दुनिया

Henley Passport Index 2021: दुनिया के ताकतवर पासपोर्ट की सूची में भारत का प्रदर्शन खराब, जापान और सिंगापुर को पहला स्थान

Janjwar Desk
11 Oct 2021 7:19 AM GMT
Henley Passport Index 2021: दुनिया के ताकतवर पासपोर्ट की सूची में भारत का प्रदर्शन खराब, जापान और सिंगापुर को पहला स्थान
x
वर्ष 2020 में भारत को इस सूची में 84वां स्थान मिला था... पिछले साल के मुकाबले छह स्थान नीचे गिरकर साल 2021 में भारत के पासपोर्ट को सूची में 90वां स्थान मिला है...

नई दिल्ली (जनज्वार): दुनियाभर के देशों के सबसे शक्तिशाली पासपोर्ट की वर्ष 2021 की रैंकिंग आ गई है। हेनले पासपोर्ट इंडेक्स द्वारा जारी वर्ष 2021 के ग्लोबल मोबिलिटी रिपोर्ट में जापान और सिंगापुर को पहला स्थान मिला है। वहीं, भारत का ताकतवर पासपोर्ट की सूची में 90वां स्थान है। पिछले साल के मुकाबले भारत 6 पायदान नीचे चला गया है। हेनले पासपोर्ट सूचकांक द्वारा जारी लिस्ट में जापान और सिंगापुर को 192 मोबिलिटी स्कोर मिला है। दोनों देशों के पासपोर्ट धारक दुनिया के 192 देशों में बिना किसी पूर्व वीजा के सफर कर सकते हैं।

इस सूची में दक्षिण कोरिया ओर जर्मनी को दूसरा स्थान प्राप्त हुआ हैं। यहां के पासपोर्ट धारकों को बिना पूर्व वीजा के विश्व के 190 देशों में प्रवेश मिलता है। फीनलैंड, स्पेन, इटली और लक्जमबर्ग को 189 देशों में वीजा मुक्त यात्रा के लिए तीसरा स्थान मिला है। पहले स्थान पर काबिज जापान इस सूची में लगातार तीसरे साल से पहले नंबर पर है।

भारत का प्रदर्शन पिछले साल से खराब

हर साल देशों के पासपोर्ट की क्षमता परखने वाले हेनले पासपोर्ट इंडेक्स की सूची में भारत का स्थान लगातार नीचे गिर रहा है। वर्ष 2020 में भारत को इस सूची में 84वां स्थान मिला था। पिछले साल के मुकाबले छह स्थान नीचे गिरकर साल 2021 में भारत के पासपोर्ट को सूची में 90वां स्थान मिला है, यानि भारत के पासपोर्ट धारक केवल 58 देशों में बिना पूर्व वीजा के सफर कर सकते हैं। भारत के साथ-साथ तजाकिस्तान और बुर्किना फासो को संयुक्त रुप से 90वां स्थान हासिल हुआ है।

पड़ोसी देशों ने भी किया निराश

बात करें भारत के पड़ोसी देशों की तो पाकिस्तान, श्रीलंका, नेपाल और बंग्लादेश के पासपोर्ट को दुनिया के सबसे कमजोर पासपोर्ट की सूची में शामिल किया गया है। ग्लोबल पासपोर्ट इंडेक्स की लिस्ट में पाकिस्तान के पासपोर्ट को केवल 31 मोबिलिटी स्कोर मिला है यानि यहां को पासपोर्ट धारक केवल 31 देशों में बिना वीजा के प्रवेश कर सकते हैं। वहीं, हेनले पासपोर्ट इंडेक्स में भूटान 96वें, म्यांमार 102वें, श्रीलंका 107वें, बांग्लादेश 108वें, नेपाल 110वें और अफगानिस्तान लिस्ट के आखिरी 116वें स्थान पर है।

टॉप 10 में इन देशों का नाम शामिल

पासपोर्ट के मामले में दुनिया के दस सबसे शक्तिशाली देशों की लिस्ट में जापान, सिंगापुर, जर्मनी, दक्षिण कोरिया, फिनलैंड, इटली, लक्जमबर्ग, स्पेन, फ्रांस और आयरलैंड के नाम शामिल हैं। वहीं दस सबसे कमजोर पासपोर्ट वाले देशों की बात करें तो इसमें अफगानिस्तान, इराक, सीरिया, पाकिस्तान, यमन, सोमालिया, फिलिस्तीन, नेपाल, उत्तर कोरिया और लीबिया शामिल है।

आपको बता दें कि हेनले और पार्टनर्स (Henley & Partners) हर साल सभी देशों की पासपोर्ट सूचकांक तैयार करते हैं। हेनले पासपोर्ट इंडेक्स को दुनिया के सभी पासपोर्ट की एक विश्वसनीय रैंकिंग के तौर पर जाना जाता है। किसी देश के पासपोर्ट की रैंकिंग इस आधार पर की जाती है कि उस देश के पासपोर्ट धारक बिना पूर्व वीजा के कितने देशों में सफर कर सकते हैं। यह रैंकिंग इंटरनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन (IATA) द्वारा जारी किये जाने वाले डेटा के आधार पर तैयार की जाती है।

गौरतलब है कि हेनले पासपोर्ट इंडेक्स की लिस्ट ऐसे समय में जारी की गई है जब विश्व के ज्यादातर देश कोरोना महामारी के कारण दो साल से बंद पड़े अंतरराष्ट्रीय देशों में यात्रा के नियमों में ढील देना शुरू कर रहे हैं।

Next Story

विविध

Share it