दुनिया

Prophet Remarks Row : कुवैत का बड़ा एक्शन, पैगंबर पर टिप्पणी के खिलाफ प्रदर्शन में शामिल 'प्रवासियों' को गिरफ्तार कर करेंगे डिपोर्ट

Janjwar Desk
13 Jun 2022 7:19 AM GMT
Prophet Remarks Row : कुवैत का बड़ा एक्शन, पैगंबर पर टिप्पणी के खिलाफ प्रदर्शन में शामिल प्रवासियों को गिरफ्तार कर करेंगे डिपोर्ट
x

Prophet Remarks Row : कुवैत का बड़ा एक्शन, पैगंबर पर टिप्पणी के खिलाफ प्रदर्शन में शामिल 'प्रवासियों' को गिरफ्तार कर करेंगे डिपोर्ट

Prophet Remarks Row : रिपोर्ट में अधिकारियों के हवाले से कहा गया है कि कुवैत में सभी प्रवासियों को कुवैत के कानूनों का सम्मान करना चाहिए और किसी भी तरह के प्रदर्शनों में हिस्सा नहीं लेना चाहिए....

Prophet Remarks Row : भाजपा की निलंबित प्रवक्ता नुपुर शर्मा की पैगम्बर मुहम्मद पर विवादास्पद टिप्पणी (Prophet Remarks Row) के बाद खाड़ी देशों का गुस्सा अब भी ठंडा नहीं हुआ है। इसी कड़ी में कुवैत (Kuwait) ने विरोध प्रदर्शन में शामिल होने वाले प्रवासियों पर बड़ा एक्शन लेने की तैयारी कर दी है। कुवैत ने कहा है कि वो उन प्रवासियों को डिपोर्ट करेगा जिन्होंने पैगंबर मुहम्मद के खिलाफ आयोजित प्रदर्शन में हिस्सा लिया था।

समाचार एजेंसी एएनआई ने स्थानीय मीडिया के हवाले से ये जानकारी दी है। रिपोर्ट में कहा गया है कि यह फैसला इसलिए लिया गया क्योंकि प्रदर्शनकारियों ने कुवैत में प्रवासियों के धरने या प्रदर्शन पर रोक लगाने वाले देश के कानूनों और नियमों का उल्लंघन किया है।

रिपोर्ट में 'अरब टाइम्स' के हवाले से कहा गया है कि अधिकारी प्रवासियों को गिरफ्तार करने और उन्हें उनके देशों में डिपोर्ट करने के लिए निर्वासन केंद्र में भेजने की प्रक्रिया में हैं। रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि इन प्रवासियों के कुवैत में दोबारा प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया जाएगा।

रिपोर्ट में अधिकारियों के हवाले से कहा गया है कि कुवैत में सभी प्रवासियों को कुवैत के कानूनों का सम्मान करना चाहिए और किसी भी तरह के प्रदर्शनों में हिस्सा नहीं लेना चाहिए। हालांकि रिपोर्ट में प्रदर्शन करने वाले प्रवासियों की राष्ट्रीयता का उल्लेख नहीं है।

नुपुर शर्मा (Nupur Sharma) के बयान के बाद से खाड़ी देशों के लोग लगातार भारत सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। बीते दिनों कई देशों ने भारतीय राजदूतों को तलब कर अपना विरोध जताया था। यही नहीं कई देशों में भारतीय उत्पादों का बहिष्कार भी शुरू हो गया।

हालांकि बाद में भारत सरकार ने नुपुर शर्मा और नवीन जिंदल 'फ्रिंज एलिमेंट' बताते हुए टिप्पणी को खारिज कर दिया और कहा कि उसने अल्पसंख्यकों के खिलाफ ट्विटर पर विवादास्पद टिप्पणी करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है।

विवादास्पद टिप्पणी के बाद भाजपा ने नुपुर शर्मा को छह साल के लिए निलंबित किया जबकि नवीन जिंदल (Naveen Jindal) को पार्टी से ही निष्कासित कर दिया गया। हालांकि दोनों में से किसी की भी अभी तक गिरफ्तारी नहीं हुई है। उनकी गिरफ्तारी की मांग भी की जा रही है। नुपुर शर्मा ने एक टीवी डिबेट शो में पैगंबर मुहम्मद पर विवादास्पद टिप्पणी कर दी थी जिसके बाद इस विवाद ने तूल पकड़ा।

Next Story

विविध