Top
राजनीति

नंदीग्राम में रिटर्निंग ऑफिसर ने जताया था जान को खतरा, मेरे साथ हुआ है धोखा : ममता बनर्जी का दावा

Janjwar Desk
3 May 2021 11:57 AM GMT
नंदीग्राम में रिटर्निंग ऑफिसर ने जताया था जान को खतरा, मेरे साथ हुआ है धोखा : ममता बनर्जी का दावा
x

जनज्वार। कल 2 मई को ममता बनर्जी के नेतृत्व में टीएमसी ने 200 से भी ज्यादा सीटें जीतकर बेशक इतिहास रचा है, मगर खुद ममता बनर्जी की हार को वो खुद भी नहीं पचा पा रही हैं। अब नंदीग्राम सीट से कभी अपने करीबी रहे शुभेंदु अधिकारी से हारने के बाद ममता बनर्जी ने बड़ा आरोप लगाया है।

ममता बनर्जी का दावा है कि नंदीग्राम के चुनाव परिणामों में भारी गड़बड़ी की गयी है। उनके साथ धोखा हुआ है। ममता बनर्जी के मुताबिक, 'मेरे पास किसी ने मैसेज भेजा था कि नंदीग्राम के रिटर्निंग ऑफिसर ने किसी को लिखा था कि यदि उनकी ओर से रिकाउंटिंग का आदेश दिया गया तो जान को खतरा हो सकता है। 4 घंटों तक के लिए सर्वर डाउन हो गया था। यहां तक कि गवर्नर ने भी मुझे बधाई दी थी, इसके बाद अचानक ही हर चीज बदल गई।'

ममता बनर्जी का कहना है कि उन्होंने टीएमसी के कार्यकर्ताओं से हिंसा न करने की अपील की है, मगर केंद्रीय बलों और बीजेपी ने हमारा उत्पीड़न किया है।

ममता बनर्जी ने कहा, 'मैं सभी से अपील करना चाहती हूं कि शांति बनाए रखें और हिंसा में शामिल न हों। हम जानते हैं कि बीजेपी और केंद्रीय बलों ने हमारा बहुत उत्पीड़न किया है, लेकिन हमें शांति बनाए रखनी है। फिलहाल हमें कोरोना वायरस से लड़ना है।'

इसके साथ ही ममता बनर्जी ने पीएम मोदी को भी कटघरे में खड़ा किया है। उन्होंने कहा कि जीत के बाद पीएम मोदी ने मुझे कॉल तक नहीं किया। यह पहला मौका है, जब किसी राज्य में परिणाम के बाद प्रधानमंत्री की ओर से फोन तक नहीं किया गया।

हालांकि कल 2 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर ममता बनर्जी को बधाई दी थी। पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा था, 'पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस की जीत के लिए ममता दीदी को बधाई। कोविड-19 के खिलाफ विजय हासिल करने और लोगों की आकांक्षाओं की पूर्ति के लिए पश्चिम बंगाल सरकार को केंद्र की ओर से हरसंभव सहयोग जारी रहेगा।'

ममता बनर्जी ने कहा है कि नंदीग्राम सीट पर नतीजे के खिलाफ वो कोर्ट जायेंगी। एक बार औपाचारिक तौर पर ऐलान के बाद नंदीग्राम सीट पर फैसला कैसे बदल गया।'

टीएमसी की बंपर जीत के बाद बंगाल में हुई हिंसा के आरोपों पर भी ममता बनर्जी ने सफाई दी है। उनके मुताबिक चुनाव परिणाम के बाद तृणमूल पार्टी के कार्यकर्ताओं पर हिंसा फैलाने के जो आरोप लग रहे हैं, उन्हें मैं सिरे से खारिज करती हूं।

ममता बनर्जी ने दावा किया कि 'बीजेपी की ओर से दंगों की पुरानी तस्वीरें शेयर की जा रही हैं। यह उनकी आदत है। मैं किसी भी तरह की हिंसा पसंद नहीं करती हूं। आखिर बीजेपी ऐसा क्यों कर रही है? बड़े बहुमत के साथ जीत के बाद भी हमने राज्य में जश्न तक नहीं मनाया है।'

Next Story
Share it