उत्तर प्रदेश

कोरोना महामारी के बीच महाराष्ट्र से यूपी लौट रहीं महिला ने चलती बस में बच्चे को दिया जन्म

Nirmal kant
23 May 2020 2:30 AM GMT
कोरोना महामारी के बीच महाराष्ट्र से यूपी लौट रहीं महिला ने चलती बस में बच्चे को दिया जन्म
x

महाराष्ट्र से उत्तर प्रदेश के लिए लौट रहीं महिला ने इंदौर में चलती बस में बच्चे को दिया जन्म, मां और बच्चे को अस्पताल में कराया गया भर्ती....

जनज्वार, इंदौर। कोविड-19 संकट के कारण कई प्रवासी श्रमिक और अन्य फंसे हुए लोग वापस अपने गाँव को लौट रहे हैं क्योंकि देशभर में आर्थिक गतिविधियाँ रुक गई हैं। शुक्रवार 22 मई को महाराष्ट्र से उत्तर प्रदेश की यात्रा के दौरान एक महिला ने बस में ही बच्चे को जन्म दे दिया। यह घटना मध्य प्रदेश के इंदौर जिले के राऊ के पास हुई।

संबंधित खबर : छिंदवाड़ा की इस महिला नर्स के साहस को सलाम, खुद गर्भवती है और क्वारंटाइन सेंटर में दे रही सेवा

माचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक नोडल अधिकारी (कोविड 19) ने बताया कि बच्चे की डिलीवरी राऊ के पास हुई। मां और बच्चा दोनों को तुरंत एक अस्पताल में भर्ती कराया गया। दोनों का स्वास्थ्य ठीक है।'

ससे पहले गुरुवार 21 मई को ऐसी ही घटना सामने आई थी जब मध्यप्रदेश से तमिलनाडु के लिए श्रमिक ट्रेन में यात्रा कर रही एक 45 वर्षीय प्रवासी श्रमिक महिला ने ट्रेन में ही बच्चे को जन्म दिया। इसकी जानकी मिलने के बाद ट्रेन को आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा रेलवे स्टेशन पर रोक दिया गया था।

तरह 21 मई की रात छत्तीसगढ़ का एक प्रवासी परिवार भी मध्यप्रदेश से ट्रक में लौट रहा था। इसमें एक गर्भवती महिला भी सवार थीं। सफर के दौरान अंजनिया से बिछया पहुंचते समय उसे प्रसव पीड़ा शुरू हो गई। जिस पर ट्रक पर सवार दूसरी महिला ताई बनकर महिला की मदद की और स्वस्थ बधो को महिला ने जन्म दिया।

संबंधित खबर : ओडिशा में गर्भवती महिला ने अम्फान के कहर के बीच अग्निशमन वाहन में जन्मा बच्चा

र्भवती महिला सावन पटेल को होशंगाबाद से बिलासपुर जिला के सिलपहरी गांव आना था। वह मंडला से रात में ट्रक में बैठी थी। ट्रक कुछ देर ही चल पाया था कि उसे प्रसव पीड़ा होने लगी बावजूद हालात देख वह किसी से कुछ कह नहीं सकी। उसी ट्रक में एक महिला प्रमिला भी थीं जिसने जानकारी मिलने पर महिला को हिम्मत दी और स्वयं एक डॉक्टर की भूमिका निभाई। अंततः चलते ट्रक में ही महिला ने बिछिया के पास एक नवजात शिशु को जन्म दिया।

Next Story

विविध