Top
सिक्योरिटी

अस्पताल में नहीं थी बिजली, मोटरसाइकिल की रौशनी में पैदा हुआ बच्चा

Janjwar Team
16 Sep 2017 7:58 PM GMT
अस्पताल में नहीं थी बिजली, मोटरसाइकिल की रौशनी में पैदा हुआ बच्चा
x

स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही, एम्बुलेंस मौके पर उपलब्ध न होने कारण नवजात बच्चे की मौत, परिजनों में सरकार के प्रति रोष, जूनियर कर्मचारी दिखे लाचार

टोहाना से नवल सिंह की रिपोर्ट

जनज्वार, फतेहाबाद। हरियाणा की टोहाना तहसील के पिरथला गांव में पीएचसी प्रशासन की बड़ी लापरवाही सामने आई है। जिसके चलते बच्चे की मौत हो गई तथा परिजनों व ग्रामीणों ने सरकार एंव प्रशासन के खिलाफ रोष बना हुआ है।

ग्रामीणों का कहना है कि पीएचसी में एंबुलैंस व बिजली की समस्या को लेकर कई बार विधायक एंव अधिकारियों को अवगत करवाया जा चुका है लेकिन कोई सुनने वाला नहीं है जिसके कारण यह समस्या गंभीर होती जा रही है।

मृतक नवजात बच्चे की मां के भाई संदीप ने बताया कि यहां ना तो यहां लाईट है ना ही यहां पर एंबुलैस है। मोटरसाईकल की लाईट जला कर डिलिवरी करवाई है और बच्चा मर चुका है। सरकार की लापरवाही है एंबुलैस भी समय पर नहीं मिली जिसकी वजह से बच्चे की मौत हो गई।

ग्रामीण भाल सिंह ने बताया कि डिलिवरी के समय लाईट चली गई, इन्वरटर फेल हो गया,इससे पहले इन समस्याओं के लिए अधिकारियों को अवगत करवा चुके हैं। स्थानीय विधायक सुभाष बराला को भी बता चुके है।

अस्पताल की स्टाफ नर्स हरमीत ने बताया कि इंन्वर्टर वाले को भेजा है वो इसे देख रहा है अभी बच्चे की माता ठीक है। बच्चे की मृत होने का कारण बच्चा जन्म के बाद रोया नहीं था, जिसके चलते उसे रैफर करना था अगर एंबुलैस मौके पर होती तो बच्चा बच सकता था।

अस्पताल के फार्मसिस्ट रमेश कुमार के मुताबिक एंबुलैंस की सेवा के लिए दो तीन बार उच्च अधिकारियों को लिख चुके है। इंन्वर्टर की खराबी के बारे में उच्च अधिकारियों को लिखा जाएगा जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्यवाही होगी।

Next Story

विविध

Share it