Top
बिहार

जनज्वार की खबर का असर, वीडियो देख बिहार प्रशासन बोला कोरोना देवी नहीं डायन

Raghib Asim
1 Jun 2020 4:25 PM GMT
जनज्वार की खबर का असर, वीडियो देख बिहार प्रशासन बोला कोरोना देवी नहीं डायन
x

सोशल मीडिया पर एक महिला वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें कोरोना को देवी या माता कहने का अफवाह फैलायी गयी है। इसके बाद कई गांवों की महिलाओं ने कोरोना वायरस को कोरोना माता समझकर पूजा-अर्चना शुरू कर दी...

पटना, जनज्वार। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस को लेकर सोशल मीडिया के माध्यम से तरह-तरह के अफवाहें फैलायी जा रही है। अब सोशल मीडिया के एक अफवाह ने कोरोना जैसे खतरनाक संक्रमण को माता देवी का दर्जा दे दिया हैं। इतना नहीं गांव की महिलाओं ने कोरोना को देवी मानकर पूजा-अर्चना भी कर रहीं है।

स खबर को जनज्वार ने प्रमुखता से प्रकाशित किया था और इसका वीडियो भी जारी किया था। बताया था कि समुचित इलाज न मिलने के कारण समाज अंधविश्वास का सहारा ले रहा है और महिलायें देवी के तौर पर कोरोना की पूजा कर रही हैं, ताकि उसका प्रकोप कम हो।

ह वीडियो और खबर सामने आने के बाद सिविल सर्जन डॉ. माधवेश्वर झा की रिलीज सामने आयी। उन्होंने कहा कि ऐसे समय इस अफवाह से बचने की आवश्यकता है। कोरोना कोई देवी या माता नहीं है। यह जागरूकता की कमी का प्रमाण है कि ऐसी अफवाह फैलायी गयी है। कोरोना कोई दैविक प्रकोप नहीं है, बल्कि यह खतरनाक संक्रामक बीमारी है। जो किसी भी व्यक्ति को हो सकता है। यह संक्रमण किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकता है।

सीएस ने कहा कि कोरोना वायरस से बचाव को लेकर स्वास्थ्य विभाग व जिला प्रशासन की ओर से तमाम प्रयास किये जा रहें है। कोरोना से बचाव के लिए सामाजिक दूरी, मास्क का प्रयोग, भीड़-भाड़ जगहों पर जाने से परहेज करना, हाथों की नियमित धुलाई तथा आस-पास साफ-सफाई ही कारगर उपाय है।

जनज्वार का वो वीडियो जिसके बाद जागा बिहार प्रशासन

[embed]https://www.facebook.com/janjwar/videos/286236939091146/[/embed]

क्या है मामला

रअसल आजकल सोशल मीडिया पर एक महिला वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें कोरोना को देवी या माता कहने का अफवाह फैलायी गयी है। जिसके बाद कई गांवों की महिलाओं ने कोरोना वायरस को कोरोना माता समझकर पूजा-अर्चना शुरू कर दी। यह महज एक अफवाह है। इस पर ध्यान देने की आवश्यकता नहीं है।

जिम्मेदार बने और कोरोना के संक्रमण से बचें:

सरकार द्वारा शुरू से ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की सलाह दी जा रही है। ऐसा कर आप स्वयं को सुरक्षित रखने के अलावा सामुदायिक संक्रमण की स्थिति उत्पन्न होने से रोक सकते हैं. जरुरी सावधानियां अपनाकर आप खुद के अलावा अपने परिवार को और समुदाय को कोरोना के संक्रमण से बचा सकते हैं।

इन बातों का रखें ख्याल:

• मास्क को साबुन एवं गर्म पानी से धोकर धूप में सुखाएं

• सिर्फ एक बार के उपयोग के लिए बने मास्क का दोबारा इस्तेमाल न करें

• हाथों को साफ़ पानी एवं साबुन से बार-बार धोते रहें

• किसी से भी हाथ मिलाने से परहेज करें

• घर का सामान जैसे बर्तन, पानी का ग्लास, बिस्तर, तौलिया या अन्य उपयोग की जाने वाली चीजों को घर के दूसरे सदस्य के साथ साझा न करें

• संक्रमित व्यक्ति के लिए अलग से थाली रखें एवं इसे अलग से गर्म पानी से अच्छी तरह धोएं

• अपने मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु एप्प का उपयोग करें

• किसी भी अन्य व्यक्ति का प्रवेश अपने घर में नहीं होने दें

• आपको या आपके परिवार के किसी भी सदस्य में यदि कोविड-19 के लक्षण दिखाई देते हैं तो इसकी सूचना आशा को तत्काल दें

• आपके घर से केवल एक व्यक्ति ही जरुरी सामानों की खरीदारी के लिए घर से बाहर जाए

• घर से निकलते समय मास्क का प्रयोग करें एवं वापस लौटने पर हाथों को साबुन से अच्छी तरह धोएं

Next Story

विविध

Share it