समाज

Meerut Crime News : गैंगरेप पीड़िता की मौत, छात्रा को अगवा कर ले गए थे दरिंदे, रोते बिलखते पिता बोले- बेटी के आंखों में केमिकल डाला

Janjwar Desk
8 Oct 2021 12:08 PM GMT
Meerut Crime News : गैंगरेप पीड़िता की मौत, छात्रा को अगवा कर ले गए थे दरिंदे, रोते बिलखते पिता बोले- बेटी के आंखों में केमिकल डाला
x

(मेरठ में उपचार के दौरान गैंगरेप पीड़िता की मौत)

Meerut Crime News : पुलिस ने छात्रा का शव पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। मोर्चरी पर भारी संक्या में लोगों की भीड़ जुटी है।

जनज्वार। उत्तर प्रदेश के मेरठ (Meerut) में गैगरेप (Gangrape) पीड़िता की इलाज के दौरान मौत हो गई। छात्रा दो दिन पहले 12वीं की परीक्षा देकर स्कूल से बाहर आई तो उसे अगवा (Kidnapping) कर लिया गया था इसके बाद उसके साथ गैंगरेप किया गया गया और सड़क पर फेंक दिया गया था। छात्रा का मेडिकल कॉलेज (Medical College) में उपचार चल रहा था जहां उसकी मौत हो गई।

छात्रा की मौत की खबर सुनकर मोर्चरी पर सैकड़ों की संख्या में भीड़ जुट गई। जहां परिवार और अन्य लोगों ने कार्रवाई की मांग को लेकर हंगामा कर दिया। लोगों का कहना है कि पुलिस इस मामले को दबा रही है। सीओ ने कहा कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के बाद ही गैंगरेप के बारे में कुछ कहा जा सकेगा। सीसीटीवी फुटेज तलाश रहे हैं।

खबरों के मुताबक छात्रा नौचंदी थाना क्षेत्र शास्त्रीनगर कुटी (Shastrinagar Kuti) की रहने वाली थी। बुधवार 5 अक्टूबर को छात्रा के पिता उसे दोपहर 2 बजे जीआईसी में कक्षा 12वीं की परीक्षा के लिए छोड़ आए थे। परीक्षा (Exam) खत्म होने के बाद छात्रा शाम साढ़े चार बजे गेट से बाहर निकली लेकिन रात तक वह अपने घर नहीं पहुंची।

इसके बाद उसके परिजनों तलाशना शुरु किया तो कहीं कोई पता नहीं चला। रात नौ बजे पड़ोस के रहने वाले दो युवक छात्रा को ई-रिक्शा से घर लेकर पहुंचे, छात्रा बदहवास हालत में थी। इन युवकों ने बताया कि छात्रा मुख्य सड़क पर बदहवास पड़ी हुई थी।

फिर छात्रा के परिजनों ने उसे शास्त्रीनगर में डॉ.अशोक गर्ग (Dr. Ashok Garg) के यहां भर्ती कराया। पिता के मुताबिक छात्रा ने बताया कि टेंपो सवार उसे गांधी आश्रम चौराहे पर फेंककर चला गया था। उसके बाद ई-रिक्शा से छात्रा पहुंची। दो युवक छात्रा को लेकर घर आए थे। फिर उसे गुरुवार 6 अक्टूबर को जिला अस्पताल रेफर किया। शुक्रवार को मेडिकल कॉलेज में छात्रा की मौत हो गई। पिता ने यह भी बताया कि उनकी बेटी की आंखों में कोई केमिकल डाला गया था ताकि वह दरिंदों को पहचान न पाए।

पुलिस ने छात्रा का शव (Dead Body) पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। मोर्चरी पर भारी संक्या में लोगों की भीड़ जुटी है। मेरठ व्यापार मंडल (Meerut Vyapar Mandal) के जिला प्रमुख शैंकी वर्मा समर्थकों के साथ मोर्चरी पहुंचकरी आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

वहीं पोस्टमॉर्टम हाउस के बाहर पिता का रो-रोकर बुरा हाल है। पिता ने बिलखते हुए कहा कि जब मैं रात में डॉक्टर के यहां पहुंचा तो बेटी ठीक से बोल नहीं पा रही थी। उसके साथ गलत काम किया गया। बेटी आंख नहीं खोल रही थी। सरकार अस्पताल के डॉक्टर ने गुरुवार रात हमें बताया था कि लड़की की दोनों आंख की रोशनी जा चुकी है।

Next Story

विविध