राजनीति

Char Dham Yatra 2022 : 'मोक्ष प्राप्ति के लिए उत्तराखंड आकर मर रहे हैं लोग,' भाजपा प्रवक्ता ने दिया बेतुका बयान

Janjwar Desk
14 May 2022 11:30 AM GMT
Char Dham Yatra 2022 : मोक्ष प्राप्ति के लिए उत्तराखंड आकर मर रहे हैं लोग, भाजपा प्रवक्ता ने दिया बेतुका बयान
x

Char Dham Yatra 2022 : 'मोक्ष प्राप्ति के लिए उत्तराखंड आकर मर रहे हैं लोग,' भाजपा प्रवक्ता ने दिया बेतुका बयान

Char Dham Yatra 2022 : शादाब शम्स ने कहा जो भी श्रद्धालु चारों धामों में यात्रा के लिए आ रहे हैं धार्मिक मान्यताओं के चलते उनका मानना है यदि यहां पर उनकी मृत्यु हो जाती है तो उन्हें मोक्ष की प्राप्ति होगी....

Char Dham Yatra 2022 : उत्तराखंड में चल रही चारधाम यात्रा (Char Dham Yatra) के दौरान अभी तक हुई ढाई दर्जन मौतों के बारे में चौंका देने वाला सनसनीखेज खुलासा हुआ है। खुलासे के मुताबिक अभी तक हुई जिन मौतों को स्वास्थ्य विभाग की खामियों और राज्य सरकार (Govt.Of Uttarakhand) की काहिली बताया जा रहा था उसके बजाए इन मौतों के पीछे देश भर के लोगों का जबरन उत्तराखंड आकर मोक्ष प्राप्त करना मुख्य वजह है। पाठकों को सुनने और पढ़ने में भले ही यह किसी वॉट्सएप यूनिवर्सिटी की गप्प सरीखी कथा लगे लेकिन यह दावा बेहद संजीदगी से भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता शादाब शम्स (BJP Spokesperson Shadab Shams) ने एक वीडियो में किया है।

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता शादाब शम्स ने उत्तराखंड की चारधाम यात्रा (Char Dham Yatra 2022) में हो रही मौतों के बाद राज्य सरकार की तरफ उठती उंगलियों के बीच भाजपा (BJP) की ओर से सफाई देते हुए कहा कि चारधाम यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं की मौत धार्मिक आस्था की वजह से हो रही है। जिन श्रद्धालुओं की यात्रा के दौरान मृत्यु हुई है वह लोग बद्रीनाथ-केदारनाथ (Badrinath- Kedarnath) में अपनी आस्था प्रकट करते हुए मोक्ष के लिए चारधाम यात्रा पर आते हैं। ऐसे तीर्थयात्री भगवान के दर्शन की आस में अपनी बीमारी को जानबूझकर छिपाते हैं, जिससे उन्हें दर्शन हो जाये। यही वजह है कि उनकी मृत्यु हो रही है।

शादाब शम्स ने कहा जो भी श्रद्धालु चारों धामों में यात्रा के लिए आ रहे हैं धार्मिक मान्यताओं के चलते उनका मानना है यदि यहां पर उनकी मृत्यु हो जाती है तो उन्हें मोक्ष की प्राप्ति होगी। यही कारण है श्रद्धालु अपनी बीमारी को छुपाते हुए बहानेबाजी करके दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं। और गंभीर बीमारी की वजह से उनकी मृत्यु हो जा रही है।

इसके साथ ही शम्स राज्य सरकार की प्रशंसाओं के पुलिंदे बांधते हुए कहते हैं कि सरकार की ओर से चारधाम यात्रा पर आने वाले तीर्थयात्रियों के लिए बेहतर व्यवस्थाएं चारों धामों में की गई हैं। सरकार की ओर से यात्रा को सफल बनाने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं।

दूसरी तरफ भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता शादाब शम्स का यह बेतुका बयान आते ही कांग्रेस ने भारतीय जनता पार्टी पर जमकर हमला शुरू कर दिया है। कांग्रेस की प्रदेश प्रवक्ता प्रतिमा सिंह ने कहा कि शादाब शम्स अपना मानसिक संतुलन खो बैठे हैं। उन्हें मोक्ष की परिभाषा तक का ज्ञान नहीं है। राज्य सरकार की खामियों को छिपाने के लिए वह इस तरह का बेतुका बयान दे रहे हैं। जो उनकी अज्ञानता को बता रहा है। शादाब शम्स के इस बयान पर भाजपा को माफी मांगनी चाहिए।

यहां बता दे कि चारधाम यात्रा (Char Dham Yatra 2022) पर आने वाले तीर्थयात्रियों को ऊंचाई वाले स्थानों पर ऑक्सीजन की कमी से जूझना पड़ रहा है। यात्रा शुरू हुए अभी एक पखवाड़ा भी नहीं हुआ है। लेकिन तीर्थयात्रियों की मौत का आंकड़ा ढाई दर्जन से ऊपर पहुंच गया है। स्थिति की गंभीरता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है इस बाबत पीएमओ स्तर से भी रिपोर्ट तलब की जा चुकी है। लचर स्वास्थ्य सेवाओं के चलते हो रही इन मौतों का सिलसिला थम नहीं रहा है। अलबत्ता पुलिस विभाग की ओर से मेले में खोए-पाए लोगों की तर्ज पर परिजनों से बिछड़े, पर्स की गुमशुदगी जैसे मामले शॉर्ट आउट करके फेसबुक के माध्यम से उनकी ब्रांडिग कर सरकार का महिमामंडन जरूर किया जा रहा है।

Next Story