समाज

ABP​ रिपोर्टर ज्ञानेंद्र तिवारी बागेश्वर धाम सरकार धीरेंद्र शास्त्री के इंटरव्यू पर ट्रोल, जनता बोली ABP मतलब 'असली बागेश्वरधाम प्रचारक' चैनल

Janjwar Desk
21 Jan 2023 2:48 PM GMT
ABP​ रिपोर्टर ज्ञानेंद्र तिवारी बागेश्वर धाम सरकार धीरेंद्र शास्त्री के इंटरव्यू पर  ट्रोल, जनता बोली ABP मतलब असली बागेश्वरधाम प्रचारक चैनल
x

साक्षात्कार से पहले बागेश्वर धाम सरकार के चरण स्पर्श करता एबीपी रिपोर्टर ज्ञानेंद्र तिवारी

ABP​ रिपोर्टर ज्ञानेंद्र तिवारी बागेश्वर धाम सरकार धीरेंद्र शास्त्री के इंटरव्यू पर ट्रोल, जनता बोली ABP मतलब 'असली बागेश्वरधाम प्रचारक' चैनल

Bageshwar Dham Exposed : बागेश्वर धाम दरबार में हाजिरी लगाकर प्रायोजित इंटरव्यू करने के बाद से ABP चैनल और उसके​ रिपोर्टर ज्ञानेंद्र तिवारी लगातार सोशल मीडिया पर ट्रोल हो रहे हैं। कोई चैनल को धीरेंद्र शास्त्री का दल्ला बता रहा है तो कोई पत्रकार को बिका हुआ।

गौरतलब है कि धीरेंद्र शास्त्री के अंधविश्वास और तथाकथित चमत्कार को जनज्वार 3 माह पहले ही एक्सपोज कर चुका है, जिसके तमाम वीडियो हमारे यूट्यूब चैनल पर देखे जा सकते हैं।

कांग्रेस नेता और विंग कमांडर अनुमा आचार्य (रिटायर्ड) कहती हैं, 'आनंद बाज़ार पत्रिका (ABP) न्यूज़ का नाम 'असली बागेश्वरधाम प्रचारक' चैनल रख देना चाहिये।'

अनुमा आचार्य आगे कहती हैं, 'ज़रा कल्पना तो करके देखिये कि ऋषि व्यास, वाल्मीकि, विश्वामित्र, सभी सप्तर्षि या किस और ऋषि मुनि का सामंजस्य धीरेंद्र शास्त्री जैसे असभ्य और धृष्ट वाणी वाले मानुस से किया जा सकता है! इन स्वनामधन्य बाबा जैसे अरबपति देश के ग़रीबों से ख़ूब चढ़ावा लेकर अपना साम्राज्य बढ़ाते हैं।'

पत्रकार श्याम मीरा सिंह कहते हैं, 'मीडिया का पतन इतना हो चुका है कि पैसे लेकर एक ढोंगी उसे खुले मंच से कह सकता है कि हमें सवाल पूछना बंद कर दे वर्ना नंगा कर दिया जाएगा। जिस पत्रकारिता का काम पाखंड को नंगा करना था वो ख़ुद नग्न होकर नृत्य कर रही है। पत्रकार होते तो बाबा का गला सुखा देते, भक्त और पत्रकार में अंतर है।'

पत्रकार साक्षी जोशी ने ट्वीट किया है, 'ABP NEWS का 'पत्रकार' जिस जानकारी को सुनकर बाबा जी की जय करने लगा वो सब तो खुद उसके ही Facebook प्रोफ़ाइल पर मौजूद थीं। धीरेंद्र शास्त्री ने फ़ेसबुक से टीप ली और सबको मूर्ख बनाने का प्रयास किया। ये है दिव्य दरबार का सच।'

धीरेंद्र शास्त्री एक्सपोज मामले पर वरिष्ठ पत्रकार दिलीप मंडल कहते हैं, 'हिंदू धर्म की कैसी दुर्गति हुई है कि बागेश्वर धाम वाला बाबा हिंदुओं का सबसे बड़ा बाबा बन बैठा है। हिंदू धर्म के मनीषियों को सोचना चाहिए कि हिंदू धर्म इस हाल में कैसे पहुँच गया कि एक उजड्ड, मूर्ख, मुँहफट, अंधविश्वास फैलाने वाला आदमी हिंदू धर्म का नेता बन गया है। इतना पतन?'

वहीं वरिष्ठ पत्रकार अजीत अंजुम कहते हैं, 'एक महापाखंडी बाबा को चैनलों ने सिर पर बैठा लिया है, जो मुंह खोलते ही 'आइटम' लगता है, उसके सामने लोटने लगे हैं।' वहीं दलित—आदिवासी चिंतक और सामाजिक कार्यकर्ता हंसराज मीणा कहते हैं, 'ये बागेश्वर धाम प्रमुख धीरेंद्र शास्त्री है और एबीपी न्यूज के पत्रकार ज्ञानेंद्र तिवारी की पहले से फेसबुक पर कुंडली देखकर बैठा है। बाद में दरबार लगाकर चमत्कार दिखा रहा है। पाखंड, अंधविश्वास फैला रहा है। क्या यहीं "आइडिया ऑफ इंडिया हैं?" शर्म आनी चाहिए। इस पर कार्यवाही होनी चाहिए।'

मूकनायक की संपादक मीना कोटवाल कहती हैं, "बागेश्वर वाला ढोंगी शास्त्री इतना बड़ा दिव्यज्ञान रखता है तो जोशीमठ के बारे में पहले क्यों नहीं बताया? तमाम आपदा/अपराध को होने से पहले क्यों नहीं बताया ? ये फरार ढोंगी की सिट्टी पिट्टी गुल हुई तो ये धर्म पर हमला बता रहा है।"

स्वाति मिश्रा ने ट्वीट किया है, 'बागेश्वर धाम के बाबा धीरेंद्र शास्त्री ने ABP के जिस पत्रकार के रिश्तेदारों और घर के बारे में जानकारी दी, वो सारी उनके फेसबुक अकाउंट पर उपलब्ध है। ये सब @kapsology ने बताया, खैर तब तो मार्क ज़करबर्ग ऐसे लाखों बाबाओं के बराबर है।'

गौरतलब है कि 19 जनवरी को ज्ञानेंद्र तिवारी ने अपने ट्वीटर एकाउंट से धीरेंद्र शास्त्री के चमत्कार को समर्थन देता एक ट्वीट किया था कि 'अगर बागेश्वर धाम वाले धीरेंद्र शास्त्री अंधविश्वास फैला रहे हैं तो जेल में डाल दो, लेकिन किसी एक के चैलेंज करने से लाखों-करोड़ों सनातनियों की आस्था जिस धीरेंद्र शास्त्री पर है, उन्हें भी जाने। इसलिए आपके मन में चल रहे हर सवाल का जवाब आज शाम 7 बजे @ABPNews⁩ लेकर आएगा।' इसी इंटरव्यू के बाद से सोशल मीडिया पर कोहराम मचा हुआ है।

पत्रकार सुमित चौहान ने ट्वीट किया है, 'बागेश्वर धाम वाले ढोंगी के समर्थन में ABP News ने जिस तरह से एजेंडा चलाया है वो पत्रकारिता के नाम पर कलंक है। ABP वालों को शर्म आती है या नहीं?'

शिक्षाविद और पत्रकार निगार परवीन कहती हैं, 'एक ABP का पत्रकार नागपुर से भागे एक बाबा के दरबार में जय-जयकार के नारे लगा रहा है, बोल रहा है बाबा ने जो मेरे बारे में जानकारी जुटाई है वो चमत्कार है, लेकिन वो सारी जानकारी सोशल मीडिया पर पड़ी है। लोगों ने उसी पत्रकार की ID से निकालकर वायरल कर दी। ये गोदी मीडिया के दरबारी हैं।'

दिनेश कुमार लिखते हैं, 'ABP न्यूज़ का पत्रकार और ढोंगी बाबा दोनों मिले हुए है जी, हर सवाल का जवाब चाटुकार पत्रकार के फेसबुक पर पहले से ही डला हुआ है। भक्तो ताली बजाते रहो।'

Next Story

विविध