राजनीति

सीरम के कोरोना वैक्सीन 'कोविशिल्ड' प्लांट में आग लगने से अब तक 5 की मौत, मृतकों की नहीं हो पा रही पहचान

Janjwar Desk
21 Jan 2021 1:04 PM GMT
सीरम के कोरोना वैक्सीन कोविशिल्ड प्लांट में आग लगने से अब तक 5 की मौत, मृतकों की नहीं हो पा रही पहचान
x

photo : social media

आग पर अब काबू पा लिया गया है, मगर इसमें जलकर 5 की मौत हो चुकी है, आशंका जतायी जा रही है कि मरने वालों का आंकडा कहीं ज्यादा हो सकता है, लाशों की पहचान अभी नहीं की जा सकी है....

जनज्वार। महाराष्ट्र के पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) के टर्मिनल एक गेट में आज 21 जनवरी को आग लगने से 5 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है। दमकल की लगभग 15 गाड़ियां रेस्क्यू के लिए वहां अभी भी मौजूद हैं।

अब आग पर अब काबू पा लिया गया है, मगर इसमें जलकर 5 की मौत हो चुकी है। आशंका जतायी जा रही है कि मरने वालों का आंकडा कहीं ज्यादा हो सकता है। लाशों की पहचान अभी नहीं की जा सकी है।

महाराष्ट्र में हुयी इस घटना पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि शुरुआती तौर पर ऐसा प्रतीत होता है कि आग किसी बिजली की गड़बड़ी के चलते लगी होगी। सूचना सामने आ रही है कि हालांकि इसमें मरकर 5 की मौत हो चुकी है, मगर कोविड वैक्सीन अब भी सुरक्षित है। आग वैक्सीन यूनिट में नहीं लगी थी।

मीडिया में सामने आयी जजानकारी के मुताबिअक पुणे के मंजरी स्थित एसआईआई के नए प्लांट में आग लग गयी थी। गौरतलब है कि 300 करोड़ की लागत से बने इस प्लांट में बड़े पैमाने पर कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड का उत्पादन किए जाने की योजना पर काम हो रहा था।पिछले साल ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने इस प्लांट का उद्घाटन किया था। ऑक्‍सफोर्ड यूनिवर्सिटी और ब्रिटिश-स्‍वीडिश फॉर्मा कंपनी एस्‍ट्राजेनेका के सहयोग से विकसित इस वैक्‍सीन का निर्माण सीरम इंस्‍टीट्यूट में किया जा रहा है।

इस घटना के बाद सीरम के सीईओ अदार पूनावाला ने कहा कि चिंता और प्रार्थनाओं के लिए सभी को धन्यवाद। अब तक की सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आग लगने से कोई जनहानि या बड़ी क्षति नहीं हुई है, हालांकि कुछ मंजिलों को नुकसान पहुंचा है। मगर पूनावाला के दावे के विपरीत 5 मौतों की पुष्टि हो चुकी है।

पूनावाला ने कहा कि मैं सरकार और सभी जनता को आश्वस्त करना चाहता हूं कि कई उत्पादन भवन होने के कारण कोविशील्ड के उत्पादन पर कोई प्रभाव नहीं होने वाला है। इस तरह की घटनाओं से निपटने के लिए हम पूरी कोशिश करेंगे। उन्होंने पुणे पुलिस और फायर डिपार्टमेंट का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि इससे वैक्सीन उत्पादन पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

5 मौतों की पुष्टि होने के बाद अदार पूनावाला ने एक अन्य ट्वीट में कहा, 'हमें अभी कुछ परेशान करने वाले अपडेट मिले हैं। आगे की जांच में पता चला है कि इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना में कुछ लोगों की जान गई है। हमें गहरा दुख हुआ है और दिवंगत के परिवार के सदस्यों के प्रति हमारी गहरी संवेदना है।'

गौरतलब है कि सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) देश ही नहीं, दुनिया का सबसे बड़ा वैक्‍सीन निर्माता है। इसका परिसर करीब 100 एकड़ क्षेत्र में फैला हुआ है, जिस मंजरी कॉम्‍पलेक्‍स में आग लगी थी, वह वैक्‍सीन फैकल्‍टी के स्‍थान से कुछ मिनट की ही दूरी पर है। जानकारी के मुताबिक इसे स्‍पेशल इकोनॉमिक जोन का हिस्‍सा माना जा रहा है। भविष्‍य की महामारियों से निपटने के लिए मंजरी कॉम्‍पलेक्‍स में आठ-नौ भवनों का निर्माण किया जा रहा है, जिसका उद्देश्‍य SII की वैक्‍सीन निर्माण क्षमता को बढ़ाना है।

Next Story

विविध

Share it