Top
समाज

बाराबंकी की नूर आलम ने एक साथ दिया 4 स्वस्थ बच्चों को जन्म, गर्भ के 7वें महीने में हुई डिलीवरी

Janjwar Desk
19 Jun 2021 9:58 AM GMT
बाराबंकी की नूर आलम ने एक साथ दिया 4 स्वस्थ बच्चों को जन्म, गर्भ के 7वें महीने में हुई डिलीवरी
x

22 साल की नूर आलम ने प्राइवेट हॉस्पिटल में एक साथ 4 स्वस्थ बच्चों को दिया है जन्म

4 नवजात बच्चों का पिता मोहम्मद आलम कुवैत में नौकरी करता है, जो पिछले वर्ष लॉकडाउन के चलते वापस गांव शुक्लाई आ गया था, तभी उसकी शादी हुयी थी, शादी के 7 महीने बाद उसकी गर्भवती पत्नी ने 4 बच्चों को जन्म दिया है...

जनज्वार। जुड़वा बच्चे पैदा होने की खबरें हमारे आसपास से अक्सर आती रहती हैं, मगर एक साथ 2 से ज्यादा बच्चे पैदा होने के केस बहुत कम होते हैं। अगर ऐसे केस होते भी हैं तो उनमें बहुत कम संभावना रहती है कि सभी बच्चे एकदम स्वस्थ पैदा हों, मगर यूपी के बाराबंकी ने एक साथ 4 स्वस्थ बच्चों को जन्म दिया है। महिला की उम्र 22 साल है।

मीडिया में आ रही जानकारी के मुताबिक राजधानी लखनऊ से सटे बाराबंकी जिले में 22 साल की महिला नूर आलम ने 4 बच्चों को एक साथ जन्मा है। शुक्रवार 18 जून की शाम एक निजी अस्पताल में लेबर पेन के बाद महिला को एडमिट कराया गया था। डॉक्टरों की टीम ने ऑपरेशन के बाद एक बेटा और तीन बेटियों का जन्म कराया है। चार स्वस्थ बच्चों की घटना मीडिया की सुर्खियां बना हुआ है और परिवार में खुशी का माहौल है।

जानकारी के मुताबिक बाराबंकी के नगर क्षेत्र में शुक्लाई गांव के रहने वाले मोहम्मद आलम की 22 वर्षीय पत्नी नूर आलम को शुक्रवार 18 जून की शाम को पल्हरी स्थित अजंता हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। इस अस्पताल के डॉक्टर अबरार ने सफल तरीके से नूर के तीन बेटियों और एक बेटे की एक साथ सफल डिलीवरी करवाई।

डॉक्टर अबरार ने मीडिया को बताया, जन्म लेने वाली एक बेटी का वजन 1 किलो 100 ग्राम और बेटे और दो बेटियों का वजन 1-1 किलो है, जो पूरी तरह स्वस्थ हैं। फ़िलहाल सभी बच्चों को एनआईसीयू (नियोनेटल इंटेंसिव केयर यूनिट) वार्ड में नार्मल ऑक्सीजन पर रखा गया है।

गौरतलब है कि इससे पहले भी बाराबंकी में ही एक साथ एक महिला ने 5 बच्चों को जन्म दिया था, वो भी नॉर्मल डिलीवरी से। 29 अप्रैल 2020 को सूरत गंज इलाके के कुतलुपुर गांव में अनीता गौतम ने दूसरी नार्मल डिलीवरी के दौरान 5 बच्चों को एक साथ जन्म दिया था।


बाराबंकी जिले के राम नगर इलाके के कुतुलपुर गांव के जिला अस्पताल में पांच बच्चों का जन्म हुआ था। नवजात शिशुओं में दो लड़के और तीन लड़कियां शामिल थीं। बच्चों के पिता कुंदन गौतम ने कहा था, मेरी पत्नी और सभी पांच बच्चे एकदम ठीक और स्वस्थ हैं। डॉक्टरों ने उन्हें बताया था कि उनकी पत्नी के जुड़वा बच्चे होंगे, लेकिन उन्होंने कभी भी एक बार में पांच बच्चों की उम्मीद नहीं की थी। बच्चे सही स्थिति में थे, इनमें से दो का वजन 1100 ग्राम था, वहीं दो का 900 ग्राम। जबकि एक बच्चा 800 ग्राम का था। इस दंपत्ति का इससे पहले एक बेटा और भी था।

एनबीटी में प्रकाशित खबर के मुताबिक बच्चों की दादी कहती है, मेरी बहू ने 4 बच्चों को जन्म दिया है, जिनमें 3 बेटियां और एक बेटा है। मेरे बेटे मोहम्मद आलम की 7 महीने पहले 21 नवंबर को शादी हुई थी। 4 नवजात बच्चों का पिता मोहम्मद आलम कुवैत में नौकरी करता है, जो पिछले वर्ष लॉकडाउन के चलते वापस गांव शुक्लाई आ गया था, तभी उसकी शादी हुयी थी। शादी के 7 महीने बाद उसकी गर्भवती पत्नी ने 4 बच्चों को जन्म दिया है।

शहर के छोटे से हॉस्पिटल के डॉक्टर अबरार कहते हैं, अस्पताल में 4 बच्चों की एक साथ डिलीवरी करना एक चुनौती था, क्योंकि सोनोग्राफी में 3 बच्चे दिख कर रहे थे और डिलीवरी में 4 बच्चे निकले। यह महिला की पहली डिलीवरी थी इसलिए मामला और भी कॉम्प्लीकेटेड और चैलेंजिंग था। डॉ. अबरार ने सहयोगी महिला डॉक्टर पंकज सिंह और डॉ योगेश सिंह के नेतृत्व में इस ऑपरेशन को सफलतापूर्वक पूरा किया। डॉक्टरों के मुताबिक बच्चों की मां और चारों बच्चे एकदम स्वस्थ हैं।

Next Story

विविध

Share it