Top
दुनिया

नहीं सुधर रहा नेपाल, सीमा पर सड़क निर्माण कार्य रोका, जमीन पर ठोंक रहा अपना दावा

Janjwar Desk
8 July 2020 9:01 AM GMT
नहीं सुधर रहा नेपाल, सीमा पर सड़क निर्माण कार्य रोका, जमीन पर ठोंक रहा अपना दावा
x

       File photo

बिहार के सीतामढ़ी जिला के भिट्ठा मोड़ बॉर्डर पर भारतीय सीमा में सड़क निर्माण का कार्य हो रहा था, जिसे नेपाल पुलिस द्वारा रोक दिया गया है। एसएसबी के अधिकारी वहां जमे हुए हैं।

जनज्वार ब्यूरो, पटना। नेपाल के खुद के राजनैतिक हालात तनावपूर्ण हैं, पर भारतीय क्षेत्रों में दखलंदाजी से बाज नहीं आ रहा है। अब सीतामढ़ी जिला के भिट्ठा मोड़ बॉर्डर पर उसने भारतीय क्षेत्र में सड़क निर्माण कार्य को रोक दिया है। नेपाल पुलिस दावा कर रही है कि यह जमीन नेपाल की है। उच्चाधिकारियों द्वारा वार्ता की जा रही है, पर खबर लिखने तक हल नहीं निकल सका है।

बिहार के सीतामढ़ी जिला के भिट्ठा मोड़ से नो मैन्स लैंड तक सड़क निर्माण का कार्य चल रहा है। इसे नेपाल पुलिस द्वारा रोक दिया गया। नेपाल पुलिस ने दावा ठोक दिया कि लगभग 20 मीटर तक जमीन नेपाल की है। जबकि यह जमीन भारतीय सीमा के अंदर है।

जानकारी के अनुसार, सड़क निर्माण का कार्य रुकने के बाद यहां तनाव बढ़ने लगा। निर्माण एजेंसी के कर्मी, काम कर रहे मजदूर और स्थानीय व्यवसायी उग्र होने लगे। स्थिति बिगड़ती देख दोनों तरफ के जवान बॉर्डर पर इकट्ठा होने लगे। SSB के जवानों ने वरीय अधिकारियों से वार्ता कर हल निकालने की बात कह स्थिति को संभाला। SSB के स्थानीय अधिकारियों ने कहा कि वरीय अधिकारियों को सूचना दे दी गई है। दोनों देशों के उच्चाधिकारी अपने स्तर से वार्ता कर हल निकालेंगे।

यह सड़क भिट्ठा मोड़ से नो मेंस लैंड तक बन रही है। स्थानीय पुलिस और SSB द्वारा पहल करने के बाद भी काम अभी शुरू नहीं हो सका है। स्थानीय जलेश्वर नगरपालिका के मेयर भी पहुंचे और नेपाली अधिकारियों के साथ बात की है।

इससे पहले नेपाल ने दो दिन पूर्व पूर्वी चंपारण जिला के ढाका प्रखंड के बलुआ खजुराहा के नजदीक लाल बकेया नदी के गुआबारी तटबंध को लेकर फिर आपत्ति जता दी थी। 25 मई को नेपाल ने यहां तटबंध मरम्मती का काम रोक दिया था, पर उच्चस्तरीय वार्ता के बाद काम दुबारा शुरू हो गया था। नेपाल अब आरोप लगा रहा है कि लगभग 200 मीटर के क्षेत्र में नो मेंस लैंड पर यह तटबंध बना दिया गया है, जबकि तटबंध भारतीय क्षेत्र में बताया जा रहा है।

Next Story
Share it