दुनिया

सीपीसी के संस्थापक माओ के बाद शी जिनपिंग पहले शख्स जो तीसरी बार बने चीन के राष्ट्रपति, तोड़ दिए गए 4 दशक पुराने नियम

Janjwar Desk
23 Oct 2022 6:30 AM GMT
चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग की नजरबंदी की बातों में कितना है दम, चीनी मीडिया से लेकर सत्ता प्रतिष्ठान मौन क्यों ?
x

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग की नजरबंदी की बातों में कितना है दम, चीनी मीडिया से लेकर सत्ता प्रतिष्ठान मौन क्यों ?

China : चीन का तीसरी बार राष्ट्रपति बन शी जिनपिंग ने चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के संस्थापक माओ जेदोंग के रिकॉर्ड की बराबरी की।

China : सभी तरह की भ्रांतियों और अफवाहों को धत्ता बताते हुए शी जिनपिंग ( Xi Jinping ) चीन ( China ) का तीसरी बार राष्ट्रपति ( President ) बन गए हैं। इसी के साथ राष्ट्रपति बनने को लेकर सीपीपी ( CPC ) का चार दशक पुराना नियम भी टूट गया। इतना ही नहीं, वह चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के संस्थापक माओ जेदोंग ( Mao Zedong ) यानि मोआत्से तुंग के बाद पहले ऐसे शख्स हैं जो चीन में तीसरी पर बार राष्ट्रपति पद पर चुने गए हैं

माओ बनने की राह पर एक अदम और आगे




माओत्से तुंग ( Mao Zedong ) ने करीब तीन दशक तक चीन पर शासन किया था। जानकारों का मानना है कि शी जिनपिंग ( Xi Jinping ) को आगामी पांच साल के लिए नया कार्यकाल मिलने का सीधा मतलब है कि जिनपिंग भी माओ की तरह जीवनपर्यंत सत्ता में बने रहने की मंशा रखते हैं।

4 दशक पहले बनाया गया था ये नियम

चीन में 1982 में सर्वोच्च पद पर 10 साल के कार्यकाल का नियम बनाया गया था। इस बार जिनपिंग ( Xi Jinping ) को पांच और वर्षों तक सत्ता में बनाए रखने के लिए पहले के नियमों को किनारे कर दिया गया है। शी जिनपिंग को चीनी कम्युनिस्ट पार्टी कांग्रेस के 20वें अधिवेशन के ठीक बाद एक बार फिर देश का राष्ट्रपति चुन लिया गया है। अब वो पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) का कमांडर भी पहले की तरह बने रहेंगे।

पोलित ब्यूरो के भी सदस्य हैं शी

शी जिनपिंग ( Xi Jinping ) चीन की कम्युनिस्ट पार्टी ( CPC ) की केंद्रीय समिति के भी सदस्य हैं। इस 25 सदस्यीय 'पोलित ब्यूरो' ने ही चुनाव के आधार पर ही चीन में शासन करने के लिए स्थायी समिति के सात या इससे अधिक सदस्यों का चुनाव किया। इस समिति की ओर से ही पार्टी महासचिव के तौर पर जिनपिंग का भी चुनाव हुआ। उन्हें अगले पांच साल के लिए पार्टी और देश के नेतृत्व की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

सीपीसी की सेंट्रल कमेटी से कईयों को किया बाहर

शी जिनपिंग ( Xi Jinping ) ने तीसरी बार राष्ट्रपति बनने की योजना के तहत चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की केंद्रीय समिति के सदस्यों की सूची में से कई नेताओं के नाम हटवा दिए थे। इनमें प्रधानमंत्री ली क्विंग (67), नेशनल पीपुल्स कांग्रेस के अध्यक्ष ली झांशु (72), चाइनीज पीपुल्स पॉलिटिकल कंसल्टेटिव कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष वांग यांग (67), पूर्व उप प्रधानमंत्री हान झेंग (67) शामिल हैं। ये सभी नेता निवर्तमान सात सदस्यीय स्थायी समिति के सदस्य थे, जिसके अध्यक्ष शी जिनपिंग हैं।

Next Story

विविध