दुनिया

Jalianwala Bhag Massacre का बदला लेने क्वीन एलिजाबेथ के महल पहुंचा भारतीय सिख युवक, हिरासत में रखा

Janjwar Desk
27 Dec 2021 10:45 AM GMT
Jalianwala Bhag Massacre का बदला लेने क्वीन एलिजाबेथ के महल पहुंचा भारतीय सिख युवक, हिरासत में रखा
x
Jalianwala Bhag Massacre : जसवंत सिंह ने कहा यह उन लोगों का बदला है जो जलियावाला बाग में मारे गए थे। उनकी नस्ल के कारण उन्हें प्रताड़ित किया गया और भेदभाव किया गया, मैं एक भारतीय सिख हूं....

Jalianwala Bhag Massacre : जलियावाला बाग कांड का बदला लेने के लिए एक शख्स ब्रिटेन की महारानी क्वीन एलिजाबेथ द्वितीय (Queen Elizabeth IInd) के महल में तीर कमान लेकर घुस गया। ब्रिटिश महारानी एलिजाबेथ क्रिसमस (Christmas) मनाने के लिए विंडसर कैसल पहुंची थीं। खबरों के मुताबिक हमलावर 19 वर्षीय जसवंत सिंह चैल (Jaswant Singh Chail) जलियावाला बाग कांड का बदला लेने के लिए महारानी के यहां पहुंचा था। पुलिस ने उसे मानसिक स्वास्थ्य कानून के तहत हिरासत में लिया है।

ब्रिटिश समाचार वेबसाइट द सन की रिपोर्ट के मुताबिक लंदन पुलिस (London Police) उसके मानसिक स्वास्थ्य की जांच करवा रही है। जसवंत सिंह (Jaswant Singh) को चिकित्साकर्मियों की निगरानी में रखा गया है। इस घटना का एक वीडियो (Video) भी सामने आया है जिसमें जसवंत सिंह तीर कमान से लैस नजर आ रहा है। जसवंत सिंह ने 25 दिसंबर को क्रिसमस के दिन स्नैपचैट (Snapchat) पर सुबह 8 बजकर 6 मिनट पर एक वीडियो अपलोड किया था। उसे विंडसर कैसल के अंदर से हिरासत में लिया गया है।

खबरों के मुताबिक जसवंत सिंह ने अपनी आवाज को छिपाने के लिए फिल्टर का इस्तेमाल किया। उसने हूडी और मास्क पहन रखा था। उसका कपड़ा स्टार वार्स फिल्म से प्रेरित नजर आ रहा है। जसवंत सिंह ने वीडियो में कहा, मुझे माफ करें। मैंने जो कुछ किया उसके लिए माफ करें और मैं जो कुछ करूंगा उसके लिए भी माफ करें। मैं क्वीन एलिजाबेथ की हत्या करने का प्रयास करूंगा। यह 1919 के जलियावालां बाग नरसंहार में मारे गए लोगों का बदला है।

जसवंत सिंह ने कहा, यह उन लोगों का बदला है जो जलियावाला बाग में मारे गए थे। उनकी नस्ल के कारण उन्हें प्रताड़ित किया गया और भेदभाव किया गया। मैं एक भारतीय सिख हूं। मेरा नाम जसवंत सिंह चैल है। मेरा नाम डार्थ जोन्स है।

बता दें कि साल 1919 में जलियावाल बाग में प्रदर्शन कर रहे निर्दोष लोगों पर अंग्रेजों ने गोलियां चलाई थीं जिसमें 379 लोगों की मौत हो गई थीं और 1200 से ज्यादा लोग घायल हुए थे। जसवंत सिंह ने इस वीडियो के अलावा स्नैपचैट पर एक संदेश भी दिया था जिसमें उसने कहा था, जिन लोगों के साथ मैंने गलत किया उनके साथ झूठ बोला, वे लोग मुझे माफ करें।

जसवंत सिंह ने कहा, अगर आपको यह मिल गया तो जान लें कि मेरी मौत नजदीक है। कृपया इस खबर को उन लोगों तक पहुंचाएं और यदि संभव हो तो उन्हें बताएं जो इसमें रुचि रखते हैं।

हालांकि पुलिस ने अभी तक इस हमलावर का नाम नहीं बताया है। पुलिस के मुताबिक इस हमलावर को सीसीटीवी में महल के गार्डेन में टहलते हुए पकड़ा गया था। वह बाहरी दीवार फांदकर अंदर घुसा था। वीडियो की जांच की जा रही है।

Next Story

विविध