Top
दुनिया

लेबनान की राजधानी बेरूत में बड़ा धमाका, अबतक 100 की मौत, बढ सकता है आंकड़ा

Janjwar Desk
5 Aug 2020 3:10 AM GMT
लेबनान की राजधानी बेरूत में बड़ा धमाका, अबतक 100 की मौत, बढ सकता है आंकड़ा
x
बेरूत में बड़ी मात्रा में एक गोदाम में विस्फोटक जमा करने से यह हादसा हुआ है। घटना के बाद प्रधानमंत्री ने कड़ी कार्रवाई की बात कही है और बुधवार को राष्ट्रीय शोक घोषित कर दिया गया है।

जनज्वार। लेबनान (lebanon) की राजधानी बेरूत (Beirut) में बड़ा धमाका (Beirut Blast) हुआ है, जिसमें खबर लिखे जाने तक 100 लोगों (Beirut Blast Death) की मौत हो गई और दर्जनों की स्थिति गंभीर बनी हुई है। इस विस्फोट में चार हजार लोग जख्मी हुए हैं। यह विस्फोट मंगलवार (4 August 2020 )की शाम एक गोदाम में भारी विस्फोटक सामग्री स्टोर किए जाने की वजह से हुआ है। बेरूत में यह विस्फोट समुद्र तट के करीब हुआ है।

लेबनान के प्रधानमंत्री हसन दिआब के अनुसार, यह धमाका एक भंडार में करीब छह साल से 2750 टन अमोनिया नाइट्रेट असुरक्षित तरीके से रखने की वजह से हुआ है। उन्होंने कहा है कि इसके लिए दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई की जाएगी। प्रधानमंत्री ने इस घटना के बाद बुधवार को देश में राष्ट्रीय शोक घोषित कर दिया है।

प्रधानमंत्री हसन दिआब ने कहा है कि इस घटना के दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। जिस गोदाम में विस्फोटक जमा किए जाने की बात कही जा रही है, वहां ऐसा 2014 से किया जा रहा था। न्यूज एजेंसी एएफपी ने चश्मदीद के हवाले से लिखा है कि इस विस्फोट से आसपास की इमारतें ध्वस्त हो गईं हैं। चार ओर शीशे और मलबे बिखरे पड़े हैं।

इस घटना के कई वीडियो सामने आए हैं, जिसमें लोग अपने बच्चों व परिजनों को लेकर छिपने की कोशिश करते दिख रहे हैं। यह विस्फोट इतना ताकतवर था कि इसकी आवाज मूध्यसागर में 240 किमी दूर साइप्रस तक सुनाई पड़ी है।

इस घटना की भयावहता की न्यूज एजेंसी एएफपी व रायटर्स ने कई तसवीरें जारी की हैं। विस्फोट के बाद दर्जनों लोग मलबे के नीचे दब गए।

लेबनान स्थित भारतीय दूतावास ने हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। भारतीय दूतावास से कहा है कि अगर भारतीय समुदाय के किसी भी व्यक्ति को मदद की जरूरत है हो तो वे हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क कर सकते हैं।

Next Story

विविध

Share it