Up Election 2022

UP Election 2022 : सपा में शामिल हुए मयंक जोशी का बड़ा आरोप, बोले- BJP में ब्राह्मणों के लिए है परिवारवाद की नीति

Janjwar Desk
7 March 2022 6:35 AM GMT
UP Election 2022 : सपा में शामिल हुए मयंक जोशी का बड़ा आरोप, बोले- BJP में ब्राह्मणों के लिए है परिवारवाद की नीति
x

सपा में शामिल हुए मयंक जोशी का बड़ा आरोप, बोले- BJP में ब्राह्मणों के लिए है परिवारवाद की नीति

UP Election 2022 : बीजेपी सांसद रीता बहुगुणा जोशी के बेटे मयंक जोशी ने बीजेपी पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी में ब्राह्मणों के साथ भेदभाव होता है...

UP Election 2022 : भाजपा सांसद रीता बहुगुणा के बेटे मयंक जोशी ने बीजेपी का हाथ छोड़ समाजवादी पार्टी का दामनथम लिया है| बता दें कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मयंक जोशी को 5 मार्च को आजमगढ़ की एक चुनावी रैली में सपा में शामिल कराया था| मयंक जोशी लखनऊ की कैंट सीट से टिकट मांग रहे थे लेकिन बीजेपी ने उन्हें टिकट नहीं दिया, जिस कारण वह भाजपा से नाराज चल रहे थे| बीजेपी ने लखनऊ की कैंट सीट से वरिष्ठ नेता और कैबिनेट मंत्री ब्रजेश पाठक को प्रत्याशी बनाया है|

मयंक जोशी का बीजेपी पर आरोप

सांसद के बेटे मयंक जोशी ने न्यूज एजेंसी एएनआई को दिए एक इंटरव्यू में बतया है कि वो किस वजह से बीजेपी छोड़ सपा में आए है| इसके साथ ही मयंक जोशी ने भजपा सरकार पर बड़ा आरोप लगाया है| बता दें कि बीजेपी सांसद रीता बहुगुणा जोशी के बेटे मयंक जोशी ने बीजेपी पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी में ब्राह्मणों के साथ भेदभाव होता है|

अखिलेश यादव के ये नीति आई पसंद

मयंक जोशी ने कहा कि वो अखिलेश यादव की प्रोग्रेसिव सोच से प्रभावित होकर सपा में शामिल हुए है| आगे मयंक जोशी ने कहा कि अखिलेश यादव ने चुनाव में महिला सुरक्षा, विकास, एमएसपी, किसानों, युवाओं, लैपटॉप और टेबलेट की बात की| वहीं दूसरी ओर सत्ता पक्ष से देखिये की क्या बात हो रही है| जो आदमी प्रदेश को आगे ले जाने की बात करें, एक युवा होने के नाते हमें उसके साथ खड़े होना चाहिए| उत्तर प्रदेश का भविष्य अखिलेश यादव के हाथों में सुरक्षित है|

बीजेपी में है परिवारवाद की नीति

मयंक जोशी ने बीजेपी की ओर से सपा पर लगाए गए परिवारवाद के आरोपों पर बीजेपी नेताओं की सूची गिनाते हुए कहा कि, जिनका परिवार बीजेपी में है| इसमें वो चुनाव के सहप्रभारी अनुराग ठाकुर, राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के परिवार, बिहार के राज्यपाल फागू चौहान, मोहनलालगंज के सांसद के परिवार और गोण्डा के सांसद बृजभूषण शरण सिंह के बेटे का नाम गिनाते हैं| मयंक जोशी ने कहा कि परिवारवाद सलेक्टिव नहीं हो सकता, सबके लिए एकसमान नियम होने चाहिए|

बीजेपी ब्राह्मणों के साथ करती हैं भेदभाव

मयंक जोशी ने एक और सूची गिनाते हुए बीजेपी पर आरोप लगाया| बता दें कि ये उन नेताओं की सूची है, जिन्होंने अपने बेटे बेटियों के लिए विधानसभा चुनाव में टिकट मांगा था| इस सूची में मयंक जोशी अपनी मां रीता बहुगुणा जोशी, राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र, सत्यदेव पचौरी और विधानसभा अध्यक्ष हृदयनारायण दीक्षित का नाम गिनाते हैं| आगे मयंक जोशी ने कहा कि इनमें से किसी को भी बीजेपी ने टिकट नहीं दिए लेकिन अन्य जाति-वर्ण के लोगों के साथ ऐसा नहीं किया गया| मयंक जोशी ने आगे कहा कि बीजेपी को लगता है कि ब्राह्मण उसे ही वोट करेगा, लेकिन ऐसा नहीं है इसका खमियाजा बीजेपी को चुनाव में भुगतना पड़ेगा| इसके साथ ही मयंक जोशी ने बीजेपी पर सवाल उठाते हुए कहा कि ब्राह्मणों के साथ ऐसा क्यों हुआ|

Next Story

विविध