Top
राजनीति

बजरंग दल नेता ने डरा-धमकाकर मुस्लिम गरीब युवा से कबूलवाया गो तस्करी का जुर्म

Prema Negi
10 May 2019 5:07 AM GMT
बजरंग दल नेता ने डरा-धमकाकर मुस्लिम गरीब युवा से कबूलवाया गो तस्करी का जुर्म
x

वीडियो में दिखाई दे रहे मुस्लिम युवक का वीडियो पिछले दिनों गो तस्कर कहकर मीडिया में हुआ था वायरल, मगर सच सुनकर खड़े हो जाते हैं रोंगटे कि किस तरह उसका पैसा लूटकर, मारपीट के बाद जबरन बनाया गया वीडियो

जनज्वार। बजरंग दल नेता की अगुवाई में गो तस्कर कहकर जिस मुस्लिम युवक फिरोज की लिंचिंग की हुई कोशिश, उसकी असलियत यह कि उसके पास सर छुपाने तक के लिए नहीं है झोपड़ी। हालांकि हमारे प्रधानमंत्री मोदी अपनी लगभग हर सभा में करते हैं दावा कि उनके 5 साल के शासनकाल में ज्यादा से ज्यादा ग्रामीणों को मिला है आवास, लोगों की हालत हुई है बेहतर, गोदी मीडिया भी इसे खूब तेजी से प्रसारित करता है, मगर असलियत इस वीडियो में आपको भी नजर आ रही है।

एक जमीन पर लगभग आधे इंच की चारदीवारी ही कथित गो तस्कर मुस्लिम युवा फिरोज का मकान है, जिसमें वह अपने चाचा के लड़के के साथ रहता है। साथ ही रखे हुए हैं कुछ डिब्बे और एक बक्सा जिनमें इन दोनों की जरूरत का सामान रखा हुआ है। बारिश-ओले पड़ने पर यह दोनों भाई किसी की पलानी-झोपड़ी में शरण लेने को मजबूर होते हैं। मोदी जी की उज्जवला, आवास योजना और स्किल इंडिया की एकदम सही तस्वीर दिखता है यहां।

वीडियो में दिख रही असलियत सोचने को मजबूर करती है कि जिन लोगों को मीडिया ने बजरंग दल नेता के बयान के बाद गो तस्कर के रूप में वायरल किया आखिर उनकी तस्करी का पैसा जाता कहां है, क्यों नहीं वह अपने लिए छत का जुगाड़ तक कर पाते। आखिर क्यों नहीं नजर आता गोदी मीडिया को ऐसे लोगों का स्याह पक्ष।

घटनाक्रम के मुताबिक बजरंग दल का नेता देवराज फिरोज को गो तस्करी करने के नाम पर पकड़कर ले गया था और मार-पीटकर, डरा—धमकाकर जबरन कबूलवाया था कि ये लोग गो तस्करी करते हैं।

मीडिया में गो तस्कर के बतौर वायरल हुए फिरोज कहते हैं, 'हम लकड़ी तोड़ने गए थे, तभी बजरंग दल नेता देवराज अपने कुछ लोगों के साथ हमारे पास आये और उठाकर ले गए। हमारा 500 रुपया भी ले लिया। हमें बहुत मारा—पीटा गया और उसके बाद एक वीडियो बनवाया गया जिसमें हमसे बुलवाया गया कि हम गो तस्करी करते हैं।'

बाद में जब फिरोज ने इस मामले की शिकायत पुलिस से की तो कोई कार्रवाई नहीं हुई। इलाके में गुंडागर्दी के लिए ख्यात देवराज का भाई प्रधान है। वो लोग आए दिन ऐसी गुंडागर्दी करते रहते हैं। मगर फिरोज और उसके भाई का गुनाह ये है कि लकड़ी का धंधा करने के बावजूद उन्हें इसलिए गो तस्कर बना दिया जाता है कि गरीबी की मार झेलते ये युवा मुसलमान भी हैं। ऐसी घटनाओं को देखकर लगता है कि मुस्लिम और उपर से गरीब होना इस देश में सबसे बड़ा अभिशाप है।

यह घटना उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या के गांव से सिर्फ 4-5 किलोमीटर दूरी पर घटी थी, मगर पुलिस ने सच की तहकीकात कर बजरंग दल के गुंडों पर कार्रवाई करने की हिम्मत तक नहीं की।

Next Story

विविध

Share it