Top
जनज्वार विशेष

देश के लोगों को इंतजार है इन बलात्कार के आरोपियों-दोषियों के 'एनकाउंटर' का !

Vikash Rana
7 Dec 2019 9:10 AM GMT
देश के लोगों को इंतजार है इन बलात्कार के आरोपियों-दोषियों के एनकाउंटर का !
x

बलात्कार के आरोपियों को मारना सही था या गलत, इसका फैसला न्यायलय और कानून करेगा। लेकिन हर आरोपी को जान से मारने का पुलिस के पास हक है तो लंबे समय से चल रहे हाईप्रोफाइल आरोपियों और दोषियों के साथ अभी तक ऐसा क्यों नहीं किया गया...

जनज्वार। हैदराबाद में डॉक्टर के साथ हुए रेप और हत्या के मामले पर पुलिस ने चारों आरोपियों को 6 दिसंबर को एनकाउंटर में ढ़ेर कर दिया था। मामले को लेकर पुलिस का कहना था कि वह चारों आरोपियों को क्राइम सीन को रीक्रिएट करने के लिए ले जा रही थी जिस दौरान आरोपियों ने भागने की कोशिश की फिर पुलिस ने उन्हें गोली मार दी।

नकाउंटर को लेकर हैदराबाद के पुलिस आयुक्त वीसी सज्जनार ने कहा कि चारों अभियुक्तों ने लकड़ी और पत्थरों से हमारे ऊपर हमला कर दिया था। इन लोगों ने हमारे दो पुलिसकर्मियों के हथियार छीन कर फायरिंग शुरू कर दी थी। हमारी चेतावनी के बाद भी वह रुके नहीं जिसके बाद जवाबी कार्रवाई में चारों लोगों की मौत हो गई, साथ ही हमारे दो पुलिस अधिकारी भी घायल हुए हैं। मैं केवल इतना कहना चाहता हूं कि कानून ने अपना दायित्व निभाया है।

लात्कार के आरोपियों को मारना सही था या गलत, इसका फैसला न्यायालय और कानून करेगा। लेकिन हर आरोपी को जान से मारने का पुलिस के पास हक है तो लंबे समय से चल रहे हाईप्रोफाइल आरोपियों और दोषियों के साथ अभी तक ऐसा क्यों नहीं किया गया। ऐसे ही कुछ आरोपी थे जिनके ऊपर रेप, बलात्कार जैसे गंभीर आरोप हैं जिसमें से कुछ आरोपी जेल में बंद हैं।

आसाराम बापू

गस्त 2013 में आसाराम के ऊपर जोधपुर में उनके ही आश्रम में नाबालिग युवती ने आसाराम पर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया था। दो दिन के बाद नाबालिग युवती के पिता ने आसाराम के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। इसके अलावा आसाराम के दो रिश्तेदार दिपेश और अभिषेक वाघेला ने 2008 मे रहस्यमयी परिस्थितियों में मोटेरा आश्रम के समीप मृत पाए गए थे। जिसके बाद राज्य की सीआईडी ने इस मामले में वर्ष 2009 में आसाराम के समर्थकों पर मामले दर्ज किए थे। लेकिन आसाराम की असलियत तब पता चली जब उसे राजस्थान में नाबालिग के साथ बलात्कार के मामले में आसाराम को गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद सूरत की ही दो बहनों ने भी आसाराम और उसके बेटे नारायण साई पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था।

सूरत पुलिस ने 6 अक्टूबर 2013 को दो बहनों की शिकायतों पर आसाराम और नारायण साई पर मामला दर्ज किया था। साथ ही आसाराम के समर्थकों पर भी बलात्कार के मामलों में गवाहों को धमकाने के लिए पकड़ा गया था। आसाराम को नाबालिग से बलात्कार के मामले में अदालत ने दोषी ठहराया था और उसे उम्रकैद की सजा भी सुनाई थी।

नित्यानंद

दुष्कर्म के आरोपों के बाद देश छोड़कर भागा नित्यानंद अब एक देश का मालिक बन चुका है। नित्यानंद के देश छोड़कर भागे जाने के बाद से देश की सुरक्षा एजेंसियों को उसकी तलाश में जुट गई है। नित्यानंद ने ‘कैलासा’ नाम से एक देश की स्थापना भी की है।

नित्यानंद पर अहमदाबाद में अपना आश्रम योगिनी सर्वज्ञपीठम चलाने के लिए कथित तौर पर युवतियों को अगवा करने और उन्हें बंधक बनाकर अनुयायियों से चंदा जुटाने का आरोप हैं। जिसके बाद से अहमदाबाद पुलिस ने नित्यानंद के खिलाफ कर्नाटक में बलात्कार का मामला दर्ज होने के बाद नित्यानंद की छानबीन शुरू कर दी गई थी। जिसके बाद से ही नित्यानंद देश छोड़कर भाग गया है।

गुजरात पुलिस ने रेप मामले पर उसकी दो अनुयायियों साध्वी प्राण प्रियानंद और प्रियातत्व रिध्दि किरण को भी गिरफ्तार किया था। दोनों पर चार बच्चों को कथित तौर पर अगवा करने और उन्हें एक फ्लैट में बंधक बनाकर रखने का आरोप है। साथ ही पुलिस नित्यानंद के आश्रम से लापता हुई एक महिला के मामले में भी जांच कर रही है।

सके अलावा नित्यानंद के सतलोक आश्रम में जब पुलिस ने तलाशी अभियान चलाया तो पुलिस को आश्रम से कंडोम, नशीली दवा और बेहोश करने वाली गैस, अशलील किताबें समेत महिलाओं के शौचालयों में खुफिया कैमरा लगा हुआ मिला था। आश्रम से बाहर निकलने वाली महिलाओं ने आश्रम के अंदर हो रहे दुष्कर्म को लेकर कई बड़े खुलासे किए थे महिलाओं ने आरोप लगाया था कि आश्रम में रामपाल के निजी कमांडो उन्हें बंधक बनाकर उनके साथ दुराचार करते थे। इतना ही नहीं जब महिलाएं विरोध करती थीं तो उन्हें कई दिनों तक पहनने के लिए कपड़े भी नहीं दिए जाते थे। साथ ही महिलाओं को ऐसी जगह रखा जाता था जहां तक किसी को उनकी आवाज नहीं पहुंच सकती थी।

राम रहीम

राम रहीम हरियाणा के सिरसा में स्थित आध्यात्मिक संस्था डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख रहे। 25 अगस्त 2017 को यौन शोषण के मामले में अदालत द्वारा राम रहीम को दोषी करार दिया गया था। इस मामले में राम रहीम को 20 साल का कारावास की सजा और 65 लाख रुपए का जुर्माने की सजा सुनाई गई थी। साथ ही राम रहीम को पत्रकार राम चन्द्र छत्रपति हत्या कांड को लेकर 11 जनवरी 2019 का दोषी करार दिया गया था। वही जनवरी 2019 को सीबीआई की विशेष अदालत ने राम रहीम पर उम्र कैद की सजा सुनाई थी। इस घटना में रेप पीड़िता की मौसी और चाची दोनों की मौत हो गई थी। कार दुर्घटना को लेकर पीड़िता के परिवार ने सेंगर पर साजिश रचने का आरोप भी लगाया था। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने उन्नाव केस से जुड़े सभी मामलों को दिल्ली ट्रांसफर करने और 45 दिनों में ट्रायल पूरा करने का आदेश दिया था।

नारायण साईं

साराम और उसके बेटे नारायण साई पर सूरत की दो बहनों ने जहांगीरपुरा पुलिस चौकी में रेप की शिकायत दर्ज कराई थी। नारायण साई पर छोटी बहन ने शिकायत दर्ज कराते हुए आरोप लगाया था कि 2002 से 2005 के दौरान नारायण साई ने कई बार उसका यौन उत्पीड़न किया था। जबकि बड़ी बहन ने आसाराम के खिलाफ शिकायत दर्ज कराते हुए कहा था कि 1997 से 2006 के बीच अहमदाबाद के आश्रम में रहने के दौरान युवती का कई बार यौन उत्पीड़न किया गया था। जिसके बाद निचली अदालत ने नारायण साई को दोषी ठहराते हुए उसे आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी।

दाती महाराज

पने आप को शनि देव का भक्त बताने वाले धर्मगुरू दाती महाराज पर अपने ही आश्रम में रहने वाली एक शिषया के साथ बलात्कार करने का आरोपी है दांती। ऐसे सब दुष्कर्म को करने का मामला दाती महाराज पर पहली बार नहीं है इससे पहले भी दांती महाराज पर भी युवती के साथ दुष्कर्म करने और अनाथ लड़कियों के साथ रेप करने मामले को लेकर साकेत कोर्ट में केस चलते आ रहे है। शनिधाम के संस्थापक दाती महाराज के खिलाफ उनकी एक शिष्या ने यौन शौषण के आरोप लगाए थे। जिसक लेकर पीड़ित महिला ने दिल्ली पुलिस के पास शिकायत दर्ज भी कराई थी।

स्वामी चिन्मयानंद

रेप के आरोप में गिरफ्तार स्वामी चिन्मयानंद यूपी के गोंडा का रहने वाला है। और भाजापा के कद्दावर नेताओं में शामिल हैं। चिन्मयानंद पर एसएस लॉ कॉलेज की एक छात्रा ने चिन्मयानंद के खिलाफ वीडियों जारी कर यौन शोषण और दुष्कर्म जैसे बड़े आरोप लगाए थे। इससे पहले भी एक महिला ने 2011 में चिन्मयानंद पर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया था

कुलदीप सिंह सेंगर

न्नाव की युवती ने 2017 में तत्कालीन विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर कथित तौर पर बलात्कार करने का आरोप लगाया था इस मामले में कार्रवाई ना होने पर युवती ने सीएम आवास पर खुदकुशी करने की कोशिश की थी जिसके बाद मामले को गंभीरता से लिया जाने लगा था। मीडिया में मामला आने के बाद कुलदीप सिंह सेंगर की गिरफ्तारी हुई थी। इस साल 28 जुलाई को उत्तर प्रदेश के रायबरेली में पीड़िता सड़क हादसे की शिकार हो गई थी जिसके बाद दिल्ली के एम्स अस्पताल में उसका इलाज चला था हादसे मे पीड़िता के अलावा उसके वकील भी गंभीर रुप से घायल हुआ था साथ ही दो महिला रिश्तेदारों की मौत भी हो गई थी। सेंगर के अलावा तीन अन्य आरोपी भी है जो फिलहाल जमानत पर बाहर हैं।

ज्योति गिरी महाराज

रियाणा के गुरुग्राम में बहेडा कला गांव के बाबा ज्योतिगिरी महाराज पर कई महिलाओं के साथ यौन शोषण में संलिप्त पाए जाने पर उनके खिलाफ कई केस चल रहे है। दरअसल बाबा ज्योतिगिरी महाराज के तमाम अश्लील वीडियों सोशल मीडिया पर वायरल हुए थे। जिसके बाद ज्योतिगिरी महाराज पर पुलिस ने महाराज के खिलाफ शिकायत दर्ज की थी। इस मामले में वीडियों फैलाने वालों के खिलाफ भी एफआईआऱ दर्ज की गई थी।

Next Story
Share it