहमद अजीम ने बताया, 'जामिया के छात्रों को नौकरी की पेशकश करने वाली कंपनियों में सैमसंग आरएंडडी, सीमेंस, महिंद्रा कॉमविवा, वेदांता लिमिटेड, एनआईआईटी, एलएंडटी लिमिटेड, अमेरिकन एक्सप्रेस, विप्रो टेक्नोलॉजीज, आईबीएम, एलएंडटी कंस्ट्रक्शन, इनोवेसर, टीएफटी, स्प्रिंगबोर्ड, न्यूजेन टेक्नोलॉजीज, जिया सेमीकंडक्टर्स, टीसीएस, ओवाईओ, एवीआईजेडवीए, फुजित्सु कंसल्टिंग, जेएलल कंसल्टिंग, अजीम प्रेमजी फाउंडेशन, शेयरिट, टीवी9, सीआईएनआईएफ ग्रुप, ऑपटम यूनाइटेड हेल्थ ग्रुप आदि शामिल हैं।'

संबंधित खबर : कोरोना पॉजिटिव महिला की मौत के बाद बेटा नहीं चुका पाया बिल तो मैक्स मोदी अस्पताल ने रोक लिया शव

स मुश्किल घड़ी में कुलपति की देखरेख में जामिया की छात्र प्लेसमेंट समितियों के साथ विभिन्न विभागों के शिक्षक व प्लेसमेंट समन्वयक वीडियो बैठकें कर रहे हैं। विश्वविद्यालय प्लेसमेंट सेल ने हाल ही में अपने प्रशिक्षण और प्लेसमेंट प्रक्रिया के लिए एक ऑटोमेशन प्लेटफार्म बनाया है और ऑनलाइन प्लेसमेंट ड्राइव के लिए वह अपने पोर्टल के साथ तैयार है।

अजीम ने कहा, 'जामिया का प्लेसमेंट सेल, लॉकडाउन के दौरान इंटर्नशिप और नौकरियों के लिए ऑनलाइन प्लेसमेंट के लिए कई कंपनियों के साथ समन्वय कर रहा है। इनमें अमेजन, बायजस, ब्लोम्ब्रेन, कनेक्ट 2 सर्वे, आरटीडीएस, हायरटेक, स्टरलाइट, डेटामार्क, एनआईआईटी लिमिटेड, सैमसंग डिस्प्ले, हंड्रेड प्लस, वाईस्कूल, डार्क फीनिक्स स्टूडियोज (एमओ ऑन टीवी), ई-विजन टेक्नोसर्व, हैवेल्स, मोर सोलर जैसी कंपनियां शामिल हैं।'

कोविड-19 महामारी के बीच एक और सबसे बड़ी चुनौती इंटर्नशिप और जॉब प्लेसमेंट की हो रही है। आम हालात में गर्मियों के ब्रेक के दौरान, छात्र इंटर्नशिप के लिए जाते हैं और पासआउट बैचों को पूर्णकालिक नौकरियों के लिए कंपनियों के पास जाना पड़ता है, लेकिन लॉकडाउन के हालात के कारण, छात्र परिसर में नहीं हैं और कंपनियों के पास रोजगार भी सीमित हो गया है।

संबंधित खबर : दिल्ली नगर निगम के डॉक्टरों ने लिखा PM मोदी को पत्र- सेलरी दिलवा दें, 3 महीने से नहीं मिली है

वैसे अधिकांश कंपनियों ने होम मॉडल से काम करना स्वीकार कर लिया है और वे ऐसे मामलों में इंटर्नशिप और नौकरियों का विस्तार कर रही हैं। यूनिवर्सिटी प्लेसमेंट सेल ने प्लेसमेंट के अपने पहले चरण की शुरुआत कोविड-19 से पहले, अंतिम सेमेस्टर के दौरान की थी, जिसमें 52 कंपनियों ने विभिन्न स्नातकोत्तर, स्नातक और डिप्लोमा पाठ्यक्रमों के छात्रों को 257 नौकरी के ऑफर दिए।

इंडिया ने बी.टेक के प्रथम बत्रा नामक छात्र को 41 लाख रुपये के वार्षिक वेतन की प्री-प्लेसमेंट और बी.टेक की छात्रा आभा अग्रवाल को प्रति माह 80000 रुपये के स्टाइपेंड के साथ इंटर्नशिप की पेशकश की पेशकश की। अहमद अजीम ने कहा, 'मुश्किलों के मौजूदा हालात में प्रो. नजमा अख़्तर हौसला बढ़ाने के लिए अपने छात्रों और स्टाफ के साथ मजबूती से खड़ी हैं।'

Next Story

विविध

Share it