दुनिया

सरकारी कर्मचारियों को काम के दौरान रहना होगा मुस्कराते हुए, अगर आदेश का नहीं किया पालन तो भुगतना होगा कठोर दंड

Janjwar Desk
15 July 2022 6:45 AM GMT
सरकारी कर्मचारियों को काम के दौरान रहना होगा मुस्कराते हुए, अगर आदेश का नहीं किया पालन तो भुगतना होगा कठोर दंड
x

सरकारी कर्मचारियों को काम के दौरान रहना होगा मुस्कराते हुए, अगर आदेश का नहीं किया पालन तो भुगतना होगा कठोर दंड

Smile please – you are a government servant : आदेश के अनुसार यदि कोई कर्मचारी काम के दौरान नहीं मुस्कराता है, तो उसे सरकारी आदेश के उल्लंघन का दंड भुगतना पड़ेगा, ऐसे कर्मचारियों-अधिकारियों के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही भी की जायेगी...

महेंद्र पाण्डेय की टिप्पणी

Smile please – you are a government servant : फिलीपींस (The Philippines) से हमेशा जनता और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं को कुचलने की ख़बरें आती हैं, पर हाल में ही वहां मुस्कराने से सम्बंधित खबर चर्चा में है। 5 जुलाई 2022 को फिलीपींस के मुलाने शहर के मेयर एरिस्टोटल एल अगुइर्रे (Aristotle L Aguirre, Mayor of Mulanay) ने एक विशेष आदेश जारी किया था, जिसके तहत उनके शहर के तमाम सरकारी कर्मचारियों और सभी संस्थाओं के कर्मचारियों/अधिकारियों को पूरे काम की अवधि के दौरान मुस्कराते रहना है। आदेश के अनुसार यदि कोई कर्मचारी ऐसा नहीं करता है, तो उसे सरकारी आदेश के उल्लंघन का दंड भुगतना पड़ेगा। ऐसे कर्मचारियों/अधिकारियों के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही भी की जायेगी।

इस आदेश को "मुस्कराहट नीति" (Smile Policy) का नाम दिया गया है और आदेश में इसे प्रशासन का प्रमुख कार्यक्रम (flagship programme) बताया गया है। मेयर एरिस्टोटल एल अगुइर्रे के अनुसार मुस्कराते कर्मचारी शांति दोस्ताना माहौल तैयार करते हैं और अपनी समस्याओं से जूझते लोगों को राहत देते हैं। ऐसे माहौल में अपनी समस्याएं लेकर आते नागरिक बिना झिझक और डर के ही अपनी समस्या सामने रखते हैं। इस आदेश के कड़े अनुपालन के बारे में कहा गया है और बताया गया है कि इसका अनुपालन कराने के लिए एक समिति का गठन किया जाएगा।

काम के दौरान हंसते रहने के लिए जारी किये गये आर्डर की प्रति

फिलीपींस में मेयर एरिस्टोटल एल अगुइर्रे इस तरह के आदेश देने वाले पहले अधिकारी नहीं हैं। इससे पहले सेलांग शहर के मेयर केविंग अनारना (Keving Anarna, Mayor of Silang) भी ऐसा मौखिक आदेश दे चुके हैं। उनके आदेश के अनुसार हरेक कर्मचारी को जनता के सामने हमेशा मुस्कराते रहना है और किसी भी शिकायतकर्ता पर आक्रोशित नहीं होना है। इस आदेश में सभी सरकारी कर्मचारियों को केवल सफ़ेद कपडे ही पहनने को कहा गया था। इसका कारण बताया गया था कि बहुत सारे रंग किसी राजनैतिक दल या फिर सम्प्रदायों से जुड़े हैं, इसलिए राजनैतिक तौर पर जागरूक शिकायतकर्ता परेशानी का अनुभव करता है।

मुस्कराहट और हंसी तनाव दूर करती है, और यह युद्ध के समय भी कारगर रहती है – यूक्रेन के युद्धग्रस्त शहर माइकोलिव के गवर्नर वितलीय किम (Governer Vitaliy Kim of Mykolaiv) इसे सार्थक कर रहे हैं। इस शहर के लोग रोजाना गोलाबारी और धमाकों के बाद भी खँडहर बन चुके शहर में एकजुट हैं और रूसी सेना के विरुद्ध संघर्ष कर रहे हैं। इसका सबसे अधिक श्रेय गवर्नर वितलीय किम को जाता है, जो हरेक दिन युद्ध की किसी तस्वीर के साथ सम्बंधित चुटकुले या फिर हल्की-फुल्की टिप्पणी सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हैं। वे हरेक दिन एक विडियो सोशल मीडिया टेलीग्राम पर पोस्ट करते हैं। पोस्ट करते ही यह वायरल हो जाता है और उसके अनेक मीम्स भी सोशल मीडिया पर पहुँच जाते हैं और लोकप्रिय होते हैं।

गवर्नर वितलीय किम के अनुसार हास्य और चुटकुलों का सामरिक महत्त्व है, और ये जनता और सेना को एकजुट रखने में मदद करते हैं। युद्ध के पहले दिन से गवर्नर वितलीय किम यह काम लगातार कर रहे हैं। एक दिन युद्ध के दौरान रूस के सैनिकों ने जर्जर टैंकों से शहर पर गोलाबारी की थी, उस दिन किम ने एक जर्जर टैंक, जिसपर वर्ष 1976 लिखा था, की तस्वीर के साथ गवर्नर किम ने लिखा था, यदि ऐसे ही हालात रहे तो जल्दी ही रूसी सैनिक शहर पर बलालैकास (रूस का जनजातीय वाद्ययंत्र) एकत्रित कर शहर पर बरसाने लगेंगें।

हाल में ही एक दिन जब शहर पर भयानक गोला-बारी हो रही थी, गवर्नर किम ने अपने कार्यालय में टेबल पर पैर रखकर इत्मीनान से बैठे हुए तस्वीर पोस्ट की। जल्दी ही पोस्ट से अधिक इसके मीम्स वाली पोस्ट वायरल हो गयी, जिसमें टेबल बदल कर रूस के राष्ट्रपति पुतिन की विशालकाय टेबल लगा दी गयी थी। गवर्नर किम की लोकप्रियता का अंदाज इस तथ्य से लगाया जा सकता है कि उनके चेहरे वाले प्रिंटेड टीशर्ट यूक्रेन में खूब लोकप्रिय है और इस समय जनता की एकता का एक प्रतीक है।

गवर्नर किम, रूसी क्रांति में शरीक मिखाइल बकुनिन का एक वाक्य बार-बार दुहराते हैं – एक हंसी तुम सबका विनाश करेगी – इसे ही वो अपना आदर्श मानते हैं। अपने हास्य और चुटकुलों से उनका प्रयास है कि उक्रेन के नागरिक यह अच्छी तरह समझ लें कि रूसी सैनिक भी सामान्य आदमी हैं, जो कभी भी गलतियाँ कर सकता है। जाहिर है, इस प्रयास में किम सफल रहे हैं, आम नागरिक भी रूसी सेना से संघर्ष करता दीख रहा है। गवर्नर किम, मार्शल आर्ट टायक्वोंडो के चैम्पियन रह चुके हैं, जबकि रूसी राष्ट्रपति जुडो में ब्लैकबेल्ट धारी हैं।

यूक्रेन में सोशल मीडिया पर अक्सर बहस होती है कि मार्शल आर्ट के मुकाबले में पुतिन या गवर्नर किम में से कौन विजयी होगा। इसके जवाब में किम कहते हैं कि पुतिन से मैं रिंग में नहीं लड़ना चाहता, यदि मुझे मौका मिले तो उसे मैं गोली मारना पसंद करूंगा।

Next Story