Top
राजनीति

आप ने झोंकी ताकत, पेड न्यूज से लेकर सांप्रदायिकता का किया इस्तेमाल

Janjwar Team
23 Aug 2017 7:12 AM GMT
आप ने झोंकी ताकत, पेड न्यूज से लेकर सांप्रदायिकता का किया इस्तेमाल
x

आज है बवाना में उपचुनाव, आप को माना जा रहा जीत का दावेदार

विवादित सांप्रदायिक पोस्टर बना चर्चा का विषय, आप के इंकार पर प्रशांत भूषण ने किया ट्वीट कहा पहले आप सांप्रदायिक एजेंडे का करती है इस्तेमाल फिर कर देती है इंकार, 449 स्कूलों के अधिग्रहण पर खूब चला पेड न्यूज, एलजी द्वारा स्कूलों को भेजी नोटिस को मीडिया ने बताया अधिग्रहण का आदेश, चुनाव से दो दिन पहले खूब किया प्रचारित, विश्लेषक जता रहे आप की जीत की संभावना, पर तीन तलाक पर आए फैसले से मिल सकता है बीजेपी को भी लाभ, विश्लेषक कांग्रेस को नहीं मान रहे टक्कर में

बवाना उपचुनाव में आम आदमी पार्टी 'करो या मरो' की स्थिति में है क्योंकि 2015 दिल्ली विधानसभा में 67 सीट जीतने के बाद से केजरीवाल हर चुनाव में मुंह की खाते रहे हैं

दिल्ली, जनज्वार। आज 23 अगस्त को दिल्ली के बवाना विधानसभा का उपचुनाव होने जा रहा है, जिसमें आम आदमी पार्टी से लेकर भाजपा और कांग्रेस सभी ने अपनी ताकत झोंक दी है।

इस उपचुनाव की अहमियत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने चुनाव जीतने के लिए दिन रात एक कर दिए हैं और बवाना में सभाएं और रैलियों में व्यस्त हैं। वही भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष का कहना है कि नरेंद्र मोदी भी इस चुनाव पर नज़र रखे हुए हैं।

आप के लिए यह चुनाव इसलिए महत्वपूर्ण है, क्योंकि 2015 की दिल्ली की ऐतिहासिक जीत के बाद से आम आदमी पार्टी एक भी चुनाव नहीं जीती है।

आप पहले दिल्ली यूनिवर्सिटी का छात्र संघ का चुनाव, फिर पंजाब का चुनाव उसके बाद राजोरी गार्डन और अभी अप्रैल में दिल्ली नगर निगम का चुनाव लगातार हारी है। यदि आप ये उपचुनाव भी हार गई तो उसकी दिल्ली में कितनी पकड़ है, इसका पता चल जाएगा और उसके लिए दोबारा दिल्ली में चुनाव जीतना लगभग नामुमकिन होगा।

इतना ही नही विपक्षी पार्टी बीजेपी भी उस पर हावी हो जाएगी। इसके अलावा आप एलजी से लेकर पूरे सरकारी सिस्टम से आप के लिए काम निकलवाना मुश्किल हो जाएगा। इसलिए आप के लिये ये चुनाव अस्तित्व की लड़ाई बना हुआ है।

आप विधायक इमरान हुसैन का वह साम्प्रदायिक पोस्टर जिस पर वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने किया ट्वीट

पिछले दो दिनों से आप के मंत्री की फ़ोटो इमरान हुसैन और मुख्यमंत्री केजरीवाल की फोटो वाला एक विवादित मजहबी पोस्टर चर्चा का विषय बना हुआ है। इस पोस्टर में मजहब के नाम पर आप के लिए वोट मांगे गए हैं। आप का कहना है बीजेपी की उसको बदनाम करने के साजिश है। इस पोस्टर को लेकर चुनाव आयोग, पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी है।

वैसे राजनीति के जानकर और बवाना में रिपोर्टिंग कर रहे पत्रकारों का कहना है कि अभी तक आम आदमी पार्टी का पलड़ा भारी था, लेकिन कल सुप्रीम कोर्ट के ट्रिपल तलाक़ पर आए ऐतिहासिक फैसले से भाजपा को लाभ मिल सकता है। इस विधानसभा में ठीकठाक संख्या में मुस्लिम वोटर हैं। ये मुस्लिम वोटर निर्णायक भूमिका निभा सकते हैं। खास तौर पर यदि मुस्लिम महिला वोटर भाजपा को वोट डालती हैं तो भाजपा की जीत पक्की हो सकती है।

Next Story

विविध

Share it