Top
समाज

लाॅकडाउन में पति-पत्नी दोनों हुए बेरोजगार तो बच्चों की पढाई के लिए मां ने बेचा मंगलसूत्र

Janjwar Desk
2 Aug 2020 6:38 AM GMT
लाॅकडाउन में पति-पत्नी दोनों हुए बेरोजगार तो बच्चों की पढाई के लिए मां ने बेचा मंगलसूत्र

मंगलसूत्र बेचने वाली महिला कस्तूरी, मीडिया में खबरें आने के बाद सरकार ने कहा है कि उनकी मदद की जाएगी।

महिला कस्तूरी के बच्चों ने कहा है कि वे खूब मन लगाकर पढाई करेंगे और अपनी मां के लिए बड़ा मंगलसूत्र खरीदेंगे...

जनज्वार। कर्नाटक के गडग जिले में एक महिला जब कोरोना महामारी के कारण अपने पति सहित बेरोजगार हो गईं तो उन्होंने अपना मंगलसूत्र बेच दिया, ताकि अपने बच्चों के लिए एक टीवी सेट खरीद सकें। उन्होंने ऐसा इस वजह से किया, क्योंकि कर्नाटक सरकार ने महामारी के दौरान टीवी के माध्यम से बच्चों की पढाई का आदेश जारी किया है। स्कूल बंद हैं और बच्चे अभी घर से ही टीवी के माध्यम से पढाई जारी रखे हुए हैं।

इस संबंध में उक्त महिला कस्तूरी ने कहा कि मंगल सूत्र बेचने से उन्हें 20 हजार रुपये प्राप्त हुए, इसमें 14 हजार रुपये से उन्होंने बच्चों के लिए टीवी खरीदा। उन्होंने इसे तब खरीदा जब स्कूल टीचर ने पढाई के लिए टीवी सेट के बारे में पूछा।

महिला कर्नाटक के गडग जिले के नागुंडा तहसील के राडेर नागानुर गांव की रहने वाली हैं। उनकी बेटी सरकारी स्कूल की नौवीं कक्षा में पढती है और बेटा सातवीं कक्षा में पढता है।

उन्होंने कहा कि वे रोज अपने बच्चों को पढाई के लिए पड़ोसी के घर नहीं भेज सकती हैं। उनकी पढाई के लिए टीवी जरूरी है। ऐसे में हमारे पास उसे खरीदने के अलावा और कोई विकल्प नहीं था। कस्तूरी ने बताया कि वे और उनके पति दिहाड़ी का काम करते हैं, लेकिन कोरोना महामारी की वजह से कामबंदी होने के कारण वे बेरोजगार हो गए हैं। उनके पास पिछले कई दिनों से काम नहीं है।

ध्यान रहे कि भारतीय महिलाओं में मंगलसूत्र को सौभाग्य का प्रतीक माना जाता है। एक महिला इसे किसी भी हाल में बेचना या खोना नहीं चाहती है। लेकिन, कस्तूरी को अब इस बात का संतोष है कि उनके इस कदम से उनके बच्चे घर में बेहतर ढंग से पढाई कर पाएंगे।

वहीं, कस्तूरी की बेटी का कहना है कि हमारे पास पिछले कई महीनों से टीवी नहीं था, जो अब आ गया है। अब हम खूब पढाई करेंगे और मां के लिए बड़ा मंगलसूत्र खरीदेंगे।

Next Story

विविध

Share it