Top
आंदोलन

हिंदी पत्रकारिता दिवस पर हल्द्वानी में पत्रकारों का मौन प्रदर्शन

Janjwar Team
30 May 2018 7:06 PM GMT
हिंदी पत्रकारिता दिवस पर हल्द्वानी में पत्रकारों का मौन प्रदर्शन
x

जिलाधिकारी से की मांग हल्द्वानी प्रेस क्लब में जल्द चुनाव करा नियुक्त किया जाए रिसीवर, ऐसा नहीं हुआ तो आंदोलन को बाध्य होंगे पत्रकार

हल्द्वानी, जनज्वार। आज पत्रकारिता दिवस पर पत्रकारों की 2 सूत्रीय मांगों को लेकर हल्द्वानी के पत्रकारों ने प्रेस क्लब की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए नैनीताल रोड स्थित प. गोविंद बल्लभ पुस्तकालय के प्रांगण में 10 मिनट का मौन प्रदर्शन कर अपना विरोध दर्ज कराया।

इसके पश्चात मौन प्रदर्शन कर रहे दर्जनों पत्रकारों ने मीडिया सेंटर की ओर रुख किया। मीडिया सेंटर में आयोजित बैठक में पत्रकारों को संबोधित करते हुए पत्रकार दानिश खान ने कहा कि हमने पूर्व से ही यह मांग की थी कि हल्द्वानी प्रेस क्लब की सभी पत्रकारों की सदस्यता सुनिश्चित कराई जाए, उसके उपरांत प्रेस क्लब में चुनाव कराए जाएं, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

इससक चलते आज पत्रकारों को हिंदी पत्रकारिता दिवस के अवसर पर विरोध स्वरूप मौन धरना प्रदर्शन करना पड़ा। हम जिलाधिकारी से मांग करते हैं कि हल्द्वानी प्रेस क्लब में शीघ्र रिसीवर नियुक्त कर सदस्यता अभियान चलाकर निष्पक्ष चुनाव करवाए जाएं। ऐसा न करने की स्थिति में पत्रकार आंदोलन के लिए बाध्य होंगे।

इस मौके पर पत्रकार विपिन चन्द्रा ने कहा कि पिछले 15 वर्षों से हल्द्वानी के सक्रिय पत्रकारों को अंधेरे में रख कुछ तथाकथित लोग हल्द्वानी प्रेस क्लब में स्वयंभू बने हुए हैं, जिन्हें पत्रकार अब बर्दाश्त करने की स्थिति में नहीं हैं।

पत्रकार भुवन जोशी ने कहा कि कुछ तथाकथित पत्रकार प्रेस क्लब के बैनर तले अपने धंधों को संचालित कर रहे हैं, जिन्हें बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। पत्रकार सरताज आलम ने कहा, यह प्रेस क्लब पत्रकारों की हितों की लड़ाई न लड़कर मात्र राजनीति का अखाड़ा बन गया है। इस पर रिसीवर की नियुक्ति अतिशीघ्र होनी चाहिए।

पत्रकार सुरेश पाठक ने कहा कि पिछले लंबे समय से क्लब में जो गतिविधियां हो रही हैं वह संदेह के घेरे में हैं। इसकी शिकायत प्रशासनिक अधिकारियों के अलावा पुलिस से भी की जा चुकी है। पत्रकार संजय रावत ने कहा कि प्रेस क्लब में आने जाने वाले ऐसे लोगों को भी चिन्हित किया जाए जो इस शहर के ही नहीं हैं और जिनका पत्रकारिता से कोई सरोकार नहीं है।

राजेश सरकार ने अपनी बात रखते हुए कहा कि प्रेस क्लब पत्रकारों के बैठने की जगह है, इसे किसी की निजी जागीर न बनने दिया जाएगा। कुछ पूँजीपति पत्रकारों के बीच फूट डालने का प्रयास कर रहे हैं, हमे उनके मंसूबों को कामयाब नहीं होने देना है।

पत्रकार हर्ष रावत व योगेश शर्मा ने भी इस दौरान अपने विचार रखे। इस दौरान प्रकाश भट्ट, अंकित साह, अमित चौधरी, नावेद, विनोद कुमार, कमल राजपाल, मनोज आर्य, हरीश रावत, गिरीश चन्दोला, त्रिलोक चन्द्रा, भूपेंद्र रावत, राहुल दरमवाल, शेर खान, वीरेंद्र कुमार पाल , तारा जोशी, गुड्डू रजवार, पंकज अग्रवाल समेत दर्जनों पत्रकार मौजूद रहे।

Next Story

विविध

Share it