वीडियो

UP : ध्वजारोहण के दौरान उल्टा तिरंगा फहराने के मामले में DM औरैया ने जनज्वार को दिया ये स्पष्टिकरण

Janjwar Desk
15 Aug 2021 12:07 PM GMT
UP : ध्वजारोहण के दौरान उल्टा तिरंगा फहराने के मामले में DM औरैया ने जनज्वार को दिया ये स्पष्टिकरण
x

उल्टा तिरंगा फहराने के आरोपों को डीएम औरैया ने किया खारिज.

डीएम औरैया ने बताया कि, यह लोग गलत तरीके से वीडियो पोस्ट कर रहे हैं। हमने इसका स्पष्टिकरण भी सोशल मीडिया पर डाला है। उन्होने बताया कि, हमने पहले झण्डे की टेस्टिंग (डेमों) की थी...

जनज्वार, औरैया। स्वतंत्रता दिवस की 75 वीं वर्षगांठ पूरे देश में हर्षोल्लास के साथ मनाई गई। इस दौरान यूपी के औरैया के कलेक्ट्रेट भवन ककोर मनाए गये स्वतंत्रता दिवस झण्डारोहण के दौरान जिलाधिकारी सुनील कुमार वर्मा ने उल्टा तिरंगा फहरा दिया। देखते ही देखते सोशल मीडिया पर वीडियो तैरने लगा, लोगों ने इसे तिरंगे का अपमान बताया।

बताया जा रहा है कि वहां मौजूद सैकड़ों लोगों में से किसी एक ने भी इस बात पर ध्यान नहीं दिया। ध्वजारोहण के बाद राष्ट्रीय गान गाया गया और उल्टे झंडे को गर्व से सलामी दी गई। पूर्व पत्रकार और सपा नेता आशीष यादव लिखते हैं, 'जिला सम्भालने वाले जिलाधिकारी देश की शान तिरंगे का सम्मान सुनिश्चित ना करा सके। 75 वें स्वतंत्रता दिवस के शुभ अवसर पर औरैया में डीएम ने किया उल्टा ध्वजारोहण, डीएम औरैया सुनील कुमार।'

इस वीडियो को ट्वीट करते हुए पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने लिखते हैं, 'DM औरैया सुनील कुमार वर्मा द्वारा राष्ट्रध्वज आरोहण में भारी लापरवाही व घोर अपमान। कृ. संज्ञान लें।' कहा जा रहा है कि, जब कार्यक्रम समाप्ति को आया तो मौजूद एक शख्स की नजर गई। जब उसने इस बारे में बताया तो वहां मौजूद अधिकारियों के होश उड़ गए। जिसके बाद दोबारा से आनन-फानन तिरंगे को ठीक कराकर फिर से ध्वजारोहण किया गया।

इस बात की पुष्टि के लिए जनज्वार की तरफ से डीएम औरैया को फोन किया गया तो उन्होने बताया कि, यह लोग गलत तरीके से वीडियो पोस्ट कर रहे हैं। हमने इसका स्पष्टिकरण भी सोशल मीडिया पर डाला है। उन्होने बताया कि, हमने पहले झण्डे की टेस्टिंग (डेमों) की थी। एक आदमी छत पर भी आपको खड़ा दिख रहा होगा, पहले टेस्टिंग की थी की कहीं खुलने में दिक्कत ना हो।

जिलाधिकारी औरैया सुनील कुमार वर्मा ने आगे बताया कि यह वीडियो जो वायरल हो रहा है, वह सुबह 8, साढ़े आठ का है। जबकि कार्यक्रम इस टेस्टिंग के बाद कराया गया था। ये टेस्टिंग का वीडियो उठाकर वायरल किया जा रहा है। और इसकी कोई सच्चाई नहीं है।'

Next Story

विविध

Share it