Up Election 2022

पिता पर हमले के बाद BJP सांसद संघमित्रा मौर्या ने दी भाजपा नेताओं का काला चिट्ठा खोलने की चेतावनी!

Janjwar Desk
2 March 2022 5:03 AM GMT
upchunav2022
x

(पिता पर हमले के बाद लाठी लिए नजर आईं संघमित्रा मौर्या)

Attack On Swami Prasad Maurya: पिता पर हमले की खबर मिलने पर वह फाजिलनगर जा रही थीं तो रास्ते में उनको घेरने के साथ अभद्र शब्दों का इस्तेमाल किया गया। पुलिस ने उनको सुरक्षित निकाला...

Attack on Swami Prasad Maurya: स्वामी प्रसाद मौर्य पर हमले के बाद भाजपा सांसद संघमित्रा मौर्य (Sanghmitra Maurya) आगबबूला हैं। कल शाम उन्होने फेसबुक लाईव (Facebook Live) में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं सहित प्रत्याशी पर भी गंभीर आरोप लगाये हैं। उन्होने यहां तक कहा कि अब तक वह शांत थीं, लेकिन अब वह एक-एक का काला चिट्ठा खोलकर रख देंगी।

संघमित्रा ने कहा कि अभी तक वह एक बंधन में थीं। उन्हें सबकी अंदरूनी बातें पता हैं। लेकिन पिताजी हमेंशा मना किया करते थे। लेकिन अब वह किसी के दबाव (Pressure) में नहीं हैं। उन्हें पता है कि कहां क्या हो रहा है। पार्टी आलाकमान को कौन गुमराह कर रहा है। उन्होने कहा कि उनके पास तमाम सबूत होते हुए भी वह नजरअंदाज करती थीं, लेकिन अब वह सभी सबूत आलाकमान के सामने रखे जाएंगे।

काफिले पर हमले की तस्वीर

भाजपा सांसद डॉ. संघमित्रा मौर्य का हाथ में लाठी लेकर घूमते हुए वीडियो वायरल (Viral Video) हुआ है। इससे बदायूं के सियासी गलियारों में भी तापमान बढ़ गया। इसके बाद डॉ. संघमित्रा मौर्य फेसबुक पर लाइव आईं। उन्होंने फाजिलनगर से भाजपा प्रत्याशी पर हमला बोलने के बाद बदायूं के भाजपा नेताओं पर भी बिना नाम लिए निशाना साधा। आरोप लगाया कि बदायूं में खेला हो रहा है।

फेसबुक पर डॉ. संघमित्रा ने कहा कि उनके पिता पर जानलेवा हमला हुआ है। जहां आस-पास कंकड़ तक नहीं होते वहां ईंट-पत्थरों से हमला कर सौ से ज्यादा गाड़ियों को क्षतिग्रस्त कर दिया गया। पिता दूसरी गाड़ी में थे। वह पूरी तरह सुरक्षित हैं। आरोप लगाया कि पिता पर हमले की खबर मिलने पर वह फाजिलनगर जा रही थीं तो रास्ते में उनको घेरने के साथ अभद्र शब्दों का इस्तेमाल किया गया। पुलिस ने उनको सुरक्षित निकाला। जो भाजपा दंगे पसंद नहीं करती उसका प्रत्याशी ही दंगे कराना चाहता है। यह भाजपा को बदनाम करने की साजिश है।

उन्होंने कहा कि कुछ लोग अफवाह फैलाते हैं कि संघमित्रा भाजपा छोड़ रही हैं। मुझसे कहते हैं इस्तीफा दे दो, मुझे किसी की सलाह की जरूरत नहीं है। तीन साल मेरे साथ राजनीति की है, दो साल मैं राजनीति दिखाऊंगी। राजनीति करने का मजा तो अब आएगा। मैं किसी की दया से सांसद नहीं बनीं। वह लोग सोचें जो दया से सांसद और फिर मंत्री तक बने हैं। उन्होंने कहा कि वह भाजपा में हैं, कहीं नहीं जा रहीं।

बीजेपी सांसद संघमित्रा मौर्या

उन्होंने कहा कि उनके शरीर में सम्राट अशोक व स्वामी प्रसाद मौर्य का खून दौड़ रहा है। पिता की विचारधारा पर ही वह काम कर रहीं हैं। उनके पिता को दलबदलू कहा जाता है। उनको परेशान किया जाता है। 2019 के लोकसभा चुनाव के बाद पंचायत चुनाव और हाल ही विधानसभा चुनाव में बदायूं में खेला हुआ है।

इसका पूरा काला चिट्ठा उनके पास रिकार्डिंग और सुबूतों के साथ है। ऐसे लोगों के खिलाफ अब वह शीर्ष नेतृत्व से शिकायत कर मोर्चा खोलेंगी। इस दौरान सांसद ने भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह की तारीफ भी की। सांसद की यह वीडियो सामने आने के बाद राजनीतिक गलियारों में कई तरह की चर्चाएं होने लगी हैं।

छवि खराब कर रहा भाजपा प्रत्याशी

कुशीनगर में हुए घटनाक्रम पर सांसद डॉ. संघमित्रा मौर्या ने बताया कि वह पिता की रैली में नहीं थीं पर हमले के बाद आई हैं। कहा कि भाजपा की परमिशन वाली गाड़ी यहां मौजूद है। सीधे तौर पर भाजपा प्रत्याशी व उसके लोगों ने हमला किया है। पार्टी का बचाव करते हुए कहा कि यह भाजपा को बदनाम करने की साजिश है। हाईकमान को भाजपा प्रत्याशी की हरकत के बारे में बताया है।

Next Story

विविध