राजनीति

UP : लाठीचार्ज पर राहुल गांधी बोले - जब भाजपा वोट मांगने आए तो जनता इसे याद रखे

Janjwar Desk
5 Dec 2021 8:51 AM GMT
UP : लाठीचार्ज पर राहुल गांधी बोले - जब भाजपा वोट मांगने आए तो जनता इसे याद रखे
x
राहुल गांधी ने घटना का कथित वीडियो साझा करते हुए हिंदी में ट्वीट किया, रोज़गार मांगने वालों को उत्तर प्रदेश सरकार ने लाठियां दीं। जब भाजपा वोट मांगने आए तो याद रखना।

नई दिल्ली। लखनऊ में रोजगार मांगने वालों पर लाठीचार्ज का मुद्दा अब गरमाता जा रहा है। यह मसला अब लखनऊ से दिल्ली पहुंच गया है। कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने लखनऊ में प्रदर्शनकारियों के एक समूह पर पुलिस के लाठीचार्ज की खबरों को लेकर रविवार को योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि रोजगार मांगने वालों को यह सरकार लाठियां बरसाती है। उन्होंने यूपी की जनता से कहा कि जब भारतीय जनता पार्टी वोट मांगने आए तो आप लोग इस बात को याद रखना।

वयनाड से सांसद राहुल गांधी ने इन खबरों को लेकर योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशाना साधा कि लखनऊ पुलिस ने शनिवार शाम को 'कैंडललाइट मार्च'निकाल रहे प्रदर्शनकारियों के एक समूह पर लाठियां चलाईं। उन्होंने घटना का कथित वीडियो साझा करते हुए हिंदी में ट्वीट किया, ''रोज़गार मांगने वालों को उत्तर प्रदेश सरकार ने लाठियां दीं। जब भाजपा वोट मांगने आए तो याद रखना।''

बता दें कि इस घटना पर सपा नेता अखिलेश यादव, भाजपा सांसद वरुण गांधी, बसपा प्रमुख मायावती पहले ही यूपी सरकार पर हमला बोल चुकी हैं। इनमें से किसी ने लाठीचार्ज बर्बरता का प्रतीक तो किसी ने होने वाले भावी शिक्षकों पर हमला बताया है। वहीं मायावती ने इसे दुखद बताते हुए योगी सरकार से जायज मांगों पर विचार करने को कहा है।

दरअसल, 69000 शिक्षक भर्ती मामले में आरक्षण घोटाले का आरोप लगाते हुए पिछले पांच महीनों से अभ्यर्थी लखनऊ के अलग-अलग हिस्सों में प्रदर्शन कर रहे हैं। शुक्रवार को इन्हीं अभ्यर्थियों पर लाठीचार्ज हुआ था। आज फिर वे अपना हक मांगने सीएम आवास पर पहुंचे। कुछ अभ्यर्थियों ने सड़क पर लेटकर विरोध प्रदर्शन किया। इस बीच वहां मौजूद पुलिस बल ने सक्रियता दिखाते हुए अभ्यर्थियों को बसों में भरकर धरना स्थल पर भिजवा दिया।

बहकावे में न आएं युवा: सतीश द्विवेदी

बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी ने कहा कि विभाग में 69 हजार सहायक शिक्षक भर्ती में अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए निर्धारित 18,598 पदों पर पूरी पारदर्शिता के साथ भर्ती की गई है, लेकिन कुछ शरारती तत्व और राजनीतिक दल युवाओं को बरगला कर उनके भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। सरकार की ओर से किसी भी विभाग में भर्ती के लिए जिन नियमों के तहत आवेदन मांगे जाते हैं, उन्हीं के तहत पूरी भर्ती प्रक्रिया पूरी की जाती है, इसे न भर्ती प्रक्रिया के दौरान बदला जा सकता है और न ही भर्ती प्रक्रिया पूरी होने के बाद।

Next Story

विविध

Share it