राष्ट्रीय

Uttar Pradesh News : यती नरसिंहानंद ने इस्लाम को बताया वायरस, बोले - AMU और मदरसों को बम से उड़ा देना चाहिए

Janjwar Desk
23 Sep 2022 3:23 PM GMT
Uttar Pradesh News : यती नरसिंहानंद ने इस्लाम को बताया वायरस, बोले - AMU और मदरसों को बम से उड़ा देना चाहिए
x

Uttar Pradesh News : यती नरसिंहानंद ने इस्लाम को बताया वायरस, बोले - AMU और मदरसों को बम से उड़ा देना चाहिए

Uttar Pradesh News : यति नरसिंहानंद ने कहा कि चीन की तरह सभी मदरसों को बारूद से उड़ा दिया जाना चाहिए, इसके बाद मदरसों के सभी छात्रों को शिविरों में भेजा जाना चाहिए ताकि कुरान नामक वायरस को उनके दिमाग से हटा दिया जाए...

Uttar Pradesh News : यूपी के अलीगढ़ में महामंडलेश्वर स्वामी यति नरसिंहानंद ने इस्लाम पर फिर एक बार बड़ा विवादित बयान दे दिया है। श्रीमद् भागवत महापुराण कथा के समापन पर नौरंगाबाद स्थित सनातन सभागार में महामंडलेश्वर ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी और मदरसों को बम से उड़ाने की बात कह दी है। बता दें कि इस बयान के बाद पुलिस ने महामंडलेश्वर नरसिंहानंद, कार्यक्रम के आयोजक हिंदू महासभा की राष्ट्रीय अध्यक्ष पूजा शकुन पांडे और राष्ट्रीय प्रवक्ता अशोक पांडे के खिलाफ थाना गांधी पार्क में मुकदमा दर्ज कर लिया है।

मदरसों को बारूद से उड़ाने की कही बात

दरअसल उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा गैर-मान्यता प्राप्त मदरसों के चल रहे सर्वेक्षण के बारे में बोलते हुए यति नरसिंहानंद ने कहा कि मदरसे जैसी संस्था नहीं होनी चाहिए। साथ ही यति नरसिंहानंद ने कहा कि चीन की तरह सभी मदरसों को बारूद से उड़ा दिया जाना चाहिए। इसके बाद मदरसों के सभी छात्रों को शिविरों में भेजा जाना चाहिए ताकि कुरान नामक वायरस को उनके दिमाग से हटा दिया जाए।

AMU को बताया इस्लाम का सबसे बड़ा गढ़

यति नरसिंहानंद सरस्वती ने कहा कि एएमयू इस्लाम का सबसे बड़ा गढ़ है। यहीं से भारत की विभाजन की नींव रखी गई थी। वहीं मुकदमा दर्ज होने पर उन्होंने कहा कि हम सच बोलते हैं, इसलिए मुकदमे दर्ज होते हैं। उन्होंने कहा कि साधुओं को सरकार की मदद की जरूरत नहीं है, हम जैसे बाहर है, वैसे ही जेल में भी है।

इस्लाम को बताया वायरस

यति नरसिंहानंद ने आगे कहा कि मदरसों की तरह अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) को भी उड़ा दिया जाना चाहिए और इसके छात्रों को डिटेंशन सेंटर भेज दिया जाना चाहिए। इनके दिमाग का भी इलाज किया जाना चाहिए। कुरान नाम का वायरस निकालना चाहिए। जानकारी के लिए आपको बता दें कि यह पहली बार नहीं है जब यति नरसिंहानंद पर अभद्र भाषा के लिए मामला दर्ज किया गया है। उन्हें इससे पहले पिछले साल हरिद्वार में अभद्र भाषा मामले में गिरफ्तार किया गया था।

Next Story

विविध