Top stories

CU MMS Case : विदेशी साजिश की बू आई सामने, धार्मिक संगठनों को सबसे ज्यादा दान देते हैं भारतीय, आज की 10 बड़ी खबरें

Janjwar Desk
20 Sep 2022 2:32 AM GMT
सीयू एमएमएस कांड में विदेशी साजिश की बू, धार्मिक संगठनों को सबसे ज्यादा दान देते हैं भारतीय, जाने आज की 10 बड़ी खबरें
x

सीयू एमएमएस कांड में विदेशी साजिश की बू, धार्मिक संगठनों को सबसे ज्यादा दान देते हैं भारतीय, जाने आज की 10 बड़ी खबरें

Top 10 News : सरकारी और निजी शैक्षणिक संस्थानों में प्रवेश और केंद्र सरकार की नौकरियों में भर्ती के लिए आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग यानी ईडब्ल्यूएस को दिए गए 10 प्रतिशत आरक्षण को चुनौती देने वाले याचिकाकर्ताओं पर आज सुनवाई होगी।

1. CU MMS Case : विदेशों में रची गई एमएमएस कांड की साजिश, छात्राओं को इंटरनेशनल कॉल पर वीडियो वायरल करने की धमकी




चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी वीडियो लीक ( CU MMS Case ) मामले की परतें धीरे.धीरे खुल रही हैं। इस साजिश के पीछे विदेश में बैठे कुछ लोगों का हाथ बताया जा रहा है। इसका खुलासा तब हुआ, जब गर्ल हॉस्टल की कुछ लड़कियों को कनाडा के नंबर से इंटरनेशन कॉल आईं। सिर्फ कॉल ही नहीं आई बल्कि कॉल करने वाले की तरफ से लड़कियों को धमकाया गया और कहा गया कि तुम्हारी भी वीडियो बनी हुई है जिन्हें अब वायरल कर दिया जाएगा। इस कॉल के बाद हॉस्टल की लड़कियों में दहशत का माहौल बना हुआ है।

2. Charity : धार्मिक संगठनों को सबसे ज्यादा दान देते हैं भारतीय, 2021&22 में दिए 23.7 हजार करोड़

भारतीय परिवारों ने साल 2021-22 में 23.7 हजार करोड़ रुपए दान ( Charity ) देने में खर्च किए हैं। एक निजी यूनिवर्सिटी के अध्ययन में यह रोचक खुलासा भी हुआ है कि भारतीय सबसे अधिक दान धार्मिक संस्थानों को देते हैं। इस मामले में दूसरा नंबर भिखारियों का है। दान देने में भारतीयों को सबसे ज्यादा प्रेरणा उनकी धार्मिक आस्था से मिलती है, उसके बाद आता है आर्थिक संकट में फंसे किसी शख्स की मदद करने की प्रेरणा और उसके बाद पारिवारिक परंपरा। अध्ययन के अनुसार औसत दान ( Donation ) राशि में पहला स्थाल दक्षिण भारत और दूसरा पश्चिम भारत का है। दानदाताओं की संख्या के मामले में पूर्वी और उत्तरी भारत में आगे हैं।

3. EWS आरक्षण को चुनौती देने वाली कई याचिकाओं पर आज SC में होगी सुनवाई

सरकारी और निजी शैक्षणिक संस्थानों में प्रवेश और केंद्र सरकार की नौकरियों में भर्ती के लिए आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग यानी ईडब्ल्यूएस को दिए गए 10 प्रतिशत आरक्षण को चुनौती देने वाले याचिकाकर्ताओं पर आज सुनवाई होगी। वकीलों ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि यह संशोधन समानता के अधिकार को नुकसान पहुंचाता है जो कि संविधान की आत्मा है। सुप्रीम कोर्ट में मंगलवार को एक वकील ने कहा कि आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग श्रेणी के लिए दाखिले और नौकरियों में 10 प्रतिशत आरक्षण देने का केंद्र का फैसला कई मायनों में संविधान के बुनियादी ढांचे का उल्लंघन है और आरक्षण के संबंध में 50 प्रतिशत की सीमा का उल्लंघन भी होता है।

4. . PM Modi के बचाव में उतरीं ममता बनर्जी, बोलीं - एजेंसियों के दुरुपयोग में उनका हाथ नहीं

बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने जांच एजेंसियों के रडार पर आने वाले कारोबारियों के देश से भागने के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बरी कर दिया। उन्होंने कहा कि ED-CBI केंद्रीय गृह मंत्रालय को रिपोर्ट करती है, जो केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा नियंत्रित है। उन्होंने कहा कि व्यवसायी देश छोड़कर भाग रहे हैं। वे ईडी और सीबीआई के डर और दुरुपयोग के कारण भाग रहे हैं। मेरा मानना है कि मोदी ने ऐसा नहीं किया है।

5. सुशांत सिंह ड्रग केस से जुड़ा मोस्ट वांटेड ड्रग सप्लायर, लंदन में हाउस अरेस्ट, भारत लाने की तैयारी



सुशांत सिंह राजपूत मौत से जुड़े ड्रग केस में जिस मोस्ट वांटेड ड्रग सप्लायर का नाम आया था, उससे जुड़ी एक बड़ी खबर सामने आई है। मुंबई पुलिस को भारत के मोस्ट वांटेड ड्रग सप्लायर कैलाश राजपूत की लोकेशन का पता चल गया है और अब उसे भारत लाने की कवायद भी शुरू हो गई है। सूत्रों की मानें तो मुंबई पुलिस को इस फरार इंटरनेशनल ड्रग्स सिंडिकेट के सरगना की जो जानकारी मिली हैए उसके मुताबिक कैलाश राजपूत फिलहाल यूके में है।

6. अमेरिका में रोजाना 400 मौतें, बाइडन बोले - देश में खत्म हो गया कोरोना

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने देश से कोरोना महामारी ख़त्म होने की घोषणा कर दी है। जबकि कोरोना की वजह से होने वाली मौतें अब भी बढ़ रही हैं। बाइडन ने कहा - हम अब भी समस्या में हैं लेकिन हालात तेज़ी से सुधर रहे हैं। बीचे सप्ताह विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख ने कहा था कि कोरोना महामारी का अंत अब नज़र आ रहा है। सीबीएस न्यूज़ को दिए एक इंटरव्यू में राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि वायरस पर नियंत्रण के लिए अमेरिका अब भी काफ़ी काम कर रहा है। अगस्त में अमेरिकी अधिकारियों ने कोरोना महामारी की वजह से जनवरी 2020 में लागू की गई हेल्थ इमरजेंसी को 13 अक्टूबर तक के लिए बढ़ा दिया था।

7. कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ेंगे शशि थरूर और अशोक गहलोत

कांग्रेस के दो दिग्गज नेता पार्टी के अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ सकते हैं। एक तरफ राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत हैं तो दूसरी तरफ केरल से पार्टी सांसद शशि थरूर। सूत्रों के मुताबिक गहलोत 26 से 28 सितंबर के बीच कभी भी नामांकन दाखिल कर सकते हैं। वहीं थरूर ने भी सोमवार को सोनिया गांधी से मिलकर मैदान में उतरने की तैयारी कर ली है। सूत्रों के मुताबिक थरूर ने सोमवार को पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की और चुनाव लड़ने की इजाजत मांगी। हालांकि सोनिया ने उन्हें साफ शब्दों में कहा कि चुनाव लड़ने का फैसला आपका है। यानी ये आपका कॉल है। पार्टी की चुनावी प्रक्रिया तय नियमों के हिसाब से ही होंगी। इसमें सभी को बराबर का अधिकार है। अगर गहलोत और थरूर चुनाव लड़ते हैं तो 20 साल बाद ऐसा पहली बार होगा जब गांधी परिवार से अलग कोई कैंडिडेट चुनावी मैदान में होगा। इससे पहले नरसिम्हा राव के प्रधानमंत्री रहने के दौरान सीताराम केसरी पार्टी अध्यक्ष का चुनाव जीते थे।

8. राजस्थान में कोर्ट के बाहर गैंगस्टर का दिनदहाड़े मर्डर, 2 गंभीर रूप से घायल

राजस्थान में नागौर कोर्ट परिसर में सोमवार को दिनदहाड़े गैंगवार हो गया। कोर्ट परिसर के बाहर पुलिस के सामने ही शूटर्स ने गैंगस्टर संदीप विश्नोई को गोली मार दी। मौके पर ही उसकी मौत हो गई। संदीप नागौर जेल में ही बंद था। वहीं उसके दो साथी गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। घटना का सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया है। नागौर पुलिस गैंगस्टर संदीप को लेकर दोपहर में कोर्ट में पेशी के लिए पहुंची थी। इसी दौरान बाइक से आए शूटर्स ने गैंगस्टर संदीप को गोलियों से भून दिया। बताया जा रहा है कि शूटर हरियाणा के थे। बदमाशों ने करीब 9 फायर किए।

9. ताइवान को लेकर जो बाइडेन पर बरसा चीन, देश को बांटने वाली हरकत नहीं करेंगे बर्दाश्त

बाइडन ने कहा है कि यदि चीन स्वशासित ताइवान पर हमला करने की कोशिश करता है तो अमेरिकी सेना उसकी रक्षा करेगी। चीन इस स्वशासित द्वीप पर अपना दावा करता है। चीन ने सोमवार को कहा कि वह ताइवान के शांतिपूर्ण एकीकरण के लिए पूरी ईमानदारी से प्रयास करेगा और देश को विभाजित करने के उद्देश्य से की गई किसी भी गतिविधि को कतई बर्दाश्त नहीं करेगा। चीन की इस टिप्पणी को अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के ताइवान को लेकर दिए गए बयान के जवाब के रूप में देखा जा रहा है। बाइडन ने कहा है कि यदि चीन स्वशासित ताइवान पर हमला करने की कोशिश करता हैए तो अमेरिकी सेना उसकी रक्षा करेगी। चीन इस स्वशासित द्वीप पर अपना दावा करता है। बाइडन ने रविवार को पूछे गए एक सवाल के जवाब में कहा था कि यदि चीन ताइवान पर हमला करता है तो क्या अमेरिकी सुरक्षाबल अमेरिकी पुरुष एवं महिलाएं उसकी रक्षा करेंगे। इसके जवाब में बाइडन ने हां में जवाब दिया थ।

10. नगालैंड के अलगाववादी संगठन एनएससीएन आईएम की सात सदस्यीय डेलिगेशन आज दिल्ली में गृह मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों से मिलेगा।

Next Story

विविध