राजनीति

क्या सेक्स एडिक्ट होने की वजह से राम रहीम को नहीं आ रही नींद

Janjwar Team
11 Sep 2017 11:21 AM GMT
क्या सेक्स एडिक्ट होने की वजह से राम रहीम को नहीं आ रही नींद
x

जेल जाने के बाद से ही लगातार राम रहीम की शिकायत है कि उनकी तबीयत ठीक नहीं है, उन्हें अच्छा नहीं लगता, रात को नींद नहीं आती और लगातार बेचैनी बनी रहती है। बीमारी के इलाज के लिए डॉक्टर भी आते रहे, लेकिन उनका रोग ठीक नहीं हो रहा है...

ऐसे में शनिवार को अन्य डॉक्टरों के साथ मनोचिकित्सक भी जेल अधिकारियों ने बुलाए। टीम में आए मनोचिकित्सकों ने राम रहीम की लंबी काउंसिलिंग के बाद नाम न छापने की शर्त पर माना कि राम रहीम को कोई और रोग नहीं बल्कि रोज संभोग की आदत है, जो नहीं मिलने पर उनके भीतर बचैनी और दूसरी तरह की शारीरिक दिक्कतें आ रही हैं। यह जानकारी जेल सूत्रों ने इंडिया टुडे वेब के पत्रकार को दी।

सेक्स मामलों के विशेषज्ञ और पिछले 20 वर्षों से ऐसे मामलों का इलाज कर रहे दिल्ली के डॉक्टर राहुल कुमार कहते हैं, 'सेक्स एक तरह की आदत है जो कुछ मामलों में व्यसन में बदल जाता है। बहुत से लोग रोज—रोज संभोग करते हैं तो कुछ लोग हफ्ते या कुछ दिनों में करते हैं और कुछ महीनों नहीं करते। इसमें से किसी भी टाइम पीरियड में किए जाने वाले संभोग को आप रोग या व्यसन नहीं कह सकते।'

डॉक्टर राहुल आगे कहते हैं, 'पर वही आदत जब पूरी नहीं होती या लाइफ में कोई व्यस्तता या लक्ष्य न रह जाए तो आदत की याद बार—बार आती है। राम रहीम के मामले में यह संभव है, क्योंकि जेल में बंद होने के बाद हजारों कामों और षडयंत्रों में लगा उनका दिमाग बिल्कुल खाली हो गया है। बार—बार उनका दिमाग संभोग की बातों पर जा सकता है, क्योंकि वह आधे—एक घंटे का वक्त उनके 24 घंटे का सबसे आनंददायी वक्त रहता होगा। जाहिर है आनंद खोने के बाद आदमी को तकलीफ, चिढ और बेचैनी तो होगी ही।'

जेल में राम रहीम के इलाज के लिए पहुंच जेल के मनोचिकित्सक के हवाले से इंडिया टुडे वेब ने लिखा है, 'बलात्कारी बाबा को 'विदड्राल सिमटम्स' है। मतलब कि उससे रोज—रोज संभोग के आनंद की आदत रही है। उसका इलाज संभव है, लेकिन अगर देर की गयी तो मुश्किल बढ़ सकती है।' हालांकि यह रोग ड्रग्स एडिक्ट और ज्यादा शराब सेवन वालों को भी होता है। ऐसे में पुलिस और डॉक्टर यह पता करने की कोशिश कर रहे हैं इसके दारू और ड्रग्स लेने की आदतें कैसी रही हैं।

मनोचिकित्सक मानते हैं कि अगर ऐसे रोगी की ठीक से इलाज और काउंसलिंग नहीं की गयी तो उसके पागल होने, हिंसक होने और आत्महंता होने के खतरे सर्वाधिक होते हैं। डेरा के पूर्व सहयोगी और सीबीआई के गवाह बन चुके गुरुदास सिंह तूर कहते हैं, '1988 तक यह शराब पीता था, लेकिन अब यह एनर्जी ड्रिंक और सेक्स टॉनिक लेता था।'

डॉक्टरों को संदेह है कि अपनी तथाकथित बेटी की जेल में साथ रहने की मांग राम रहीम संभवत: अपनी इसी संभोगी आदत के कारण कर रहा होगा। इसका खुलासा बाद में हुआ कि गोद ली बेटी हनीप्रीत से उसके शारीरिक संबंध थे। राम रहीम ने जेल जाने पर प्रशासन से मांग रखी थी कि उसके साथ जेल में हनीप्रीत को रहने दिया जाए, उसे रोज—रोज मसाज की आदत है, बगैर मसाज के राम रहीम को नींद नहीं आती।

राम रहीम को जेल में बंद हुए 15 दिन से अधिक हो चुके हैं और बेचैनी की शिकायत राम रहीम को पहले—दूसरे दिन से ही है। संभव है उनके विस्तृत चेकअप के लिए पीजीआई चंडीगढ़ भी ले जाया जाए। राम रहीम हरियाणा के रोहतक जेल में 15 साल पुराने एक बलात्कार मामले में सजायाफ्ता होने के बाद 20 साल की सजा काट रहे हैं।

Next Story

विविध