समाज

कोरोना वायरस के नाम पर भारत में कालाबाजारी शुरू

Vikash Rana
5 March 2020 5:20 AM GMT
कोरोना वायरस के नाम पर भारत में कालाबाजारी शुरू
x

विश्व स्वास्थय संगठन ने भी कहा है कि कोरोना वायरस कोविड-19 का संक्रमण फैलने के बाद से दुनिया भर में निजी बचाव साधनों की किल्लत पैदा हो गयी है। जिससे इनके दाम छह गुना तक बढ़ गए हैं...

जनज्वार। दिल्ली-एनसीआर सहित कोरोना वायरस के लगातार बढ़ रहे संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ने के बीच सर्जिकल और एंटी पॉल्यूशन मास्क की कालाबाजारी चरम पर पहुंच गयी है। दिल्ली-एनसीआर में एन 95 मास्क की किल्लत की वजह जमाऱोरी है या नहीं, सरकार इस मामले की जांच करने जा रही है।

दिल्ली में कोरोनावायरस का मामला सामने आने के बाद मास्क की मांग अचानक बढ़ने से इसके दाम भी दो से तीन गुना बढ़ चुके हैं। कारोबारी दाम बढ़ने की वजह बाजार में मास्क की किल्लत होना बता रहे हैं लेकिन कीमतों में अचानक इतनी वृध्दि के पीछे कालाबाजारी को लेकर भी संदेह हो रहा है। यही वजह है कि दिल्ली सरकार मास्क की जमाखोरी के खिलाफ सख्ती की तैयारी कर रही है।

दिल्ली के भागीरथ प्लेस के थोक दवा बाजार में दिसंबर में 60 से 70 रुपये और जनवरी-फरवरी में 100 से 120 रुपये में बिकने वाला एन-95 मास्क अब 180 से 250 रुपये में बिक रहा है। स्थानीय बाजारों में इसके दाम 300 रुपये से भी ऊपर चले गए हैं।

संबंधित खबर: कोरोनावायरस की वजह से भारतीय व्यापार पर भारी संकट, बिना कागजी कार्रवाई चीन से व्यापार की कोशिश

ही विश्व स्वास्थय संगठन ने भी कहा है कि कोरोना वायरस कोविड-19 का संक्रमण फैलने के बाद से दुनिया भर में निजी बचाव साधनों की किल्लत पैदा हो गयी है। जिससे इनके दाम छह गुना तक बढ़ गए हैं। डब्लयूएचओ ने चेतावनी दी है कि मांग बढ़ने से वायरस से निजी बचाव के साधन जैसे मास्क, दस्ताने आदि की आपूर्ति श्रृंखला बाधित हो रही है। इन साधनों की अंधाधुंध खरीद और कालाबाजारी के लिए भंडारण भी शुरू हो गया है। डब्लूएचओ का अनुमान है कि कोरोनावायरस से बचने वाले साधनों के उत्पादन में 4 प्रतिशत की बढ़ोतरी करना जरूरी है।

के दाम में लगातार वृध्दि पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सरकार इसकी जांच कराएगी और कालाबाजारी रोकने के उपाय करेगी। ऑल इंडिया केमिस्ट ऐंड डिस्ट्रीब्यूटर्स फेडरेशन के अध्यक्ष कैलाश गुप्ता ने कहा कि मास्क की मांग बढ़ने से बाजार में कम है, जिससे दाम बढ़ गए हैं। भागीरथ प्लेस के मास्क कारोबारी अमित कहते हैं कि पहले चीन से भी मास्क आ रहे थे लेकिन अब आयात ठप है। ऐसे में अब मास्क की आपूर्ति पर असर पड़ रहा है। हालांकि बाजार में मास्क की किल्लत नहीं है।

संबंधित खबर: क्या रामदेव पतंजलि को उबारने के लिए कर रहे कोरोना वायरस के नाम पर इलाज के फर्जी दावे ?

चीन में अभी तक 300 से अधिक लोगों की कोरोनावायरस के कारण मौते हो चुकी है। इसके अलावा 1400 से अधिक लोग इससे संक्रमित है। वही दुनियाभर में कोरोनावायरस के कारण 3 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। देश में अबतक इसके 29 मामले सामने आ चुके हैं। जिसके बाद केंद्र और राज्य सरकारें इसके लिए पूरी तरह से सर्तक है।एयरपोर्ट, बंदरगाहों पर भी तैयारियां पूरी हैं। अब हर आनेवाले शख्स की थर्मल स्क्रीनिंग के निर्देश है।

Next Story

विविध

Share it