Top
समाज

झामुमो नेता के बेटे ने सड़क किनारे पूजा कर रहे 20 लोगों को कार से रौंदा, 8 की मौत

Janjwar Team
4 March 2018 10:09 AM GMT
झामुमो नेता के बेटे ने सड़क किनारे पूजा कर रहे 20 लोगों को कार से रौंदा, 8 की मौत
x

आरोपी झामुमो नेता और चक्रधरपुर बस एसोसिएशन के अध्यक्ष का बेटा, तेज रफ्तार कार चढ़ाई पूजा कर रहे लोगों पर, मौके पर ही 4 लोगों की हुई मौत, 4 अन्य ने अस्पताल में तोड़ा दम, कई जूझ रहे हैं जिंदगी और मौत से....

चक्रधरपुर, झारखंड। वे लोग गृहशांति और नवविवाहित जोड़े के सुखी वैवाहिक जीवन की कामना के लिए सड़क किनारे पूजा कर रहे थे, मगर उन्हें नहीं पता था कि ये उनके जीवन के अंतिम पल हैं। एक बड़े बाप की बिगड़ैल औलाद की तेज रफ्तार कार ने इन 20 लोगों को रौंद डाला, जिनमें से 4 की मौके पर ही मौत हो गई, चार अन्य ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया, जबकि अन्य लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है।

यह घटना झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम जनपद के चाईबासा-चक्रधरपुर एनएच 75 पर कल शनिवार 3 मार्च की रात को लगभग आठ बजे घटी, जहां पूजा कर रहे लोगों को तेज रफ्तार कार ने कुचल दिया।

कार झामुमो नेता और चाईबासा बस एसोसिएशन अध्यक्ष प्रदीप अग्रवाल का बेटा सौरभ चला रहा था, जिसने पूजा कर रहे लोगों पर अपनी गाड़ी चढ़ा दी। प्रदीप अग्रवाल विनोद ट्रांसपोर्ट का मालिक भी है।

मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक पूजा कर रहे लोगों पर कार चढ़ने के बाद कार की रफ्तार तेज करते हुए आरोपी सौरभ ने घटनास्थल से भागने की कोशिश की, इससे कुछ और लोग भी उसकी कार के नीचे आ गए।

लोगों ने सौरभ को पकड़कर पीटा और पुलिस को सौंप दिया। मगर पुलिस पर अमीर बाप की औलाद को बचाने और उसका पक्ष लेने का आरोप भी मृतकों के परिजनों की तरफ से लगाया जा रहा है।

कहा जा रहा है कि पश्चिमी सिंहभूम में पहले इस युवक ने एक बाइक को टक्कर मारी, उसके बाद पूजा कर रहे लोगों पर कार चढ़ाकर रौंद डाला। बाइक सवार की भी मौके पर ही मौत्गं हो गई। कार के नीचे आने से गंभीर रूप से घायल हुए लोगों का अनुमंडल अस्पताल व रेलवे अस्पताल में प्राथमिक उपचार करने के बाद टीएमएच रेफर कर दिया गया है।

इस दर्दनाक और हृदयविदारक घटना पर अफसोस जताते हुए झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने दुर्घटना में मारे गये लोगों के परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की, मगर सवाल है कि आरोपी को इसके लिए शासन—प्रशासन क्या सजा तय करता है।

पुलिस ने शुरुआती छानबीन के बाद बताया कि गोईलकेरा निवासी चोमन पाठपिंगुवा का विवाह गोईलकेरा की वधू दसमा पाठपिंगुवा से एक साल पहले हुआ था। विवाह के बाद पंडित ने घर में संकट आने की बात कही थी और गृह शांति के लिए पूजा करने को कहा था। नवविवाहित जोड़े में विवाद न हो और घर-परिवार में सुख-शांति बहाल रहे, इसलिए गांव व परिवार के सदस्य गोईलकेरा से आकर बाड़दा पुल के समीप एरे पूजा कर रहे थे। पूजा कर रहे लोगों को झामुमो नेता के बेटे ने अपनी कार से रौंद डाला। घायलों और मरने वालों में सभी लोग गोईलकेरा के ही रहने वाले हैं।

Next Story

विविध

Share it