Top
राजनीति

सुप्रीम कोर्ट में बेनतीजा रही जज लोया की मौत मामले की सुनवाई

Janjwar Team
3 Feb 2018 10:20 AM GMT
सुप्रीम कोर्ट में बेनतीजा रही जज लोया की मौत मामले की सुनवाई

सोहराबुदद्दीन शेख एनकाउंटर मामले की सुनवाई करने वाले जज बीएच लोया की मौत मामले में थी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, अगली सुनवाई 5 फरवरी को

गुजरात के सोहराबुद्दीन शेख फर्जी इनकाउंटर मामले में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की बताई जाती है संलिप्तता, जज लोया के पैरोकारों का मानना है कि जज लोया की मौत नहीं हत्या की गयी थी

जनज्वार, दिल्ली। जज बीएच लोया की मौत मामले की सुनवाई कर रहे सुप्रीम कोर्ट ने कल 2 फरवरी को कहा कि अगली सुनवाई पर जिरह होगी। अगली सुनवाई अदालत ने 5 फरवरी को निर्धारित की है। केस की सुनवाई चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के अलावा जस्टिस एएम खानविलकर और जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें : जस्टिस लोया के दोस्त और पूर्व जज ने कहा मेरी भी हो सकती है हत्या

सुप्रीम कोर्ट में लोया की मौत मामले में जांच की दो याचिकाएं दाखिल की गयी हैं। एक याचिका महाराष्ट्र के जर्नलिस्ट बीआर लोन की ओर से दाखिल की गयी है तो दूसरी कांग्रेस नेता तहसीन पूनावाला ने दायर की है।

यह भी पढ़ें : सुप्रीम कोर्ट के जजों ने आज पलट दिया इतिहास, मुख्य न्यायाधीश के खिलाफ मीडिया के सामने बुलंद की आवाज

गौरतलब है कि लोया की मौत पर उनकी बहन ने सवाल खड़े किए थे। उन्होंने मौत को हत्या तक कहा था। हालांकि इस मामले में तब मोड़ आया था जब उनके बेटे ने हालांकि, पिछले दिनों लोया के बेटे ने अपने पिता जस्टिस लोया की मौत को स्वाभाविक मौत करार देते हुए इस पर सिसायत न करने की मीडिया में अपील की थी।

यह भी पढ़ें : जज लोया की मौत मामले में सरकार द्वारा सुप्रीम कोर्ट में जमा दस्‍तावेजों में गड़बड़ी

इस मामले में तब और गंभीरता आई थी जब सुप्रीम कोर्ट के चार जजों जस्टिस जे चेलमेश्वर, रंजन गोगोई, कुरियन जोसेफ और एमबी लोकुर ने 12 जनवरी को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा पर काम का बंटवारा ढंग से नहीं करने का आरोप लगाया और कहा कि जज लोया का केस किसी सीनियर जज के पास जाना चाहिए, जबकि चीफ जस्टिस ने सुनवाई के लिए जूनियर जज की बेंच के पास भेजा।

यह भी पढ़ें : लोया प्रकरण की सुई सिर्फ अमित शाह तक नहीं जाती

जस्टिस लोया की मौत और जूनियर जज को केस सौंपने पर सवाल उठने के बाद इस केस की सुनवाई चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अगुआई वाली बेंच द्वारा की जा रही है। इसमें चीफ जस्टिस के अलावा जस्टिस एएम खानविलकर और जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ इस मामले में सुनवाई करेंगे।

यह भी पढ़ें : 20 साल बाद कोई यह न कहे कि हमने अपनी आत्मा बेच दी थी : जस्टिस चेलामेश्वर

Next Story

विविध

Share it