Top
समाज

मिर्ज़ापुर नाबालिग गैंगरेप में 2 सीआरपीएफ जवान शामिल, पीड़िता को ले जाने के लिए पुलिस की स्टीकर लगी गाड़ी का किया था इस्तेमाल

Prema Negi
4 Dec 2019 4:32 AM GMT
मिर्ज़ापुर नाबालिग गैंगरेप में 2 सीआरपीएफ जवान शामिल, पीड़िता को ले जाने के लिए पुलिस की स्टीकर लगी गाड़ी का किया था इस्तेमाल
x

चारों बलात्कार आरोपी नाबालिग लड़की को जबरन बिठाकर ले गये गाड़ी में, एक सुनसान जगह पर किया गैंगरेप, साथ ही पीड़िता को धमकी दी कि वह इस घटना के संबंध में किसी को ​कुछ भी न बताये...

पवन जायसवाल

जनज्वार, मिर्जापुर। पूरा देश हैदराबाद गैंगरेप कांड की नृशंसता के बाद आक्रोशित है, मगर बलात्कार की घटनायें हैं कि रुकने का नाम नहीं ले रहीं। जहां बिहार के ​बक्सर में हैदराबाद जैसा ही बलात्कार के बाद नृशंस तरीके से लड़की को जलाने का मामला सामने आया है, वहीं अब उत्तर प्रदेश के मिजापुर के हलिया थाना क्षेत्र अंतर्गत एक गांव में लड़की को अगवा कर सामूहिक दुष्कर्म की घटना सामने आयी है।

सोमवार 2 दिसंबर की रात जिगना थाना क्षेत्र के चार युवकों ने फोन से एक लड़की को उसके घर से बाहर बुलाया और फिर उसे अपनी गाड़ी में अगवा कर जंगल की तरफ भाग गये। इस मामले में ग्रामीणों की शिकायत पर गश्त पर निकली पुलिस ने चारों युवकों को किशोरी समेत पकड़ लिया और और किशोरी के परिजनों को सूचना दी। ताज्जुब की बात यह है कि जिस गाड़ी में किशोरी को आरोपी अगवा कर ले गये थे, उस पर पुलिस का स्टीकर लगा था।

सोमवार सुबह थाने पहुंचे लड़की के माता-पिता ने चारों युवकों के विरुद्ध तहरीर देकर मुकदमा दर्ज कराया है। लड़की के पिता ने तहरीर में बताया है कि चार युवकों में जयप्रकाश पुत्र बृजलाल, लवकुश कुमार पाल पुत्र राधिका प्रसाद, महेंद्र कुमार यादव पुत्र त्रिलोकी यादव, गणेश प्रसाद बिंद पुत्र रामदास हमारी लड़की को बहला-फुसलाकर घर से बुलाकर अपनी गाड़ी में बैठाकर जंगल की तरफ भाग रहे थे कि गांव के चौराहे पर पकड़ लिए गए। इन चारों ने हमारी बेटी के साथ दुष्कर्म भी किया है। चारों आरोपी युवक थाना जिगना के ही हैं।

यह भी पढ़ें : बिहार के बक्सर में युवती की हत्या कर जला दी गयी लाश, बलात्कार के बाद हत्या की आशंका

स मसले पर प्रभारी निरीक्षक देवीवर शुक्ल ने बताया कि रात में ही पुलिस को सूचना मिलने पर चारों लड़कों एवं लड़की गाड़ी समेत हलिया थाने लाया गया लड़की के पिता की तहरीर पर चारों युवकों के विरुद्ध अपराध संख्या 230/19 धारा 363,376 D 3/4 के तहत सामूहिक दुष्कर्म मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जा रही है, चारों आरोपी व गाड़ी पुलिस हिरासत में हैं। उन पर पॉक्सो एक्ट के तहत भी कार्रवाई की जायेगी।

थाना क्षेत्र में हुए सामूहिक दुष्कर्म मामले में पुलिस अधीक्षक डॉ. धर्मवीर सिंह मंगलवार 3 दिसंबर की शाम को महिला थाना प्रभारी गीता राय के साथ हलिया थाने पहुंचकर पीड़िता व उसके माता पिता से जानकारी ली। थाना क्षेत्र के एक गांव में हुए सामूहिक दुष्कर्म मामले में गिरफ्तार किए गए चारों आरोपितों में एक आरोपित की रिश्तेदारी पीड़िता के गांव में बताई जा रही है।

नाबालिग लड़की को अगवा करने करके ले जाने के लिए पुलिस की स्टीकर लगी गाड़ी का किया था इस्तेमाल

यह भी पढ़ें : हैदराबाद की हैवानियत के बाद लिखी गयी महिला पुलिस अधिकारी की इस पोस्ट को जरूर पढ़े हर लड़की

ग्रामीणों का ​कहना है कि उक्त आरोपित का पहले से गांव में आना-जाना था। सोमवार 2 दिसंबर की देर रात को वह अपने साथियों के साथ पुलिस की स्टीकर लगी गाड़ी लेकर पीड़िता के गांव पहुंचा था। चारों आरोपियों में एक वर्तमान में सीआरपीएफ सुल्तानपुर में सेवारत और पूर्व जेलर का बेटा है। सभी आरोपित जिगना थाना क्षेत्र के हैं। पुलिस अधीक्षक डॉ. धर्मवीर सिंह ने बताया कि सभी आरोपियों से गहन पूछताछ की गई है। सभी आरोपियों को मेडिकल परीक्षण के बाद जेल भेज दिया जाएगा। महिला थानाप्रभारी गीता राय ने पीड़िता का बयान दर्ज कर मेडिकल परीक्षण कराने के लिए भेजा।

गौरतलब है कि वाराणसी निवासी रिटायर्ड जेलर बृजलाल की बेटी की शादी हलिया थाने के एक गांव में हुई है। बृजलाल का बेटा जयप्रकाश मौर्य अपनी बहन के यहां आता-जाता था, जिस कारण उसकी आसपास के लोगों से पहचान हो गयी। उसकी दोस्ती गांव की ही नाबालिग हाईस्कूल की छात्रा से भी हो गई। दोनों फोन पर काफी बातें करते थे।

यह भी पढ़ें : गैंगरेप के बाद नृशंसता से पेट्रोल डाल जला दी गयी महिला डॉक्टर की मां ने की मांग, सबके सामने जिंदा जला दो मेरी बेटी के हत्यारों को

सोमवार 2 दिसंबर की रात को जयप्रकाश ने ही छात्रा को फोन करके घर से बाहर बुलाया था। नाबालिग छात्रा जब वहां पहुंची तो जयप्रकाश के साथ तीन अन्य लोग भी थे। चारों उसे जबरन अपनी गाड़ी में बैठाकर ले गये और एक सुनसान जगह पर उसका गैंगरेप किया, साथ ही उसे धमकी दी कि वह इस घटना के संबंध में किसी को ​कुछ न बताये।

ह मामला तब सामने आया जब भटवारी गांव के पास पुलिस ने चेकिंग के लिए गाड़ी रोकी और पूछताछ की। पूछताछ में लड़की ने पुलिस वालों को दुष्कर्म के बारे में बता दिया, जिसके बाद पुलिस चारों आरोपियों को पकड़कर थाने ले गयी और लड़की के पिता को थाने बुलाया। लड़की के पिता की शिकायत पर चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया।

संबंधित खबर : तेलंगाना की महिला डॉक्टर प्रियंका रेड्डी की बेरहमी से जलाकर हत्या, बुरी तरह जली लाश पुल के नीचे से हुई बरामद

गौरतलब है कि पीड़ित छात्रा की पहचान वाला आरोपी सीआरपीएफ जवान जयप्रकाश इन दिनों जिगना थाना क्षेत्र के छोटी सिहावल गांव में रहता है। इसके अलावा उसके अन्य तीन दोस्तों में महेंद्र कुमार यादव सीआरपीएफ सुल्तानपुर में तैनात है।

Next Story

विविध

Share it